Uncategorized

रामेश्वरम् धाम में श्रीमद् भागवत कथा प्रारंभ

गुरु के बिना जीवन में प्रकाश नहीं : पं मुरली मनोहर व्यास
रामेश्वरम् । 27 दिसम्बर । बीकानेर के कथा वाचक पं मुरली मनोहर व्यास के श्री मुख से शनिवार को रामेश्वरम् धाम स्थित भारत सेवा आश्रम संघ में श्रीमद्भागवत कथा पाठ प्रारंभ हुआ, शनिवार को कथा के प्रारंभ में भागवत परिक्रमा हुई जिसमें स्थानीय लोगों के अतिरिक्त बीकानेर शहर के सैकड़ों लोगों ने शिरकत की ।
कथा के प्रथम दिवस पं मुरली मनोहर व्यास ने कथा के माध्यम से कहा कि गुरु के बिना जीवन में प्रकाश नहीं है और गुरु बनाने नहीं शिष्य बनने का उपक्रम होना चाहिए ।
पंडित व्यास ने कहा कि भीतर के रावण रूपी मोह का नाश करें उन्होंने कहा कि मनुष्य के भीतर विकार ही अंहकार करता है परन्तु भीतर ही सत्य भी विराजमान है उस शक्ति का संचय भागवत कृपा से होता है, सत्य सास्वत है ।

पंडित व्यास ने रामेश्वरम धाम में श्री मद् भागवत श्रवण के महत्व पर भी विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि परिवर्तन विकास का पर्याय है ।
श्रीमद् भागवत कथा प्रारंभ होने पर शहर जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष हीरालाल हर्ष, पूर्व उप निदेशक पशु पालन विभाग डॉ केसरी चंद्र पुरोहित, शिवकुमार पुरोहित, बृजगोपाल जोशी, अमरनाथ व्यास, सुभाष जोशी, कमल नागल,शिक्षाविद् डाॅ चेतना आचार्य, समाजशास्त्री आशा जोशी, विजय लक्ष्मी आचार्य, श्रीमति भँवरी देवी जोशी, एन डी रंगा , विजय जोशी,मोहन लाल आचार्य, सत्यनारायण नागल,महेन्द्र सोनी, राजेन्द्र सिंह पडिहार, मोहन लाल जोशी चैनई निवासी जमना दास व्यास, महेश व्यास, पं गंगाधार व्यास, शिव नारायण सोनी, रवि शंकर आचार्य, ओमप्रकाश बिस्सा सहित सैकड़ों लोगों ने भाग लिया ।