Uncategorized

स्वामी श्रृ़द्धानन्द जी के बलिदान दिवस पर लगे रक्तदान महोत्सव में 51 लोगों ने किया रक्तदान

स्कूल के विद्यार्थियों ने नाटक एवं गीत द्वारा रक्तदान का बताया महत्व
महाबीर धमीजा ने 51वीं बार रक्तदान
हर्षित सैनी
रोहतक, 22 दिसम्बर। स्वामी श्रृ़द्धानन्द जी के बलिदान दिवस के उपलक्ष्य में हल्का गढ़ी-सांपला किलोई के गांव सांपला स्थित डी.ए.वी. स्कूल में भारत विकास परिषद् सांपला शाखा के तत्वावधान में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया।
रक्तदान शिविर में दिल्ली से आई टीम ने 51 यूनिट रक्त एकत्रित किया। कार्यक्रम में श्री श्री 1008 परम पूज्य परमहंस बाबा कालीदास जी का सान्निध्य प्राप्त हुआ। जिसमें बतौर मुख्य अतिथि भारतीय जनता पार्टी आई.टी. विभाग के प्रदेश संयोजक प्रवीण घुसकानी रहे एवं अति विशिष्ट अतिथि विश्व सनातन सेना के प्रदेश अध्यक्ष पं. लोकेश शर्मा रहे।

रक्तदन शिविर की अध्यक्षता शाखा अध्यक्ष श्यामलाल जिंदल ने की, जिसमें स्कूल के विद्यार्थियों ने एक नाटक एवं गीत द्वारा रक्तदान की महत्व बताया, जिसमें महाबीर धमीजा ने 51वीं बार रक्तदान किया।
प्रवीण घुसकानी ने कहा कि मनुष्य जीवन भगवान का दिया हुआ सर्वश्रेष्ठ उपहार हैं। यह भी एक शाश्वत सत्य है कि जिसका जन्म हुआ है, उसकी मृत्यु भी निश्चित हैं। मनुष्य शरीर नश्वर व क्षण-भंगुर हैं। इस नश्वर मानव शरीर से दिया हुआ रक्त अगर किसी व्यक्ति की अंधेरी जिंदगी में उजियारा लेकर आता है तो इससे बड़ा पुण्य और परोपकार की बात क्या हो सकती है।

उन्होंने कहा कि रक्तदान से बड़ा कोई दान नहीं होता है। रक्तदान एक महादान है। आपके खून की चंद बूंदों से किसी घर का चिराग बुझने से बच सकता है। हमारे द्वारा दिया गया रक्त किसी की जान बचा सकता है।
इस अवसर पर रक्तदाता प्रेरक डॉ. अनूप बंसल ‘‘मधुकान्त’’, शाखा सचिव सुविधा शर्मा, कोषाध्यक्ष कविराज गोयल, महिला शाखा संयोजिका पुनिता वर्मा, कान्ता बंसल, रमेश वर्मा, महाबीर धमीजा, प्रवीण शर्मा, राजदीप कुलश्रेष्ट, अरुणा तनेजा, अशोक बंसल, अशोक कुमार आदि मौजूद रहे।