Uncategorized

परिवहन मंत्री द्वारा निजी बसों के शुभारम्भ करने के विरोध में रोडवेज कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

– प्रदर्शनकारी बोले, किसी भी कीमत पर किलोमीटर स्कीम को नहीं होने देंगे लागू, आठ जनवरी को रोडवेज का रहेगा चक्का जाम
हर्षित सैनी
रोहतक, 27 दिसम्बर। हरियाणा रोडवेज कर्मचारी तालमेल कमेटी ने परिवहन मंत्री द्वारा गुरूग्राम में निजी बसों के आरम्भ करने के विरोध में नए बस स्टैंड पर प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। साथ ही रोडवेज कर्मचारियों ने साफ साफ कहा कि प्रदेश में किसी कीमत पर कीलोमीटर स्कीम लागू नहीं होने दी जाएगी, चाहे इसके लिए उन्हें कोई भी कुर्बानी क्यों न देनी पड़े।

प्रदर्शनकारियों ने सरकार पर तानाशाही रवैया अपना कर कर्मचारियों को प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाया। डिपू प्रधान जोगेन्द्र बल्हारा, हिम्मत राणा व कृष्ण हुड्डा के नेतृत्व में काफी संख्या में रोडवेज कर्मचारी बस स्टैड पर एकत्रित हुए और रोष सभा का आयोजन किया।
कमेटी सदस्यों ने कहा कि सरकार पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए रोडवेज विभाग को निजीकरण की और धकेल रही है। सरकार नई बसे विभाग में शामिल करने की बजाए महंगे रेटों पर प्राइवेट बसों का संचालन करने पर उतारू है। परिवहन मंत्री द्वारा गुरूग्राम में पांच निजी बसों के शुभारम्भ करने से रोडवेज कर्मचारियों में भारी रोष है।

उन्होंने बताया कि सरकार की इस नीति का रोडवेज कर्मचारियों ने जमकर विरोध किया तो पुलिस द्वारा उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया लेकिन रोडवेज कर्मचारियों की एकता के चलते जिला प्रशासन को झुकना पडा और गिरफ्तार कर्मचारियों को रिहा किया। पूरे प्रदेश में किलोमीटर स्कीम का विरोध हो रहा है लेकिन सरकार इस पॉलिसी को रद्द नहीं कर रही है जबकि इससे पहले भी इस योजना में करोड़ों रूपये का घोटाला उजागर हो चुका है।
कर्मचारी नेताओं ने कहा कि एक तरफ तो सरकार भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन का दावा करती है, वहीं अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रही है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने किलोमीटर स्कीम के तहत प्रदेश में निजी बसे चलाने का निर्णय रद्द नहीं किया तो रोडवेज कर्मचारी बडा आंदोलन करने पर मजबूर हो जाएंगे। 29 सितम्बर को होने वाले तालमेल कमेटी के प्रदेश स्तरीय सम्मेलन में सरकार के खिलाफ बडे आंदोलन की घोषणा की जाएगी।

इस अवसर पर मनीष पोलंगी, सुमेर सिवाच, दीपक बल्हारा, राजबीर मकडौली, महेन्द्र, धमेन्द्र, अमीन, रणबीर दहिया, यशपाल, अनिल मोर, कुलदीप डोभ, रामधारी गिल, जयकिशन, राज सिंह, राजीव मदीना, ओमबीर सांघी, सुनील प्रमुख रूप से मौजूद रहे।
———-