Uncategorized

15 मिलियन डॉलर की एफडीआई से माईक्रोन स्पेकमा इंडिया प्रा. लि. का भव्य शुभारम्भ 8 को

– देश व प्रदेश के औद्योगिक विकास को गति देगी माईक्रोन स्पेकमा इंडिया प्रा. लि.-करन विग

अनूप कुमार सैनी
रोहतक, 5 नवम्बर। जिले के औद्योगिक विकास को बढ़ावा देते हुए माईक्रोन प्रीशियस स्क्रूज (एमपीएस) और स्वीडिश कंपनी स्पेकमा के संयुक्त तत्वावधान में स्थानीय दिल्ली रोड़ पर नए उद्योग माइक्रोन स्पेकमा इंडिया प्राईवेट लिमिटिड का शुभारम्भ 8 नवम्बर को सांय 5.30 बजे मुख्यमंत्री मनोहर लाल के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर के कर-कमलों से किया जायेगा।
यह जानकारी स्थानीय शीला बाईपास स्थित एक निजी होटल में आयोजित पत्रकार वार्ता में देते हुए एमपीएस के प्रबंध निदेशक करन विग ने बताया कि 100 साल पुरानी स्वीडिश कंपनी स्पेकमा के सहयोग से अब रोहतक में हाईड्रोलिक कल-पुर्जों का निर्माण होगा। जिन्हें विश्व भर के 21 से अधिक देशों में निर्यात किया जाएगा। यह नई कंपनी माईक्रोन स्पेकमा इंडिया प्रा. लि. देश व प्रदेश के औद्योगिक विकास को गति देगी तथा हजारों युवाओं को रोजगार भी मिलेगा।
उन्होंने कहा कि इस कंपनी के गठन से प्रदेश के हजारों नौजवानों को रोजगार के मौके मुहैया होंगे, वहीं विश्वस्तर पर इस कंपनी का कारोबार होने से प्रदेश सरकार को अच्छे राजस्व की प्राप्ति होगी। प्रबंध निदेशक ने बताया कि इस उद्घाटन समारोह में 11 देशों से प्रतिनिधि भाग लेंगे। इसके अलावा मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर, पूर्व सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर, मेयर मनमोहन गोयल आदि सहित देश भर की बड़ी कंपनियों से सैंकडों उच्च प्रबंधन अधिकारी पहुंचेंगे।

करन विग नवनिर्मित कंपनी के निर्माण में एमपीएस व स्पेकमा ने मिलकर 15 मीलियन डॉलर का निवेश किया है। शुरूआती सत्र में हाईड्रोलिक कलपुर्जों को मुख्य खरीददार महिन्द्रा, जेसीबी, एस्कॉर्टस, आईशर, एस, ईमपिरल ऑटो आदि को बेचा जायेगा। इसके साथ ही कंपनी की योजना विश्वभर में फैले ऑटोमोबाईल, कृषि व इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र पर अपनी पकड़ मजबूत करने की रहेगी।
प्रबंध निदेशक ने बताया कि एमपीएस की शुरूआत सन 1979 में की गई थी। तभी से कंपनी ने अपनी बेजोड़ मेहनत तथा उच्च क्वालिटी के कल-पुर्जों की बदौलत पूरे देश में प्रथम स्थान पर है। वहीं 14 अन्य देशों को भी ऑटोमोबाईल तथा इंफ्रास्ट्रक्चर सम्बन्धित औजार भेजे जाते हैं। वहीं स्वीडिश कंपनी स्पेकमा का गठन 100 वर्ष पूर्व हुआ था। यह कंपनी विश्वभर में अपने बेहतरीन कल-पुर्जों के निर्माण के लिए जानी जाती है। इस साझेदारी से कंपनी 21 से अधिक देशों में अपना व्यवसाय बढ़ा लेगी।

उन्होंने बताया कि इस उद्घाटन समारोह में स्वीडन, डेनमार्क, इंग्लैंड, कोरिया, चीन आदि सहित 11 देशों से प्रतिनिधि भाग लेंगे। 8 नवम्बर को होने वाले इस उद्घाटन समारोह में 5.30 बजे हाई-टी, 6 बजे प्लांट टूर, 7 बजे एमएसआई प्रैजेंटेशन तथा 8 बजे सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ प्रीतिभोज का आयोजन किया गया है। इस प्लांट में 500 से अधिक कारिगरों सहित 3000 से अधिक लोगों को परोक्ष रूप से फायदा होगा।

करन विग ने बताया कि पराली की समस्या से निपटने के लिए एमपीएस पहले से ही हैप्पी सीडर यंत्र बना रही है। जिससे बुआई के दौरान पराली को जमीन में मिला दिया जाता है तथा इससे मिट्टी की उर्वरकता बढ़ती है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार इस यंत्र पर 75 प्रतिशत अनुदान भी किसानों को दे रही है। पत्रकार वार्ता के दौरान ब्रिगेडियर दीपक खुराना, सोमबीर मान आदि मुख्य रूप से मौजूद रहे।