सवांददाता, के,के,कुशवाहा

आगरा। मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर जहां आगरा मंडल के अधिकारियों के साथ में समीक्षा बैठक की तो वहीं ताजनगरी में निर्माणाधीन मुगल म्यूजियम का नाम बदलकर छत्रपति शिवाजी नाम रखने की के निर्देश जारी कर दिए हैं। मुख्यमंत्री के इस दिशा निर्देशों का पालन जिला प्रशासन आगरा ने तत्काल प्रभाव से शुरू कर दिया है। मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ ने अपने इन निर्देशों में यह भी कहा है कि गुलामी के पद चिन्हों को छोड़कर राष्ट्रवादी विचारधाराओं को आगे जोड़ा जाए और हमारे नायक कभी मुगल नहीं हो सकते जबकि हमारे नायक छत्रपति शिवाजी हो सकते हैं। मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के इस निर्णय को लेकर ताजनगरी वासियों में भारी हर्षोल्लास नजर आ रहा है

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस तरीके का निर्णय लिया है कि इस मामले में विपक्ष या किसी भी राजनीतिक दल द्वारा कोई भी विरोध के स्वर नहीं देखे जा रहे हैं। यही वजह है कि अभी तक इस मामले में किसी की ओर से कोई विरोध या कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। मगर आगरा के युवा लोगों का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का यह निर्णय बेहद सराहनीय है।

इससे पूर्व की सरकारों में भी कई नाम बदले गए थे। मगर पूर्व में नाम बदलने को लेकर काफी विवाद हुआ था लेकिन अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा के निर्माणाधीन मुगल म्यूजियम का नाम बदलकर छत्रपति शिवाजी रखा है। इस मामले में कोई भी आंदोलन या प्रदर्शन अभी तक सामने नहीं आया है। इससे साफ़ है कि छत्रपति शिवाजी को लेकर लोगों में जो आस्था है उसके ख़िलाफ़ जाने के लिए कोई भी विपक्ष पार्टी खतरा उठाने की जहमत नहीं कर रही है।