Uncategorized

एबेक्स के 4 विद्यार्थियों ने राष्ट्रीय स्तर पर जीते स्वर्ण पदक


एबेक्स के माध्यम से चुटकियों में कर सकते हैं बड़ी से बड़ी गणना : शैफाली मल्होत्रा
हर्षित सैनी
रोहतक, 13 फरवरी। नई दिल्ली के प्रीतमपुरा में आयोजित राष्ट्रीय एबेक्स चैंपियनशिप में स्थानीय झंग कॉलोनी स्थित एसीईएम एबेक्स के 4 विद्यार्थियों ने स्वर्ण पदक जीतकर जिले व प्रदेश का नाम रोशन किया है। अब ये चारों छात्र लंदन में आयोजित होने वाली अन्तर्राष्ट्रीय एबेक्स प्रतियोगिता में भाग लेंगे।
यह जानकारी देते हुए एसीईएम एबेक्स की निदेशिका शैफाली मल्होत्रा ने बताया कि एबेक्स के माध्यम से बड़ी से बड़ी व कठिन से कठिन गणना बच्चे मौखिक रूप से कर सकते हैं। राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित इस प्रतियोगिता में देश भर से हजारों बच्चों ने भाग लिया था। रोहतक से लगभग 70 बच्चों ने इस प्रतियोगिता में भाग लिया जिसमें 35 विद्यार्थियों ने सेमिफाईनल में जगह बनाई।
उन्होंने बताया कि छात्रा प्रीति, अलीशा, सान्वी तथा देवना ने इस प्रतियोगिता में प्रथम स्थान हासिल कर स्वर्ण पदक जीता। वहीं तीसरी कक्षा की छात्रा दिवांशी, पठानिया स्कूल के हिमांशु, डीजीवी स्कूल के आकाश गुप्ता, अरनव गोयल, आदित्य राठी, योगित, जेसिका मल्होत्रा व प्रिंस एबेक्स चैंपियन का खिताब मिला।
निदेशिका के मुताबिक पिछले 13 वर्षों से विद्यार्थियों को एबेक्स सिखा रही शैफाली मल्होत्रा ने बताया कि एबेक्स में गणित के मुश्किल से मुश्किल सवाल सैंकेडों में हल किए जाते हैं। एबेक्स विद्यार्थियों के लिए बड़ी से बड़ी गणना करना मजेदार खेल की तरह होता है। पहले वह एबेक्स पर प्रैक्टिस करते हैं और बाद में उंगली व अंगूठे की सहायता से बड़ी से बड़ी गणना करने में सफल रहते हैं। आज इन छात्रों के रोहतक पहुंचने पर झंग कॉलोनी में इनका भव्य स्वागत किया गया।