Bikaner Rajasthan Slider

विपक्ष जितना जोर लगा ले, नहीं रूकेगा हेलीकॉप्टर और रथ – राजे

बीकानेर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा ने बीकानेर जिले के नोखा के मुकाम से राजस्थान गौरव यात्रा के तीसरे चरण की शुरुआत गुरुवार को जम्भेश्वर मंदिर में पूजा अर्चना कर की। यहां सभा को संबोधित करते हुए सीएम राजे ने विपक्ष पर हमला बोला। सीएम ने कहा कि विपक्ष यात्रा को रूकवाने के लिए बार-बार कोर्ट में जा रहा है। उन्होंने कहा कि जितना चाहे जोर लगा ले उनका हेलीकॉप्टर और रथ रूकने वाला नहीं। प्रदेश में 36 कोम का बड़ा परिवार है। प्रदेश की मुखिया होने के नाते मुझे सबके पास पहुंचना है। इससे पहले मुख्यमंत्री का हेलिपैड पर केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल, खादी बोर्ड अध्यक्ष जसवंत सिंह, बिहारी बिश्नोई, आदि ने स्वागत किया। आईजी दिनेश एम.एन., संभागीय आयुक्त हनुमान सहाय ने भी सीएम की आगवानी की। पुलिस के जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। हेलीपैड पर बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।


मुख्यमंत्री ने खुद को मां बताते हुए कहा कि मां होने के नाते सबको साथ लेकर चलती हूं। मेरे लिये सब बराबर है।
नोखा में सर्वाधिक पैसा दिया
सीएम राजे ने कहा नोखा में हमारा विधायक नही फिर भी यहां के भाजपा नेता बिहारी बिश्नोई बार बार जयपुर जाकर जनता के लिये सड़क आदि के लिये पैसे स्वीकृत करवाकर लाते रहे। सबसे ज्यादा पैसा नोखा क्षेत्र में विकास पर लगाया।
बिश्नोई समाज की श्रद्धा और आस्था के मूल केंद्र गुरु जम्भेश्वर की पावन स्थली मुकाम धाम पहुंचकर बीकानेर संभाग में राजस्थान गौरव यात्रा का शंखनाद किया। यहाँ गुरु जम्भेश्वर जी भगवान के दर्शन कर गौरव यात्रा की सफलता तथा प्रदेश की सुख-समृद्धि व खुशहाली की कामना की। इस दौरान यहाँ आयोजित सभा में हिस्सा लिया और प्रदेश में एक बार पुन: भाजपा सरकार को भरपूर समर्थन व आशीर्वाद प्रदान करने के लिए दृढ़ संकल्पित किया।

बीकानेर पुष्करणा स्टेडियम से लेकर बड़ा गणेश मंदिर तक पूरे रास्ते लोगों का जमावड़ा। मुख्यमंत्री की एक झलक पाने रोड से लेकर छतों तक भीड़। मंदिर में पूजा कर रोड-शो के लिए रवाना होने रथ पर चढ़ते ही मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने लोगों को संबोधित किया। जिस तरह सूरसागर संवार दिया, वैसे ही एलिवेटेड रोड भी बनेगा। कुछ लोग सड़क और पुष्करणा स्टेडियम के हालात पर बोले। इन कामों के लिए तत्काल 10 करोड़ रुपए की घोषणा कर दी।

 


यहां से काफिला चला तो बड़ी ईदगाह के पास पूर्व अध्यक्ष विजय आचार्य की ओर से रखे गए स्वागत समारोह के आगे रुका। यहां अल्पसंख्यक समुदाय ने भी उनका स्वागत किया। जस्सूसरगेट के बाहर विधायक गोपाल जोशी की ओर से रखे गए स्वागत स्थल पर लोगों से संवाद किया। इसके बाद रथ की खिड़की से हाथ हिलाती, अभिवादन करतीं, आभार जतातीं जिला हॉस्पिटल, चौखूंटी ओवरब्रिज, फड़ बाजार चौराहा, हेड पोस्ट ऑफिस, सार्दुलसिंह सर्किल होते जूनागढ़ के आगे पहुंचीं। सूरसागर को संवारने के साथ ही सार्दुलसिंह सर्किल से सूरसागर तक के रास्ते को विशेष रूप से सजाया गया था।

