बीकानेर, 15 सितम्बर। मैं ‘इंजीनियर्स डे’ के अवसर पर प्रदेश में जलदाय विभाग, सार्वजनिक निर्माण विभाग और ऊर्जा विभाग में विभिन्न विद्युत कम्पनियों में सेवा दे रहे इंजीनियर्स, राज्य सरकार के अन्य विभागों, बोर्ड, निगम और उपक्रमों के अभियंताओं के साथ ही देश-प्रदेश में सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्र में कार्यरत सभी इंजीनियर्स को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।

हमारे देश में भारत-रत्न एम. विश्वेश्वरैया जी की जयंती को ‘अभियंता दिवस’ के रूप में मनाया जाता है। विश्वेश्वरैया जी देश के सच्चे सपूत और एक महान इंजीनियर थे। उन्होंने अद्वितीय प्रतिभा और अदभुत कौशल के दम पर देश के विकास और नवनिर्माण में अविस्मरणीय योगदान देते हुए अपनी अमिट छाप छोड़ी। मैं विश्वेश्वरैया जी को भावांजलि अर्पित करते हुए उनकी पावन स्मृतियों को नमन करता हूं।

इंजीनियरिंग एक ऐसा पेशा है जो अभियंताओं को अपने तकनीकी कौशल और क्षमताओं के दम पर मानवीय विकास के नए आयाम स्थापित करने का अवसर प्रदान करता है। अपने कर्मक्षेत्र में समर्पण, निष्ठा और ईमानदारी से योगदान देने वाले इंजीनियर्स सदैव प्रगति के नए प्रतिमान कायम कर अपने जीवन में बुलंदियां तय करते हैं।

इस खास मौके पर ‘इंजीनियरिंग समुदाय’ देश और प्रदेश की तरक्की को नई दिशा देने के लिए कर्त्तव्यपरायणता और जिम्मेदारी के साथ अपनी भूमिका निभाने का संकल्प लें। एक बार फिर सभी इंजीनियर्स को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं