बीकानेर 19 फ़रवरी ! ख्वाजा पीर पीरबख्श चिश्ती (रह.) का 7 वां उर्स मुबारक बुधवार को मोहल्ला चूनगरान मस्जिद में कुल की रस्म के साथ संपन्न हुआ । कुल की रस्म में जायरीन उमड़ पड़े । कुल की रस्म में जायरीन पर पवित्र जल का छींटा दिया गया ! संदल और शीरनी पाकर जायरीन अभिभूत हो गए । कार्यक्रम में हाफ़िज़ कारी मौलाना पीर मोहम्मद शाकिर चिश्ती (रह.) का स्मरण किया गया ।

कुल की रस्म में सज्जादानशीन पीर गुलाम अल्लाह बख्श चिश्ती ने चिश्ती बाबा का शिजरा पढ़ा । मस्जिद के इमाम कारी मोहम्मद साबिर चिश्ती ने फातेहा पढ़ी । क़ारी मोहम्मद शोएब चिश्ती ने मुल्क में अमन चैन की दुआ की । कार्यक्रम में पीरजादा मुहम्मद सलीम चिश्ती, पीर हफीजुल्लाह चिश्ती सहित चिश्ती परिवार के गणमान्य शामिल थे । कार्यक्रम में हाफिज बिशारत अली, हाफिज शफीकुर्रहमान, हाफिज अब्दुल हमीद, हाफिज मोहम्मद फैज़ान ने कुरान का पाठ किया । मोहल्ले की मिलाद पार्टी ने चिश्ती बाबा की शान में मनकबत ” चिश्ती चिश्ती बोलता जा-डर किस्मत के खोलता जा” सुनाकर अभिभूत कर दिया । इससे पूर्व दोपहर में जोहर की नमाज़ के बाद मस्जिद में कुरानखानी एवं मिलादखानी का आयोजन किया गया ।

उर्स प्रवक्ता अशफ़ाक़ कादरी ने बताया कि उर्स के समापन पर, जायरीन ने चिश्ती बाबा के मजार पर चादर और अक़ीदत के फूल चढाकर अमन की दुआ मांगी । उर्स कमेटी की ओर से बड़ी देग चढ़ाई गयी जिसका तबर्रुक घर घर में बांटा गया । उर्स के अवसर पर लंगर के आयोजन किये गए ।