Uncategorized

कछुआ जो बदल सकता है आपकी किस्मत

वास्तु व फेंगशुई सहित धार्मिक मान्यताओं के अनुसार अपने घर या कार्यस्थल पर कछुआ रखना कई तरह से लाभकारी होता है !———————————————————–सावधान : जीवित कछुए का पालन-पोषण करना महंगा पड़ सकता है, वन्यजीव सुरक्षा अधिनियम के तहत कछुआ पालना कानूनन अपराध है———————————————————–✍🏼⭕तिलक माथुरकेकड़ी_राजस्थानआपने कई घरों तथा दुकानों या व्यावसायिक संस्थानों में कांच या अन्य धातुओं से बने कछुए के मॉडल या चित्र अवश्य देखे होंगे। भारतीय धार्मिक परम्पराओं में तो हर ऐसे जीव का संबंध हमारे देवी-देवताओं से जुड़ा हुआ है परंतु फेंगशुई में इसका एक अलग महत्व है। वास्तु की दृष्टि से यह और लाभदायक हो जाता है। हिंदू धर्म में घर में कछुआ रखने को बहुत शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि जहां कछुआ होता है, वहां लक्ष्मी का आगमन होता है। फेंगशुई में भी कछुआ रखना बेहद शुभ माना गया है। इससे घर और ऑफिस में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बना रहता है। फेंगशुई और धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, अपने घर या कार्यस्थल पर कछुआ रखना कई तरह से लाभकारी होता है। कछुआ रखने से परिवार के सदस्यों पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।फेंगशुई विज्ञान के अनुसार, कछुआ रखने से घर के लोगों की आयु लंबी होती है, घर में सुख-शांति भी बनी रहती है। साथ ही यह बिजनस के लिए भी शुभ होता है। आज हम आपको बताएंगे कि कैसे घर पर कछुआ रखना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। उल्लेखनीय है कि पौराणिक ग्रंथों में भी कछुए का उल्लेख मिलता है। हिंदू धर्म के अनुसार, कछुआ इसलिए भी शुभ और सुख-समृद्धि वाला माना जाता है क्योंकि भगवान विष्णु ने स्वयं कच्छप अवतार लिया था जिसे उनके कूर्म अवतार के नाम से जाना जाता है। भगवान विष्णु ने कछुए का रूप धारण कर क्षीरसागर के समुद्र मंथन के समय मंद्रांचल पर्वत को अपने कवच पर थामा था। इसलिए अपने व्यापार और घर में सुख-समृद्धि बनाए रखने के लिए कछुआ रखना मंगलकारी होता है। कछुए की फोटो या फिर अष्टधातु से बने कछुए को भी घर के मंदिर में रखा जा सकता है।कछुए को पानी से भरे पीतल या अष्टधातु के पात्र में ही रखना चाहिए। वास्तु के अनुसार उत्तर दिशा शुभ होती है। इसलिए कछुए का चित्र आपको उत्तर दिशा की तरफ ही लगाना चाहिए क्योंकि उत्तर दिशा को लक्ष्मी जी की दिशा माना गया है। ऐसा करने से धन लाभ और शत्रुओं का नाश होता है। घर और दुकान के मुख्यद्वार पर कछुए का चित्र लगाने से व्यापार में धन लाभ और सफलता मिलती है। कछुआ धन प्राप्ति का सूचक होता है, यदि किसी को धन संबंधी परेशानी हो, तो उसे क्रिस्टल वाला कछुआ लाना चाहिए। फेंगशुई के अनुसार, कछुए को कभी भी अपने बेडरूम में नहीं रखना चाहिए क्योंकि ऐसा करना फेंगशुई के हिसाब से नुकसानदायक हो सकता है। इसका उल्टा प्रभाव पड़ सकता है। कछुए की स्थापना हेतु सर्वोत्तम स्थान घर का ड्राॅइंंग रूम है। घर पर रखे जाने वाले कछुए का मुंह घर के अंदर होना चाहिए। कछुए को रखने से घर के सदस्यों की उम्र भी बढ़ती है क्योंकि कछुआ भी लंबी उम्र का जीव जंतु है। कछुआ लंबे समय तक जीता है और सौभाग्य में भी वृद्धि होती है, इसलिए घर या ऑफिस में इसका होना लाभदायक माना जाता है। यदि किसी के परिवार में घर के सदस्यों के बीच लड़ाई-झगड़े होते रहते हैं तो घर में 2 कछुओं का जोड़ा रखना चाहिए। ऐसा करने से घर के सदस्यों के बीच चल रही अनबन खत्म हो जाएगी और प्यार बढ़ेगा। कछुआ घर पर रखने से शांति बनी रहती है। आपसी प्यार बढ़ता है। कछुआ रखने से क्लेश और बुरी शक्तियां दूर होती हैं। फेंगशुई विज्ञान कहता है कि कछुए को घर पर रखने से किसी की बुरी नजर नहीं लगती, कछुआ नजर दोष खत्म करता है। साथ ही अगर किसी व्यक्ति का स्वास्थ्य लंबे समय से सही नहीं हो तो कछुए को दक्षिण पूर्व दिशा में रखना चाहिए, इससे लाभ होता है। घर में कछुआ रखने से घर का वातावरण शुद्ध और पवित्र बना रहता है और गंदी बीमारियां घर में नहीं आती है। आजकल करियर, नौकरी और व्यवसाय में तरक्की पाने के लिए प्रयासरत लोगों के लिए कछुआ शुभ फलदायी है।जो विद्यार्थी परीक्षा और प्रतियोगिता की तैयारी करते हैं, उनके लिए पीतल का बना कछुआ सफलता पाने में मददगार हो सकता है, कछुए से मिलने वाली सकारात्मक ऊर्जा बहुत ही कारगर होती है। वास्तु और फेंगशुई के अनुसार, ऐसा कछुआ जिसकी पीठ पर कछुए के बच्चे भी हों, उसे संतान प्राप्ति के लिए खास माना जाता है। जिस घर में संतान न हो या जो दंपत्ति संतान के सुख से वंचित हों, उन्हें इस प्रकार का कछुआ अपने घर में रखना चाहिए। माना जाता है जल्द ही उस घर में बच्चे की किलकारियां सुनाई दे सकती हैं। गौरतलब है कि कछुए को घर में रखते समय इस बात पर जरूर ध्यान दें कि कछुआ किस दिशा में रखना चाहिए। क्योंकि गलत दिशा में रखा कछुआ शुभ होने के बजाए अशुभ साबित हो सकता है। कछुए को उत्तर दिशा में रखना शुभ होता है, क्योंकि उत्तर दिशा को धन की दिशा माना जाता है। कछुए को हमेशा किसी बर्तन में पानी भर कर उसके मुंह को घर के अंदर की ओर कर के ही रखें। *ध्यान रहे* जीवित कछुए का पालन-पोषण करना महंगा पड़ सकता है। कछुआ विलुप्त होती स्टारप्रजाति का है।वन विभाग के अनुसार वन्यजीव सुरक्षा अधिनियम के तहत कछुआ पालना अपराध है। वन्यजीव व पक्षियों को पालना, नुकसान पहुंचाना और मारना वन्यजीव सुरक्षा अधिनियम के तहत अपराध की श्रेणी में आता है। अतः सावधानी बरतें और जीवित कछुए को न पालें !