जयपुर 4 नवंबर। राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायती राज संस्थाओं के आम चुनाव-2020 की मतदाता सूची के संदर्भ में कार्यक्रम और दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी एवं सचिव श्री श्यामसिंह राजपुरोहित ने बताया कि राज्य की पंचायती राज संस्थाओं के आम चुनाव माह जनवरी-फरवरी, 2020 में होने हैं। इसकी नामावलियों के लिए कार्यक्रम जारी कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि निर्वाचक नामावलियों का प्रारूप प्रकाशन 4 दिसंबर, 2019 को होगा, जबकि नामावलियों का वाडोर्ं या मतदान केंद्रों पर पठन 7 दिसंबर को किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि नामावलियों से जुड़े दावे और आक्षेपों को प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि 13 दिसंबर होगी। नाम जुड़वाने या किसी भी तरह के संशोधन के लिए विशेष अभियान की तिथियां 7 और 8 दिसंबर रहेगी। दावे और आक्षेपों के निस्तारण 20 दिसंबर तक हो सकेगा। पूरक सूचियों की तैयारी 29 दिसंबर तक होगी जबकि निर्वाचक नामावलियों का अंतिम प्रकाशन 3 जनवरी, 2020 को किया जाएगा।

श्री राजपुरोहित ने कहा कि जिन मतदाताओं की उम्र 1 जनवरी, 2020 को 18 वर्ष पूरी हो रही है और जो संबंधित वार्ड का सामान्य तौर पर निवासी हो। वे मतदाता भी इस मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज करवा सकते हैं। उन्होंने बताया कि मतदान केन्द्रों पर दावे व आपत्तियां प्रस्तुत करने के लिए विशेष अभियान 7 और 8 दिसंबर को लगाए जाएंगे। इन दिनों में प्रगणक प्रातः 9 बजे से सायं 6 बजे तक अपने-अपने मतदान केन्द्रों पर उपस्थित रहकर दावे आपत्तियों के आवेदन प्राप्त करेंगे।

गौरतलब है कि पंचायतराज संस्थाओं के लिए ये मतदाता सूचियां विधानसभा निर्वाचन नामावली का डेटाबेस के आधार पर तैयार की जाएंगी। ऎसे मतदाता जिनका नाम विधानसभा की मतदाता सूची में नहीं है, वे दावे-आपत्तियों के दौरान अपना नाम जोड़ने के लिए आवेदन कर सकते हैं।