देश बचाओं संविधान बचाओं संघर्ष समिति का आंदोलन तेज

बीकानेर। देश बचाओं संविधान बचाओं संघर्ष समिति की ओर से सीएए और एनसीआर के विरोध में चलाया जा रहा आंदोलन तेज होता। आंदोलन के तहत जिला मुख्यालय के कलक्टरी मैदान में दिये जा रहे धरने और क्रर्मिक अनशन को अनेक संगठनों ने समर्थन दिया है। इस सिलसिले में आज मंगलवार को एससी समाज के 21 व ओबीसी वर्ग के 10 प्रबुद्धजनों ने उपवास रखते हुए धरने का समर्थन करते हुए सीएए, एनआरसी, एनपीआर का विरोध किया। धरने में हजारी देवड़ा, टीकूराम मेघवाल, खेमराज तेजी, हीरालाल मेघवाल, संजीव चांवरिया, सुदेश चांवरिया, महेन्द्र मेघवाल, तरूण कुमार दावां, संजय बारूपाल, घनश्याम मेघवाल, जोगेन्द्र जोईया, शिवलाल मेघवाल, बलदेवराम रेगर, चन्द्रप्रकाश वाल्मिकी, भीखाराम मेघवाल, बाबूलाल रेगर, सुरेन्द्र सिंगल, अजय वाल्मिकी, राजन जैदिया, चन्द्रप्रकाश सियोता, विनेश पंवार, सोहनलाल, याकुब खां। इसके अतिरिक्त बाबू भाई, गुलाम मुस्तफा, हाजी मकसूद अहमद, शब्बीर अहमद, जावेद खान, डॉ. मिर्जा हैदर बैग, अनवर अजमेरी, अत्ता हुसैन कादरी,अमजद अब्बासी, मेहबूब रंगरेज,एनडी कादरी सहित आदि मौजूद थे।

इस अवसर पर सर्वसमाज के वकिलों द्वारा समर्थन दिया गया। इनमें एड. सय्यैद अनवर अली, मौलाना बख्श, हीरालाल हर्ष, शाहिद अली, ईशाक कुरैशी, सलामुदीन भाटी, असरफ अली उस्ता, शमशाद अली, मुराद भुट्टा, मदनलाल बारूपाल, अब्दुल अजीज,जावेद कल्लर, मो. फारूख चौहान, लालचंद मेघवाल, घनश्याम मेघवाल, शफील अहमद, मो. खालिद, सलावत खां, उस्मान गनी,मो.असलम, मो. ईकबाल कुरैशी, अजीज अहमद सुलेमानी,रफीक भाटी, राशिद अली, मोहब्बत अली, साजिद सुलेमानी, याकुब खां, आजम अली काममखानी आदि शामिल थे।