Uncategorized

बीकानेर जिला उद्योग संघ का बीकानेर को गैस पाइप लाइन से जोड़ने का प्रयास शुरू


बीकानेर /बीकानेर जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष द्वारकाप्रसाद पचीसिया ने बताया कि युवा उद्यमी पवन पचीसिया एवं डॉ. पंकज मोहता ने सोमवार को कोटा में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला से मुलाक़ात कर पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस नियामक बोर्ड द्वारा गैस पाइप लाइन बिछाने के प्रस्तावित 11वें राऊंड की बोली में बीकानेर राजस्थान को शामिल करवाने हेतु चर्चा की | पवन पचीसिया ने बताया कि पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस नियामक बोर्ड द्वारा राजस्थान के अनेक जिलों में गैस पाइप लाइन बिछाने का कार्य करवाया जा रहा है जिसमें बीकानेर राजस्थान की अनदेखी करते हुए पूर्व में गेल कम्पनी द्वारा अलवर, भीलवाड़ा, चित्तोडगढ एवं उदयपुर में सप्लाई की जा रही है

| मेहसाना भटिंडा पाइप लाइन जो आगे जम्मू तक जाएगी जिसमें पालमपुर, पाली, बाड़मेर में पाइप लाइन बिछाने का कार्य भी पूर्ण हो चुका है | अब विश्वस्त सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार भविष्य में जैसलमेर से जोधपुर होते हुए भीलवाड़ा तक पाइप लाइन बिछाने का कार्य प्रस्तावित है और यह लाइन भी बीकानेर के गैस पाइप लाइन की जरूरतों को दरकिनार करते हुए बिछाई जा रही है जो कि बीकानेर के साथ नाइंसाफी होगी | साथ ही यह भी जानकारी दी कि पूरे बीकानेर की कुल जनसंख्या 7 लाख से ऊपर की और पूरे जिले में 14 औद्योगिक क्षेत्र है और बीकानेर सम्भाग में जिप्सम, बाल क्ले, लिग्नाईट, लाइम स्टोन, डोलोमाईट आदि खनिजों के अटूट भण्डार होने के बावजूद गेस आपूर्ति ना होने के कारण सिरेमिक्स टाइल्स, सेनेट्रीवेयर्स, इन्सुलेटर आदि का उधोग गुजरात की गेस आधारित सस्ती उत्पादन क्षमता एवं प्रतिस्पर्धा के कारण कई बंद हो गयी और कई बंद होने के कगार पर है |

जैसलमेर, बाड़मेर एवं बीकानेर क्षेत्र में खनिज तेल एवं गेस के अतुल भण्डार होने के कारण खनिज आधारित (सिरेमिक्स, जिप्सम, सिलिकोन, चुना पत्थर) अनेक विशाल, मध्यम एवं लघु उधोग वर्तमान मंदी एवं प्रतिस्पर्धा में प्रभावी एवं सफलतापूर्वक चलाये जा सकते है, बशर्ते शीघ्रताशीघ्र बीकानेर क्षेत्र के लिए गेस पाइप लाइन लाकर उच्च गूणवता के उत्पादन सस्ती दरों पर निर्मित किये जा सकते है और इस तरह से सौ से ज्यादा बड़े सिरेमिक एवं अन्य गैस आधारित प्रोजेक्ट यहाँ गेस पाइप लाइन आने से लग सकते है |