Uncategorized

बगङिया बाल विद्या निकेतन ने मनाया दीपोत्सव

नन्हे मुन्हे बच्चो ने जलाये दीपक व सर्वत्र अमन, चैन, शांति हेतु की प्रार्थना व किया दीपदान।

251 मिट्टी के दीपक जलाकर राष्ट्र की सुख, समृद्धि, शांति व सद्भावना की कामना की।

लक्ष्मणगढ़, 22 अक्टूबर 19।
परम्परागत रूप से मनाये जाने वाले दीपों के पर्व व आध्यात्मिक रूप से अंधकार पर प्रकाश कि विजय को दर्शाने वाला, *तमसो मा ज्योतिर्गमय* का पावन संदेश देने वाला त्यौहार आज बगङिया बाल विद्या निकेतन मे नन्हे बालक बालिकाओं द्वारा मनाया गया।
भारत मे त्योहारो के दर्शन के महत्व को समझाने वाले मुख्य पर्व दीपावली पर दीपको की जगमगाहट की रोशनी से हर देशवासी की मन, कर्म व भावना आलोकित हो, इस उद्देश्य से 251 मिट्टी के दीपक जलाकर विद्यार्थियों ने अनूठा संदेश प्रसारित किया। बालको द्वारा मनमोहक रंगोली सजाकर उनके मध्य दीपक जलाये गये। प्रारम्भ मे सभी ने मंगलाचरण कर प्रथम पूज्य भगवान गणेश, माँ लक्ष्मी व विद्या की देवी सरस्वती की पूजा अर्चना की।

विद्यार्थियों को दीवाली की महत्ता के बारे मे बताया गया। कार्यक्रम मे *निकेतन सचिव पवन गोयनका, प्राचार्य मधुलिका मिश्रा, प्रभारी माॅण्टेसरी अनिता सिंह, बी एड प्राचार्य डॉ नरेश दाधीच, व्याख्याता अर्चना पुरोहित, शिक्षिका निधि जोशी, कीर्ति त्रिवेदी, कंचन आल्हड़िया, रश्मि शर्मा, जयश्री जांगिड़, रेखा पुजारी, नेहा निरानिया, प्रिया पारीक, स्नेहा मिश्रा, गरिमा व्यास, संजू कुमावत* सहित अनेक शिक्षकवृंद व विद्यार्थी उपस्थित थे।
सभी विद्यार्थियों ने गले मिलकर व एक दूसरे को मिठाई खिलाकर दीपावली की बधाई दी व खुशियां बांटी।