Uncategorized

डॉ. सुलक्षणा को मिला सरस्वती साहित्य शुभंकर सम्मान

हर्षित सैनी
रोहतक, 31 दिसम्बर। अजायब निवासी जानी मानी शिक्षाविद, कवयित्री एवं समाज सेविका डॉ. सुलक्षणा अहलावत को हरियाणा संस्कृत अकादमी एवं सरस्वती साहित्य संस्थान द्वारा चरखी दादरी में आयोजित साहित्य सम्मान समारोह में सरस्वती साहित्य शुभंकर सम्मान से नवाजा गया।
यह सम्मान उन्हें अकादमी के निदेशक डॉ. सोमेश्वर दत्त शर्मा और वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. कैलाश चन्द शर्मा द्वारा प्रदान किया गया। डॉ. सुलक्षणा साहित्य जगत का चमकता सितारा हैं। उन्हें यह सम्मान उनके पहले हरियाणवी काव्य सँग्रह “मन का के ठिकाणा” के लिए प्रदान किया गया।

उनकी रचनाएं निरंतर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पत्र पत्रिकाओं में प्रकाशित होती रहती हैं। डॉ. सुलक्षणा को साहसिक एवं बेबाक लेखन के लिए जाना है। वे शिक्षा विभाग हरियाणा सरकार में अंग्रेजी प्राध्यापिका के पद पर कार्यरत हैं और पिछले कई सालों से साहित्य साधना में लगी हुई हैं।