National Slider

सड़क पर निकला 510 बसों का 3.2 किलोमीटर लंबा काफिला

प्रयागराज। अपने अंदर अकूत दिव्यता और भव्यता समेटे कुंभ मेला अब तक कई मायनों में खास रहा. चाहें वो शाही स्नान के दौरान ताबड़तोड़ आई श्रद्दालुओं की संख्या हो या फिर मेले का क्षेत्रफल, स्वच्छता मिशन के तहत बनाए गए 1.22 लाख शौचालय हों या 6 हजार से अधिक कलाकारों का प्रयागराज को कुंभ के लिए सजा देने का सराहनीय काम. अब इन सबके बाद एक और नया रिकॉर्ड कुंभ के साथ जुडऩे गया है. गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल होने के लिए उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (क्कस्क्रञ्जष्ट) ने 510 बसों के सबसे लंबे बेड़े को एक ही रूट पर खड़ा किया है.

390 बसों के अबू धाबी के रिकॉर्ड को टक्कर देते हुए 510 बसों की सबसे लंबी परेड कर विश्व रिकॉर्ड बनाया है. कुंभ के ऑफिशियल पेज से इसका एक वीडियो भी शेयर किया गया है जिसमें 510 बसों का कोफिला एक साथ निकलता दिख रहा है. शहर के बाहर बने पार्किंग स्थलों से श्रद्धालुओं को लाने के लिए पहली बार बड़ी संख्या में एनएच-19 पर शटल बसें लगाई गई थीं. इनकी संख्या 100, 200, 300 नहीं बल्कि 510 थीं. इन पर कुंभ का लोगो और पोस्टर लगे हुए थे.

ये सभी बसें 3.2 किलोमीटर तक एक लाइन में खड़ी हुई थीं. जिसने भी ये नजारा देखा बस देखता ही रह गया बता दें कि योगी सरकार ने कुंभ मेले के दौरान पर्यटकों को आने-जाने की सुविधा देने के लिए देश की प्रमुख आउटस्टेशन टैक्सी कंपनी-गोजो कैब्स के साथ करार किया है. भारत के 1000 से अधिक शहरों में सक्रिय गोजो कैब्स प्रयागराज में लोगों को कुंभ तक पहुंचा रही हैं. बता दें कि कुंभ मेले की सुरक्षा के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए हैं. चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जा रही है.

यहां बीस हजार से अधिक पुलिसकर्मी, छह हजार होमगार्ड, 40 थाने, 58 चौकियां, 40 दमकल स्टेशन, केन्द्रीय बलों की 80 कंपनियां और पीएसी की 20 कंपनियां तैनात की गयी हैं. आतंकवाद रोधी स्क्वाड के कमांडो, बम निरोधक दस्ता ओर खुफिया एजेंसियों को भी तैनात किया गया है. ये भी अपने आप में किसा रिकॉर्ड से कम नहीं है.

gyan vidhi PG college