Uncategorized

कार्तिक एकादशी स्नान के साथ आज से धार्मिक पुष्कर मेला शुरू ,अलसुबह से ही श्रदालुओ का सरोवर पर उमड़ा सैलाब

-जगतपिता ब्रह्माजी जी का हुआ विशेष श्रृंगार ओर आरती ।

अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पुष्कर मेले का शुक्रवार को एकादशी के पहले पंचतीर्थ स्नान के साथ शुभारम्भ हो गया । इस पावन अवसर पर आज अलसुबह से ही श्रदालुओ का रेला शुरू हो गया जो पवित्र सरोवर में आस्था की डुबकी लगाकर जगत पिता व्रह्मा मन्दिर के दर्शन कर रहे है श्रद्धालुओं की भारी भीड़ को देखते हुए पुलिस और जिला प्रशासन हाई अलर्ट हो गया है पंचतीर्थ स्नान के लिए प्रतिदिन भारी संख्या में श्रद्धालु पवित्र सरोवर में आस्था की डुबकी लगाकर जगतपिता ब्रह्मा मंदिर का दर्शन करेंगे पांच दिवसीय पंचतीर्थ स्नान का समापन 12 नवंबर को कार्तिक पूर्णिमा के स्नान के साथ संपन्न होगा। कार्तिक एकादशी से कार्तिक पूर्णिमा तक जगतपिता ब्रह्मा मंदिर ने साक्षात पवित्र सरोवर के बीच में बैठकर पांच दिवसीय यज्ञ किया था और इस दौरान सभी 33 करोड़ देवी देवता पुष्कर में वास करने के कारण प्रतिवर्ष कार्तिक एकादशी से कार्तिक पूर्णिमा तक पुष्कर मेला भरा जाता है इन 5 दिनों में पवित्र सरोवर में डुबकी लगाकर पूजा करने वालों की हर मनोकामना पूर्ण होती हैं कार्तिक मास बड़ा पुण्य का माना जाता है इसलिए कार्तिक महीने में भारी संख्या में श्रद्धालु पवित्र सरोवर में आस्था की डुबकी लगाकर अपनी मनोकामना मांगते हैं ।

जगतपिता ब्रह्मा जी का हुआ मनमोहक श्रंगार
सुबह 5 बजे की महाआरती में उमड़ा जनसैलाब

101 किलो ड्राई फ्रूट का लगा भोग

विश्व के एकमात्र जगतपिता ब्रह्मा मंदिर में एकादशी से लेकर पूर्णिमा तक भगवान का विशेष श्रृंगार होगा । रोजाना भगवान की विशेष पूजा अर्चना होगी और अभिषेक होगा । पुजारी कृष्ण गोपाल वसिष्ठ ने बताया कि आज एकादशी को 101 किलो मेवे और फूलों से श्रंगार हुआ। आज सुबह 5 बज्र महाआरती का आयोजन हुआ जिसमें भारी जनसैलाब उमड़ पड़ा।इस अवसर पर सीओ ग्रामीण विनोद कुमार और सीआई राजेश मीणा भी मौजूद थे।अन्य दिनों में फूलों से सजावट होगी । सभी आयोजन जिला कलेक्टर और अस्थाई प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष विश्वमोहन शर्मा और उपखंड अधिकारी देविका तोमर के मार्गदर्शन में आयोजित होंगे ।