Uncategorized

थाने में अनियमिताएं पाने पर एसएचओ नरेश कुमार सिविल लाईन, मुंशी, एक हेड कांस्टेबल सहित 5 पुलिस कर्मी मौके पर ही निलंबित

– गृह मंत्री अनिल विज ने सिविल लाईन थाने का किया औचक निरीक्षण
हर्षित सैनी
रोहतक, 14 फरवरी। रोहतक दौरे के दौरान प्रदेश के गृह मंत्री अनिल विज ने सिविल लाईन थाने का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान गृह मंत्री विज ने थाने में अनियमिताएं पाने पर एसएचओ नरेश कुमार सिविल लाईन, मुंशी, एक हेड कांस्टेबल सहित कुल पांच पुलिस कर्मियों को मौके पर ही निलंबित करने के निर्देश जारी किए।
इस मौके पर उनके साथ उपायुक्त आरएस वर्मा, पुलिस अधीक्षक मोहित हांढा, अतिरिक्त उपायुक्त महेंद्रपाल व डीएसपी गौरखपाल सहित अन्य मौजूद थे।
औचक निरीक्षण के दौरान गृह मंत्री अनिल विज ने थाने का मालखाना, महिला अनुसंधान कक्ष, शस्त्रालय, रिकॉर्ड रूम, डयूटी रूम, एसएचओ कक्ष, स्टोर रूम व शौचालय स्थलों का दौरा करके वहां की साफ-सफाई व वहां रखे दस्तावेजों व सामान की जांच की।

उन्होंने दौरे के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए गृह मंत्री अनिल विज ने बताया कि सिविल लाईन थाने में बहुत सारी अनियमितताएं पायी गई हैं। लोगों की शिकायतें अलमारियों में लम्बे समय से पड़ी मिली हैं। जिनको किसी रजिस्टर में इंदराज नहीं किया गया। इन शिकायतों के संबंध में न तो कोई एफआईआर दर्ज की गई और न ही कोई डीडीआर काटी गई।
गृह मंत्री ने बताया कि थाने के अन्दर लकड़ी की एक अलमारी में दो कारबाईन व एक पिस्टल पायी गई, जो लोडिड थी जबकि नियमानुसार कोर्ट अथवा माल खाने से हथियार ले जाया जाता है और वहीं पर जमा करवाया जाता है। इस प्रकार की भारी अनियमितता कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
उन्होंने कहा कि इसके जिम्मेदार कर्मचारियों के निलंबन के निर्देश जारी करते हुए पुलिस अधीक्षक को जांच करने के आदेश भी दिए हैं, जो दोषियों पर नियमानुसार कानूनी कार्यवाई भी अमल में लाएंगे।
गृह मंत्री ने थाने की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि यहां सरकारी थाने के अलावा एक अलग से समानांतर थाना स्थानीय एसएचओ द्वारा चलाया जा रहा है, जहां इनके स्तर पर ही सारे फैसले किए जाते हैं। उन्होंने बताया कि यहां ऐसे अनेक दस्तावेज मिले हैं, जिन पर कोई कार्यवाही नहीं की गई है। उन्हें अपने रिकॉर्ड में ले लिया गया है।