Uncategorized

दिल्ली में संस्कृत भाषा का प्रथम विश्व सम्मेलन का आगाज आज से

-राजस्थान से 200 एवं बीकानेर से 20 संस्कृत समर्पित कार्यकर्ता लेंगे भाग

बीकानेर 8 नवम्बर। समस्त भाषा की जननी संस्कृत भाषा के व्यापक
प्रचार प्रसार हेतु एवं संस्कृत को आम बोलचाल की भाषा बनाकार भारतीय
संस्कृति को घर-घर पहुंचाने की के उद्देश्य से कार्यरत संस्था संस्कृत
भारती के तत्वाधान में पहला विश्व सम्मेलन दिल्ली में दिनांक 9 से 11
नवम्बर तक आयोजित किया जा रहा है। इस सम्मेलन में 18 देशों के कुल 4555
प्रतिनिधि भाग लेंगे।
संस्कृत भारती के बीकानेर शाखा के दायित्ववान कार्यकर्ता डाॅ. योगेश
व्यास एवं उमेशचंद्र पुरोहित ने बताया कि यह सम्मेलन एक तरह का महाकुंभ
है, जहां से संपूर्ण विश्व को वर्तमान में संस्कृत की उपयोगिता एवं
आवश्यकता का संदेश जाएगा। इस सम्मेलन में राजस्थान से 200 कार्यकत्र्ता
भाग लेगें व बीकानेर से 20 कार्यकर्ता भाग लेगें । व्यास ने कहा कि विश्व
सम्मेलन में संस्कृत डाॅक्यूमेंट्री पांडुलिपियों का प्रदर्शन , संस्कृत
नामों के साथ वस्तु प्रदर्शनी, संस्कृत शिलालेखों के अलावा कवि कालीदास
आदि महापुरूषों के जीवन शैली पर प्रदर्शनी का आयोजन होगा।