वाह रांकाजी वेलडन

बीकानेर। वाह रांकाजी वेलडन। इसी उद्बोधन के साथ मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अम्बेडकर भवन के पास स्वागत हेतु उपस्थितजनों के समक्ष महावीर रांका की पीठ थपथपाई। भाजपा के कुलदीप यादव ने बताया कि नगर विकास न्यास अध्यक्ष महावीर रांका के नेतृत्व में अम्बेडकर भवन के पास हजारों महिलाओं व कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का स्वागत किया। इस अवसर पर रामलाल सूरजदेवी रांका चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा केरल बाढ़ पीडि़तों की सहायतार्थ 11 लाख रुपए का डीडी प्रदान किया गया। अभिनन्दन के दौरान चांदी का मुकुट भी मुख्यमंत्री को दिया गया जिसे मुख्यमंत्री ने मंदिर में चढ़ाने हेतु निर्देशित किया। यादव ने बताया कि ढोल-नगाड़ों व वसुंधरा राजे के कटआउट लिए महिलाएं स्वागत को आतुर दिखाई दी जिन्हें देखकर मुख्यमंत्री प्रफुल्लित हो उठी तथा हाथ हिलाकर सभी का अभिवादन स्वीकार किया।
भाजपा नेता युधिष्ठर सिंह भाटी के नेतृत्व में जूनागढ़ के समक्ष मसाला चौक पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का भव्य स्वागत किया गया। स्वागत के दौरान युधिष्ठर सिंह भाटी के साथ हजारों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे। कार्यकर्ताओं द्वारा लगातार वसुंधरा राजे व भारतीय जनता पार्टी जिंदाबाद के नारों से क्षेत्र को गुंजायमान कर दिया।

इससे पूर्व सूरसागर पर चकाचौंध रोशनी के साथ चल रहे लैजर शो व हजारों लोगों की उपस्थिति देख कर मुख्यमंत्री ने प्रसन्नता के साथ न्यास अध्यक्ष महावीर रांका को सूरसागर को नवीन स्वरूप प्रदान करने पर बधाई दी। इस दौरान मुख्यमंत्री ने अपने रथ पर खड़े होकर सूरसागर की भव्यता व सुंदरता को देख जनता को सम्बोधित किया कि बीकानेर के लिए नासूर बन चुके सूरसागर को भाजपा के शासन में भव्य रूप दिया गया है जिसका फायदा बीकानेर की आम अवाम के साथ पर्यटन को भी हो रहा है।
रास्ते में मौजूद लोगों का अभिवादन करते लगभग चार किमी लंबी रथयात्रा एक घंटे में पूरी कर नरेन्द्र भवन जा पहुंचीं। मुख्यमंत्री आज सुबह हेलिकॉप्टर से अनूपगढ़ रवाना हुई।

मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि राज्य सरकार ने राजश्री तथा भामाशाह जैसी महिला कल्याण को समर्पित योजनाओं के जरिए प्रदेश की करोड़ों माताओं-बहनों को सशक्त बनाने का अभूतपूर्व काम किया है। उन्होंने कहा कि सरकार की इन योजनाओं के कारण बालिकाओं के जन्म को लेकर समाज की मानसिकता में सकारात्मक बदलाव आया है।


श्रीमती राजे गुरूवार को बीकानेर संभाग के अपने भ्रमण कार्यक्रम के तहत लूणकरणसर में आमजन को संबोधित कर रही थीं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने लैपटॉप, स्कूटी तथा साइकिल वितरण जैसी योजनाओं के माध्यम से बालिका शिक्षा को प्रोत्साहन दिया। इसी का नतीजा है कि आज प्रदेश के गांव-ढाणियों में जन्म लेने वाली बालिकाएं विदेशों में उच्च शिक्षा ग्रहण कर रही हैं और उनका भविष्य संवरा है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने बच्चियों से दुष्कर्म करने वाले अपराधियों को फांसी तक की सजा का प्रावधान कर ऐसे अपराधियों के खिलाफ सख्त संदेश दिया है।
श्रीमती राजे ने कहा कि राज्य सरकार किसानों के कल्याण तथा युवाओं को रोजगार देने के प्रति समर्पित रही है। पहली बार राज्य में करीब 30 लाख किसानों के 50 हजार रूपए तक के ऋण माफ करने की योजना लागू की गई। कौशल विकास तथा सरकारी नौकरियों के माध्यम से युवाओं को रोजगार से जोडऩे की दिशा में भी ऐतिहासिक काम हुआ है। उन्होंने कहा सरकार ने विकास योजनाओं में धन की कमी नहीं आने दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम प्रदेश के हित में रिफाइनरी लगाने जा रहे हैं और जब इस रिफाइनरी का काम पूरा होगा तो पूरे पश्चिमी राजस्थान की तस्वीर ही बदल जाएगी।(PB)