चंडीगढ़। पंजाब के मुक्तसर में करीब 5 साल पहले की गई 4 लोगों की बेरिहमी से हत्या के सनसनीखेज मामले का अदालत ने फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने हत्या के दोषी एक व्यक्ति युवक को मौत, जबकि उसकी प्रेमिका (अब पत्नी) को उम्रकैद की सजा सुनाई है। पांच साल पहले मुक्तसर में दोषी ने अपनी पत्नी, दो मासूम बच्चों और अपनी प्रेमिका के पति की हत्या कर दी थी। जिसके 6 महीने बीतने के बाद दोनों ने शादी कर ली थी। आरोप पत्र के अनुसार दोषी पलविंदर सिंह के उसके खेतों में काम करने वाले निर्मल सिंह की पत्नी कर्मजीत कौर के साथ अवैध संबंध थे। पलविंदर सिंह और कर्मजीत कौर ने प्रेम में रुकावट बन रहे उनके परिवार के सदस्यों को सदा के लिए अपने रास्ते से हटाकर आपस में शादी करने की साजिश रची। साजिश के मुताबिक पलविंदर सिंह ने घटना से कुछ दिन पहले एक पुरानी मारुति कार खरीदी और पत्नी सर्बजीत कौर के नाम पर इंश्योरेंस पॉलिसी ली थी। जिसके बाद 20 जून 2015 को पलविंदर सिंह ने अपनी कार गांव अपने गांव अटारी के नजदीक गंगनहर में जान-बूझकर गिरा दी थी। इस कार में उसकी पत्नी सबरजीत कौर, मासूम पुत्र जशनप्रीत सिंह (4), पुत्री गगनदीप कौर (6) और उसके खेतों में काम करने वाला निर्मल सिंह शामिल था। पलविंदर ने हत्या को एक घटना को रूप देने के लिए पूरी साजिश रची थी। गांव वालों और रिश्तेदारों को यह एक दुर्घटना ही लगी। हत्या का खुलासा उस समय हुआ, जब 27 जनवरी 2016 को आरोपी पलविंदर सिंह ने अपनी प्रेमिका कर्मजीत कौर के साथ विवाह करवा अदालत से सुरक्षा लेने के लिए अर्जी दायर कर दी। दोनों की शादी के बाद पत्नी के परिजनों और पुलिस को परविंदर पर शक हुआ। इसके बाद पुलिस ने परविंदर और उसकी पत्नी को हिरासत में लिया। कड़ी पूछताछ के दौरान दोनों टूट गए और 4 लोगों की हत्या की बात मान गए। अदालत ने दोषी पलविंदर सिंह को फांसी की सजा और कर्मजीत कौर को उम्रकैद की सजा सुना दी।_