Uncategorized

इनेलो के घोषणापत्र में किसानों और छोटे कारोबारियों की कर्जमाफी का वादा

अनूप कुमार सैनी
चंडीगढ़, 12 अक्टूबर। हरियाणा के आगामी विधानसभा चुनाव के लिये इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) ने शनिवार को अपना घोषणा पत्र जारी किया, जिसमें किसानों और छोटे कारोबारियों के लिए कर्जमाफी, स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों के आधार पर फसलों की कीमत तय करने और कृषि क्षेत्र के लिये मुफ्त बिजली जैसे वादे किए गए हैं।
इनेलो का घोषणापत्र पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बीरबल दास ढालिया ने जारी किया।

पार्टी महासचिव अभय चौटाला इस मौके पर मौजूद नहीं थे। घोषणा पत्र में महिलाओं, बेरोजगार युवाओं और कारोबारियों को लेकर भी कई वादे किये गए हैं। चौटाला परिवार में फूट के बाद दो धड़ों में बंटी इनेलो ने सतलुज-यमुना लिंक नहर के निर्माण के बाद राज्य का नदी के जल का हिस्सा लाने और भाजपा नीत सरकार द्वारा खत्म की गई दादूपुर-नलवी नहर परियोजना को फिर से शुरू करने का भी वादा किया।
हरियाणा में विभानसभा चुनाव के लिए 21 अक्टूबर को मतदान होना है। कृषक समाज पर विशेष ध्यान देते हुए इनेलो ने वादा किया कि अगर वह सत्ता में आया तो उत्पादन लागत में 50 प्रतिशत लाभ जोड़ कर न्यूनतम समर्थन मूल्य दिया जाएगा, जोकि स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों पर आधारित होगा।

ढालिया ने कहा कि पार्टी किसानों और छोटे कारोबारियों का 10 लाख रुपए तक का कर्ज माफ करेगी। उन्होंने कहा कि 200 यूनिट तक बिजली इस्तेमाल करने वाले किसानों और घरेलू उपभोक्ताओं का बिल माफ किया जाएगा। हरियाणा की सत्ता से 15 साल से बाहर इनेलो ने फसल के नुकसान के लिए उत्पादकों को मुआवजा देने के लिये फसल बीमा योजना खत्म कर किसान सहायता कोष बनाने का भी वादा किया।
पार्टी ने कहा कृषि संबंधित उपकरणों पर कोई माल एवं सेवा कर (जीएसटी) नहीं लगेगा और उन पर 50 प्रतिशत रियायत दी जाएगी। पार्टी ने सहकारी समुदायों के लिये कृषि ऋण को एक लाख रुपए से बढ़ा कर तीन लाख रुपये करने का भी वादा किया, जिस पर दो प्रतिशत की ब्याज दर होगी।
इनेलो ने सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण और कानून व्यवस्था में सुधार का भी वादा किया। पार्टी ने आर्थिक रूप से पिछड़ी महिलाओं को उनकी शादी के लिये पांच लाख रुपये देने का भी वादा किया। पार्टी ने राज्य के प्रत्येक परिवार में से एक व्यक्ति को नौकरी देने और बेरोजगार युवाओं को 15 हजार रुपये बेरोजगारी भत्ता देने का भी वादा किया।

इनेलो ने चार पन्नों के घोषणापत्र में निजी उद्योगों में नौकरियों में राज्य के युवाओं को 75 प्रतिशत आरक्षण देने का भी वादा किया। पार्टी ने हरियाणा को मादक पदार्थ मुक्त राज्य बनाने और अनुबंधित कर्मचारियों को 58 साल की आयु से पहले नौकरी से नहीं निकालने का भी वादा किया।
इसके अलावा इनेलो ने सफाई कर्मचारियों और चौकीदारों को 18,000 रुपए प्रतिमाह देने का भी वादा किया। पार्टी ने सत्ता में आने पर वरिष्ठ नागरिकों को 5,000 रुपये प्रतिमाह पेंशन और पांच लाख रुपये का बीमा कराने का भी वादा किया।
इनेलो घोषणा पत्र के मुख्य वादे
प्रदेश के किसानों को स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों के अनुसार न्यूनतम समर्थन मूल्य दिया जाएगा।

किसानों एवं छोटे व्यापारियों के 10 लाख रुपये तक के कर्जे माफ होंगे।
किसानों के ट्यूबवेल का बिजली बिल पूरा और घरेलू बिल 200 यूनिट तक माफ किया जाएगा।
गरीब परिवार की लड़की की शादी में सरकार की ओर से 5 लाख रुपये कन्यादान दिया जाएगा।
बेरोजगार युवाओं को 15 हजार रुपये प्रतिमाह भत्ता।
बुढ़ापा सम्मान पेंशन 5 हजार रुपये प्रतिमाह दी जाएगी।
हर घर में एक नौकरी/रोजगार दिया जाएगा।
एसवाइएल नहर का निर्माण, दादुपुर नलवी नहर और मेवात फीडर कैनाल को पुनः चालू किया जाएगा।
35 से 60 वर्ष आयु तक गरीब महिलाओं को 1 हजार रुपये प्रतिमाह की दर से भत्ता।
एडहॉक तथा ठेके पर कार्यरत कर्मचारियों को 58 वर्ष की आयु तक नौकरी से नहीं हटाया जाएगा।
निजी कम्पनियों में राज्य के युवाओं को 75 प्रतिशत आरक्षण।
शहीद सैनिकों के परिवारों को 200 गज के प्लॉट दिया जाएगा।