– किसान विरोधी अध्यादेश के विरोध में किसान नेता सोमबीर के नेतृत्व में चक्का जाम

आगरा।आगरा कृषि क्षेत्र से जुड़े विधायकों के विरोध में देशभर के किसानों ने भारत बंद करने का आह्वान किया है पंजाब और हरियाणा समेत अन्य जगहों के किसान पिछले काफी दिनों से किसान बिल के खिलाफ कहीं सड़कों पर पराती जलाकर तो कहीं सड़कों पर चक्का जाम कर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं देश के अन्य शहरों की भांति अब आगरा में भी विपक्षी दलों ने भी किसान बिल के मुद्दे पर योगी सरकार को घेरने की तैयारी कर ली है और बिल विरोध में किसानों और मजदूरों के साथ खड़े होने का आह्वान किया है तो वही दूसरी तरफ किसान नेता सोमबीर सिंह यादव ने बीजेपी पर जोरदार हमला बोला है
आपको बताते चलें कि किसान नेता सोमबीर यादव के नेतृत्व में ग्वालियर रोड़ से शमसाबाद रोड़ गाँव बझेरा पर चक्का जाम किया गया।किसान नेता सोमबीर यादव ने कहा है कि केन्द्र सरकार ने जो कृषि अध्यादेश जारी किया है वह किसानो के हित में नही है।किसान को निजी कंपनियों का गुलाम बनाया जा रहा है। किसानों की खेती को पूंजीपतियों के यहाँ पर मोदी सरकार गिरवी रखने का काम कर रही है।
जिससे किसान बेरोजगार हो जाएगा। एक तो किसान पहले से ही कर्ज से दबा हुआ है।आए दिन किसान आत्महत्या कर कर रहा है।ऊपर से केन्द्र सरकार ने कृषि अध्यादेश का बोझ किसानों के ऊपर लाद दिया है।

अब किसानों को प्राइवेट कंपनियों का बंधुआ मजदूर बनाया जा रहा है।जो किसानों को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं है।

किसान नेता सोमबीर यादव ने कहा है कि सरकार इस कृषि अध्यादेश को बापिस ले नही तो किसान हिँसक रूप धारण कर लेंगे। मरता क्या नही करता इसलिए सरकार से माँग हैं कि इस किसान विरोधी अध्यादेश को जल्द से जल्द वापिस ले नही तो किसान उग्र आंदोलन करेंगे ।
जिसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी।
इस चक्का जाम कार्यक्रम में मुख्य रूप से मुकेश पाठक, दाताराम तोमर, राजेंद्र सिंह तोमर, शिवप्रसाद शुक्ला, विनोद शुक्ला नरेश तिवारी, प्रमोद प्रधान, कालीचरण आदि मुख्य रूप से सैंकड़ों की संख्या में किसान मौजूद रहे।