Uncategorized

केवीके लूणकरणसरः वैज्ञानिक सलाहकार समिति की बैठक आयोजित

प्रसार कार्य में सोशल मीडिया का हो अधिकाधिक उपयोग-प्रो. शर्मा
बीकानेर, 8 जनवरी। कृषि विज्ञान केन्द्र लूणकरनसर की वैज्ञानिक सलाहकार समिति की बैठक बुधवार को स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के प्रसार शिक्षा निदेशक प्रो. एस. के. शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित हुई।
प्रो. शर्मा ने प्रसार कार्य में सोशल मीडिया का अधिकतम उपयोग करते हुए किसानों के व्हाट्सएस ग्रुप बनाने तथा इनके माध्यम से नियमित मार्गदर्शन का आह्वान किया। अटारी जोधपुर के प्रधान वैज्ञानिक डाॅ. एम. एस. मीणा ने कहा कि महिलाओं को स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से संगठित कर कृषि में उनकी भागीदारी सुनिश्चित की जाए। कृषि अनुसंधान केन्द्र के क्षेत्रीय निदेशक डाॅ. पी. एस. शेखावत ने कहा कि कृषि अनुसंधान केन्द्र और कृषि विज्ञान केन्द्र समन्वित प्रयास करें, तो किसानों को और अधिक लाभ मिल सकता है।

कृषि विज्ञान केन्द्र लूणकरनसर के अध्यक्ष एवं प्रधान वैज्ञानिक डाॅ. राजेश शिवरान ने केन्द्र का वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया तथा आगामी कार्ययोजना के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा कृषकों के खेतों पर परीक्षण तथा प्रथम पंक्ति परीक्षण, प्रक्षेत्र दिवस तथा कृषक वैज्ञानिक संवाद जैसे कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।
इस दौरान अमरपुरा के प्रगतिशील किसान सांवताराम और खाजूवाला के जसविंदर सिंह ने भी विचार रखे। सितम्बर में आयोजित खुदरा उर्वरक विक्रेता प्रशिक्षण के प्रपत्र वितरित किए गए। डाॅ. वी. एस. शेखावत ने आभार जताया। डाॅ. मीणा ने केन्द्र के वैज्ञानिकों के साथ खेतों का भ्रमण किया तथा गेहूं, सरसों एवं चने के प्रदर्शनों का अवलोकन किया। इस दौरान डाॅ. नवल किशोर, डाॅ. ऋचा पंत, डाॅ. केशव मेहरा और भगवंत सिंह मौजूद रहे।