Uncategorized

कोरोना वायरस से डरने की नहीं बचने की जरूरत-डॉ. सुनीता जाखड़

कोरोना वायरस से जनता को जागरूक करेगा विश्व आयुर्वेद परिषद


हर्षित सैनी
रोहतक, 8 मार्च। विश्व आयुर्वेद परिषद् रोहतक शाखा की एक बैठक आज स्थानीय सोनीपत रोड स्थित जाखड़ हस्पताल में डॉ. सुनीता जाखड़ की अध्यक्षता में हुई। जिसमें कोरोना वायरस से लड़ने तथा लोगों को जागरूक करने के लिए डॉक्टरों ने विचार-मंथन किया।
इस अवसर पर डॉ. सुनीता जाखड़ ने बताया कि कोरोना वायरस से डरने की कोई खास जरूरत नहीं है। साफ-सफाई रखकर इसे दूर रखा जा सकता है। उन्होंने बताया कि हर व्यक्ति को पर्सनल हाइजीन पर विशेष ध्यान देना है। यह वायरस एक-दूसरे से हाथ मिलाने से जल्दी फैसलता है। इसलिए एक-दूसरे से हाथ मिलाने की बजाए नमस्ते के माध्यम से अभिवादन करें।

उन्होंने कहा कि दिन में कई बार हाथ धोएं तथा सेनिटाइजर का प्रयोग करें। वहीं पालतू पशुओं को हाथ न लगायें तथा मास्क का प्रयोग करें। संक्रमित व्यक्ति तुरन्त अपने डॉक्टर से मिले तथा जांच करवाएं। आयुर्वेद में इम्यून सिस्टम को बढ़ाने के लिए रसायन और संक्रमण को रोकने व दूर करने के लिए दवाएं मौजूद हैं, जिन पर डॉक्टरों ने मंथन किया।
इस अवसर पर सभी डॉक्टरों को कोरोना वायरस से लडऩे तथा आम जनता को जागरूक करने का आह्वान भी किया गया। बैठक में मुख्य रूप से डॉ. सुशील आर्य, डॉ. प्रवेश शर्मा, डॉ. प्रिंस गिरोत्रा, डॉ. पंकज जिंदल, डॉ. ऋतु, डॉ. नितिन, डॉ. निशा, गौरव व डॉ. संजय जाखड़ मौजूद रहे।