Uncategorized

शरद पवार ने शिवसेना के साथ सरकार बनाने से किया साफ इनकार, विपक्ष में बैठने को तैयार

➡ महाराष्‍ट्र में बीजेपी-शिवसेना को स्‍पष्‍ट बहुमत
➡ संजय राउत बोले- शिवसेना को मिली सीएम का पद
➡ एनसीपी को शिवसेना से हाथ मिलाना मंजूर नही

नई दिल्‍ली। महाराष्ट्र और हरियाणा में वोटों की गिनती सुबह से जारी है। विधानसभा चुनाव को लेकर अब तक आए रुझानों में महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन बहुमत का जादुई आंकड़ा आसानी से पार करती दिख रही है। इस गठबंधन के लिए सरकार बनाने का रास्‍ता साफ है। बीजेपी-शिवसेना गठबंधन दोबारा सरकार बनाने के लिए स्‍वतंत्र है।

संजय राउत ने ठोका सीएम पद का दावा

लेकिन शिवसेना के प्रवक्‍ता संजय राउत ने एक बयान देकर हरियाणा की तरह महाराष्‍ट्र में सरकार गठन को लेकर पेंच फंसा दिया है। पार्टी ने आदित्य ठाकरे के लिए सीएम पद के साथ-साथ आधे मंत्री पद भी दावा ठोंक दिया है। संजय राउत ने मीडिया से बातचीत में कहा कि सीएम पद के लिए शिवसेना का दावा बनता है।

वहीं एनसीपी के एक नेता ने बयान दिया है कि महाराष्‍ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस आपस में हाथ मिला ले तो सरकार बनने में कोई बाधा नहीं है। लेकिन राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी (NCP) नेता शरद पवार ने इस चर्चा पर विराम लगा दिया है।

उन्‍होंने कहा है कि वह शिवसेना से हाथ नहीं मिलाएंगे। उन्होंने कहा कि जनता का निर्णय स्वीकार है। पवार ने कहा कि शिवसेना से हाथ मिलाने से बेहतर उन्हें विपक्ष में बैठना मंजूर है।

बता दें महाराष्‍ट्र में विधानसभा की 288 सीटें हैं। इनमें बीजेपी-शिसेना गठबंधन को 159 तो कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन को 101 सीटें मिलने की उम्‍मीदें हैं। एनसीपी 57 सीटें मिलने के आसार हैं।