Uncategorized

सफर ए शहादत की आरम्भता पर बिस्तरे,बूट और गर्म कपड़ों का लंगर

गुरद्वारा बाबा दीप सिंह जी शहीद श्री गंगा नगर व सिख स्टूडेंट्स फैडरेशन राजस्थान द्वारा ये सेवा शुरू–
श्रीगंगानगर /सिख पंथ पर ये कहरों भरा सप्ताह शुरू होता है जिसमे हिंदुस्तान की गैरत और स्वाभिमान के लिए,हिन्दू कौम के अस्तित्त्व के लिए,जनेऊ की रक्षा के लिए,गरीब पीड़ित मानवता को राहत देने के लिए गुरु गोबिंद सिंह जी ने अपना पूरा परिवार और जान से प्यारे यौद्धे देश पर न्योछावर कर दिए थे।गुरु साहिब जी के छोटे साहिबजादे बाबा जोरावर सिंह व बाबा फतेह सिंह ज़िंदा दीवारों में चिनवा दिए गए थे।

ठंडे बुर्ज में बिना बिस्तर और गर्म वस्त्रों के हाड़ कंपकपा देने वाली ठंड में किस तरह छोटे साहिबजादों और माता गुजरी जी ने रात गुजारी होगी।सिर्फ सुनने मात्र से होश फाख्ता हो जाते है।धन्य है जिन्होंने ये सब सह कर सच की आवाज़ बुलंद रखी।ये पूरा सप्ताह सिख पंथ सफर ए शहादत की दास्तान को याद कर महसूस कर मनाता है।इसी याद को मुख्य रखकर गुरद्वारा बाबा दीप सिंह जी व सिख स्टूडेंट्स फैडरेशन ने खुले आकाश के नीचे सोने वाले,फुटपाथ पर रहने वाले गरीब लोगों,विशेष कर बच्चों के लिए,बजुर्ग औरतों के लिए बिस्तरों,गर्म कपड़ों व जूतों का लंगर लगाया।बच्चों की आंखों की चमक और बजुर्गों की असीसों से एक सकून का अहसास हुआ लगा जैसे सफर ए शहादत में सेवा का एक खूबसूरत पहलू यह भी है।आज सेवा में वीर कुलविंदर सिंह राजू,गुरप्रीत सिंह सिधू,सुखदेव सिंह पंछी,लवप्रीत सिंह बराड़,अमरीक सिंह मल्ली,आकाश खुराना,संदीप सिंह हैपी,अरविंद,हरनाम सिंह,गुरदेव सिंह बिट्टू व जयप्रकाश मील ने भी अपनी सेवा निभाई।अब सफर ए शहादत के पूरे समागम के दौरान ये सेवा गुरु साहिब जी की किरपा से जारी रहेगी—तेजिंदर पाल सिंह टिम्मा