Uncategorized

हत्यारों के संगीन भेद जानती थी,इसलिये उतार दिया लक्ष्मी को मौत के घाट!-मुकेश पूनिया-


बीकानेर। जिले के नोखा कस्बे में रहने वाली बेवा लक्ष्मी देवी की संंगीन हालातों में हुई हत्या को लेकर तहकीकात में जुटी पुलिस ने पुख्ता तौर पर पता लगा लिया है कि हत्यारों ने चरकड़ा की रोही में मौका स्थल उसका निर्ममता से गला रेत कर उसे मौत के घाट उतार दिया था। हत्यारे उसकी लाश को रेलवे पटरियों पर फेंकना चाहते थे,लेकिन मौका नहीं मिलने पर लाश को वही छोड़ कर भाग छूटे। हांलाकि अभी पुख्ता तौर लक्ष्मी की हत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है,लेकिन पुलिस को आशंका है कि मृतका लक्ष्मी हत्यारों के गहरे भेद जानती थी,इसलिये उसे संगीन हालातों में मौत के घाट उतार दिया। वारदात के सिलसिले में पुलिस ने नोखा के कुछ युवकों पर संदेह जाहिर किया है,जिनका बेवा लक्ष्मी के घर आना-जाना और मिलना जुलना था। वारदात की तहकीकात कर रही पुलिस ने मौके पर साक्ष्य सबूतों,मृतका के मोबाईल की कॉल डिटेल और उसके परिजनों से पूछताछ के आधार पर हत्यारों के बारे में अहम सुराग जुटा लिये है।

अब तक जांच में पता चला है कि लक्ष्मी देवी शुक्रवार सुबह जैन चौक निवासी किशनलाल कंाकरिया के घर काम करने के लिये गई थी,जो दोपहर दो बजे तक कांकरिया के घर पर ही थी। उसके बाद वह कहां गई और किन लोगों से मिली इसका पता नहीं चला पाया। मृतका लक्ष्मी कस्बे में आरसीएम ऑफिस भी जाया करती थी,लेकिन शुक्रवार को वह ऑफिस नहीं पहुंची थी। हत्यारों तक पहुंचने के लिये पुलिय साक्ष्य सबूतों की कड़ी से कड़ी जोडऩे में लगी है। वहीं अब जुटाये साक्ष्य सबूतों के आधार पर नोखा सीओं नेमसिंह चौहान ने बताया कि वारदात का जल्द ही खुलासा कर दिया जायेगा। फिलहाल पुलिस ने शनिवार को नोखा के रैफरल अस्पताल में मृतका के शव का पोस्टमार्टम करवाकर उसके परिजनों को सौंप दिया।

थाना पुलिस ने हत्याकांड के सिलसिले में मृतका लक्ष्मी देवी के पुत्र महेन्द्र पुत्र स्व.शिवरतन ब्राह्मण की रिपोर्ट पर अज्ञात हत्यारों के खिलाफ संगीन धाराओ में केस दर्ज किया है। जानकारी में रहे कि लक्ष्मी देवी की लाश शुक्रवार की शाम चरकड़ा गांव की रोही में खून से लथपथ हालात में बरामद हुई थी। प्रथम दृष्टया जांच पड़ताल में पता चला कि लक्ष्मी हत्या धारदार हथियार से गला रेत कर की गई है। मृतका लक्ष्मी पत्नि शिवरतन ब्राह्मण पिछले कई दिनों से नोखा में रह रही थी। घरों में झाडू सफाई का काम कर वह परिवार का गुजर बसर कर रही थी,उसके किसी गंभीर बीमारी से पीडि़त होने की बात भी सामने आई है।