सवांददाता, के,के,कुशवाहा

आगरा। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन के दौरान यूपी रोडवेज बसों का संचालन पूरी तरह से बंद कर दिया गया था। रोडवेज सेवा बहाल होने के बाद भी अन्य राज्यों में बसों के संचालन पर रोक लगी थी लेकिन अब यह रोक हटा दी गई है। लगभग साढ़े पांच महीने बाद यूपी रोडवेज की बसें राजस्थान, दिल्ली व मध्यप्रदेश के लिए रवाना हुई। पहले दिन लगभग 100 बसों को अन्य राज्यों के लिए चलाया गया। यह बसें ईदगाह, आईएसबीटी और बिजलीघर बस स्टैंड से चलाई गई। इन बस स्टैंडों से जयपुर भरतपुर, धौलपुर के लिए काफी सवारियां मिली।

आईएसबीटी से दिल्ली के सराय काले खां तक बस चलाई गई। अभी तक यह बसें बदरपुर बॉर्डर दिल्ली तक ही जा रही थी। यात्रियों का कहना था कि अंतरराज्यीय बसों के शुरू होने से उन्हें राहत मिली है।

22 मार्च को लॉकडाउन शुरू होने के बाद से ही बसों का संचालन पूरी तरह से बंद कर दिया गया था। 1 जून से प्रदेश के भीतर रोडवेज बसों का संचालन शुरू किया गया लेकिन दूसरे राज्यों तक बसें नहीं जा रही थी। दिल्ली जाने वाली बसें भी बदरपुर बॉर्डर तक ही जा रही थी। इससे यात्रियों को दिल्ली तक पहुंचने में काफी किराया खर्च करना पड़ रहा था। बृहस्पतिवार को आईएसबीटी से वातानुकूलित और साधारण बसें दिल्ली के सराय काले खां बसस्टैंड तक चलाई गई। ईदगाह बस स्टैंड से बस से जयपुर, धौलपुर, भरतपुर, करौली के लिए चलाई गई। राजस्थान रोडवेज की बसों ने भी ईदगाह बस स्टैंड से सवारी ली।

तीन राज्यों के लिए बस सेवा शुरू होने पर यूपी रोडवेज आगरा के क्षेत्रीय प्रबंधक मनोज कुमार पुंडीर का कहना था कि राजस्थान, दिल्ली व मध्य प्रदेश के लिए बसों का संचालन शुरू कर दिया गया है। अभी उत्तराखंड के लिए सेवाएं शुरू नहीं हो सकी हैं। पहले दिन 100 से अधिक बसें चलाई गई है लेकिन आगरा से 300 से ज्यादा बस एक दूसरे राज्यों तक जाती हैं, धीरे-धीरे सभी बसों का संचालन किया जाएगा। बसों के संचालन के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव का पूरा ध्यान रखा जा रहा है।