Uncategorized

अहिंसा हमारी संस्कृति का प्राणततव:- डाॅ. देवरक्षिताश्री

पर्यावरण के प्रति सजगता बेहद जरूरी:- अमन सैकड़ों बच्चों ने लिया आतिशबाजी रहित दिपावली मनाने का संकल्प, पर्यावरण संरक्षण हस्ताक्षर अभियान आज बाड़मेर । 23 अक्टूबर । इंड़िया अगेंस्ट वॉयलेंस, बाड़मेर की ओर से प्रतिवर्ष की भांति होने वाले पटाखा बहिष्कार, ईको दीपावली व पर्यावरण संरक्षण को लेकर तीन दिवसीय सर्वोदय अहिंसा अभियान के तहत् […]

Uncategorized

स्व. शेखावत की जयन्ती पर विधानसभा में पुष्पांपजलि कार्यक्रम

——————– जयपुर 23 अक्टूबर । पूर्व उपराष्ट्रपति और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व्. भैरोंसिंह शेखावत की जयन्ती पर आज यहॉं विधानसभा में पुष्पांजलि कार्यक्रम आयोजित किया गया । मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत, पर्यटन मंत्री श्री विश्वेरन्द्र सिंह, विधायक सर्वश्री नरपत सिंह राजवी, जगसीराम, जोगाराम कुमावत, छगनसिंह, अविनाश गहलोत, धर्मेन्द्र कुमार, रामप्रसाद कसानिया, रामलाल, हेमाराम चौधरी […]

Uncategorized

भाजपा: बिना ब्रेक की गाड़ी

डॉ. वेदप्रताप वैदिक हरयाणा और महाराष्ट्र के चुनावों के जो ‘एक्जिट पोल’ आए हैं, वे क्या बता रहे हैं ? दोनों राज्यों में कांग्रेस का सूंपड़ा साफ है। विरोधी दल बुरी तरह से पटकनी खा रहे हैं। हरयाणा की 90 सीटों में से भाजपा को 70 के आस-पास और महाराष्ट्र की 288 सीटों में से […]

Uncategorized

एमडीयू के विद्यार्थियों ने मजदूरों एवं उनके परिजनों के साथ मनाया दिवाली उत्सव

हर्षित सैनी रोहतक, अक्टूबर। महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (मदवि) के अंग्रेजी एवं विदेशी भाषा विभाग की लिटरेरी सोसायटी ने आज यूनिवर्सिटी में विभिन्न जगहों पर कार्यरत मजदूरों एवं उनके परिजनों के साथ दिवाली उत्सव मनाया। लिटरेरी सोसायटी की एडवाइजर प्रो. रश्मि मलिक ने बताया कि विभाग के विद्यार्थियों ने अपनी पॉकेट मनी एकत्र कर मजदूरों एवं […]

Uncategorized

जन सेवा समिति के 120वें रक्तदान शिविर में 121 लोगों ने रक्तदान किया

रक्तदान से पुनीत कार्य कोई नहीं-राजेन्द्र कुमार हर्षित सैनी महम, अक्तूबर। जन सेवा समिति द्वारा प्रदेशाध्यक्ष बसन्त लाल गिरधर के 63वें जन्मदिवस के अवसर मंगलवार को महम की पंजाबी धर्मशाला में अपने 120वें रक्तदान शिविर का आयोजन धूमधाम से किया गया। शिविर के मुख्य अतिथि आईटीआई महम के प्राचार्य राजेन्द्र कुमार रहे जबकि अध्यक्षता डॉ. […]

Uncategorized

आस्ट्रेलियन प्रेस : खतरे की घंटी, भारत में भी बज रही है*

संपादकीय… यह सच है अब पत्रकारिता वैश्विक रूप से चुनौतीपूर्ण होती जा रही है | भारत जैसे देश में अदृश्य बंदिशे तैयार हो रही है | पत्रकारिता के “खबरदार तेवर” को खत्म करने में सरकारें लगी हुई हैं | कहीं राज्य तो कही केंद्र, यह सब भोगना क्यों पड़ रहा है? कारण, खबर पालिका कई […]