बिहार(सुपौल)-(कोशी- ब्यूरों)समाजवादी नेता व पूर्व काबीना मंत्री अनुपलाल यादव के सातवें पुण्यतिथि के मौके पर रविवार को अनुपलाल यादव महाविद्यालय परिसर स्थित स्मारक में सोशल डेस्टनसिंग के अनुपालन के साथ पुण्यतिथि कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आयोजित पूण्यतिथि के मौके पर जदयू सांसद दिलेश्वर कामत एवं पिपरा राजद विधायक यदुवंश कुमार यादव,त्रिवेणीगंज जदयू विधायक बीना भारती समेत महाविद्यालय प्राचार्य डॉ जयदेव प्रसाद यादव व कॉलेज कर्मियों ने स्व.अनुप बाबू के तस्वीर पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्दांजलि अर्पित किया l वहीं पुण्यतिथि के मौके पर
सांसद दिलेश्वर कामत ने कहा कि समाजवादी नेता अनुपलाल यादव के जन्मतिथि व पुण्यतिथि के अवसर पर सांसद होने के नाते पहली बार पहुंचे और उनके प्रतिमा पर फूल माला चढ़ाकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित किया। उन्होंने कहा कि आज क्षेत्र मे कई जगह पौधरोपण भी किए है।

महाविद्यालय प्राचार्य डॉ जयदेव प्रसाद यादव ने कहा कि स्व. अनुपलाल बाबू एक महान राजनीतिग थे.वे अपने राजनीतिक जीवन में ईमानदारी से समझौता नहीं किया। उनका शिक्षा के क्षेत्र में बहुत बड़ा योगदान रहा कई सारे हाई स्कूल एवं कॉलेज उन्होंने दिए।त्रिवेणीगंज के कई बुजुर्गों ने बताया कि त्रिवेणीगंज बाजार बरसाने में अनूप बाबू की अहम भूमिका रही पहले जहां त्रिवेणीगंज बाजार कशहा एवं डपरखा में बसा था, अनूप बाबू ने वहां से मारवाड़ियों सिखों, कई हिंदुओं, मुसलमानों एवं इसाईयों को लाकर त्रिवेणीगंज में बसाया। स्वतंत्रता सेनानी रहे अनुप बाबू 1967 में पहली बार विधायक बने थे। जिसके बाद वह कई बार मंत्री रहे सहरसा जिले से सांसद भी बने। विपक्ष के नेता भी थे यहां तक कि 1990 के दशक में अनूप बाबू मुख्यमंत्री पद के दावेदार भी थे।अनूप बाबू ने अपने कार्यकलाप में त्रिवेणीगंज को अनुमंडल का दर्जा तो दिलाया साथ ही दर्जनों हाई स्कूल के साथ रेफरल अस्पताल, कई डिग्री कॉलेज, त्रिवेणीगंज जदिया पथ, त्रिवेणीगंज से प्रतापगंज पथ, त्रिवेणीगंज शंकरपुर पथ में कई पुल पुलिया का निर्माण भी कराया। पुण्यतिथि पर एक भी जनप्रतिनिधि का मौजूद नहीं होना लोगों के बीच चर्चा का विषय बना रहा।