Uncategorized

एसकेआरएयू में राष्ट्रीय सेमीनार 14 नवंबर से, प्रसार क्षेत्र के देशभर के कृषि वैज्ञानिक आएंगे बीकानेर

बीकानेर, 10 अक्टूबर। इंडियन सोसायटी आॅफ एक्सटेंशन एज्यूकेशन (आइएसईई) द्वारा स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय और फाउण्डेशन फोर एक्शन रिसर्च के संयुक्त तत्वावधान् में 14 से 16 नवंबर तक ‘बदलते ग्रामीण परिवेश में कृषि विकास के समग्र दृष्टिकोण’ विषयक राष्ट्रीय सेमीनार आयोजित किया जाएगा। इसमें प्रसार कार्य से जुड़े देशभर के कृषि वैज्ञानिक, विद्यार्थी एवं प्रगतिशीलत किसान भाग लेंगे।

इसकी पूर्व तैयारियों के संबंध में गुरुवार को कुलपति प्रो. आर. पी. सिंह की अध्यक्षता में कुलपति सचिवालय सभागार में बैठक आयोजित हुई। इस अवसर पर प्रो. सिंह ने कहा कि सेमीनार के माध्यम से देशभर के कृषि वैज्ञानिकों के अनुभवों का आदान-प्रदान होगा। इसके सफल आयोजन के लिए विभिन्न कमेटियां गठित की जा रही हैं। प्रत्येक अधिकारी अपने दायित्व का गंभीरतापूर्वक निर्वहन करें। उन्होंने बताया कि सेमीनार के दौरान मुख्य वैज्ञानिक अनुसंधान एवं अन्य कार्यों पर आधारित पत्रों का वाचन करेंगे। निर्धारित थीम पर आधारित पोस्टर प्रस्तुत किए जाएंगे।
प्रो. सिंह ने बताया कि सेेमीनार में कृषि विद्यार्थी और प्रगतिशील किसान भी भाग लेंगे। प्रगतिशील किसानों के उत्पादों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी। बैठक में देश के विभिन्न क्षेत्रों से आने वाले कृषि वैज्ञानिकों के आवास, भोजन, पंजीकरण सहित विभिन्न तैयारियों की समीक्षा की गई। कुलसचिव प्रो. राजेश शर्मा सेमीनार के आयोजन सचिव तथा प्रसार शिक्षा निदेशक प्रो. एस के शर्मा समन्वयक होंगे।
बैठक में आइएससीसी के पूर्व अध्यक्ष डाॅ. बलदेव सिंह, कुलसचिव प्रो. राजेश शर्मा, प्रसार शिक्षा निदेशक प्रो. एस के शर्मा, अनुसंधान निदेशक प्रो. एस एल गोदारा, आइएबीएम निदेशक प्रो. एन के शर्मा, अधिष्ठाता स्नात्तकोतर शिक्षा प्रो. विमला डुकवाल, भू-सदृश्यता एवं राजस्व सृजन निदेशक प्रो. सुभाष चंद्र, प्रो. रामधन जाट, डाॅ. भगवान सिंह मीणा, डाॅ. चित्रा हैनरी, डाॅ. आर के वर्मा, डाॅ. जया पालीवाल आदि मौजूद रहे।

—–
प्रो. सिंह ने संभाला आइएसईई के अध्यक्ष का कार्यभार
बीकानेर, 10 अक्टूबर। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर. पी. सिंह ने गुरुवार को इंडियन सोसायटी आॅफ एक्सटेंशन एज्यूकेशन (आइएसईई) के अध्यक्ष पद का कार्यभार ग्रहण किया। सोसायटी के निवर्तमान अध्यक्ष प्रो. बलदेव सिंह ने उन्हें कार्यभार सौंपा। आइएसईई, राष्ट्रीय स्तर पर प्रसार शिक्षा क्षेत्र में कार्यरत सबसे पुरानी सोसायटी है। इसका गठन 12 जून 1964 को हुआ। वर्तमान में देशभर में इसके 2 हजार 300 से अधिक आजीवन सदस्य हैं। कार्यभार ग्रहण करने के बाद प्रो. सिंह ने कहा कि सोसायटी के संविधान में दर्ज समस्त प्राथमिकताएं उनकी प्राथमिकताएं रहेंगी।

—–
प्रमुख शासन सचिव से मिले कुलपति
बीकानेर, 10 अक्टूबर। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर. पी. सिंह ने बुधवार को जयपुर में प्रमुख शासन सचिव (कृषि एवं उद्यानिकी) नरेशपाल गंगवार से मुलाकात की। उन्होंने विश्वविद्यालय की विभिन्न गतिविधियों के बारे में बताया तथा रिक्त पदों की जानकारी दी। गंगवार ने रिक्त पदों की रिपोर्ट भिजवाने का कहा। साथ ही उन्होंने भरोसा दिलाया कि खाली पदों का शीघ्र भरा जाएगा। कुलपति ने उन्हें विश्वविद्यालय आने के लिए आमंत्रित किया। इस दौरान कुलसचिव प्रो. राजेश शर्मा तथा वित्त नियंत्रक बी एल सर्वा भी साथ रहे। कुलपति ने अतिरिक्त मुख्य सचिव (वित्त) निरंजन आर्य की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में भागीदारी निभाई तथा विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की।
—–