Bikaner News 25 January 2019
Bikaner Rajasthan Slider

बीकानेर सार समाचार : शुक्रवार, 25 जनवरी 2019

राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर उत्कृष्ट योगदान देने वाले कार्मिकों, मतदाताओं का किया सम्मान

OmExpress News / Bikaner / प्रत्येक मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर लोकतंत्र को मजबूत बनाने में अपना महत्ती योगदान दें। जिला निर्वाचन अधिकारी और जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने शुक्रवार को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर रवीन्द्र रंगमंच पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए यह बात कही। Bikaner Daily News

गौतम ने कहा कि एक वोटर के रूप में लोकतंत्र को मजबूत करना हम सबकी जिम्मेदारी है। लोकतंत्र की सबसे खुबसूरत बात यही है कि इसमें प्रत्येक वोटर का समान महत्व है। जो भी युवा 18 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुका है। वे अपना नाम मतदाता सूची में जुड़वाएं और आगामी लोकसभा चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग करें। उन्होंने कहा कि वोट देने की योग्यता प्राप्त करना अपने आप में नया जन्म लेने जैसी बात है युवा इस जिम्मेदारी का उत्सव का मनाएं।

उन्होंने कहा कि यदि आप मत देने नहीं जाते हैं तो एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में सरकार के कामकाज पर टीका टिप्पणी करने का नैतिक अधिकार खो देते हैं। इसलिए जरूरी है कि हम वोट देने के अपने अधिकार का प्रयोग करें। Bikaner Daily News

इस अवसर पर उप जिला निर्वाचन अधिकारी ए एच गौरी ने उपस्थित मतदाताओं को मतदाता दिवस व मतदान के महत्व के बारे में बताते हुए मतदाता सूची में अपना नाम जुड़वाने की प्रक्रिया की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव में जिले में रिकॉर्ड मतदाताओं ने चुनावी यज्ञ में हिस्सा लिया वे उम्मीद करते हैं कि आगामी लोकसभा चुनाव में जिले के मतदाता एक नया रिकॉर्ड बनाएंगे।

arham-english-academy

कार्यक्रम में अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) व बीकानेर विधानसभा क्षेत्र पश्चिम के रिटर्निंग अधिकारी शैलेन्द्र देवड़ा ने युवा मतदाताओं से अपने आसपास के सभी पात्र मतदाताओं के नाम भी मतदाता सूची में जुड़वाने की अपील की। कार्यक्रम में बीकनेर पूर्व विधानसभा क्षेत्र की रिटर्निंग अधिकारी मोनिका बलारा, नोखा के सहायक निर्वाचक पंजीयन अधिकारी द्वारका प्रसाद शर्मा को विधानसभा चुनाव में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए सम्मानित किया गया। साथ ही स्वीप गतिविधियों, मीडिया प्रकोष्ठ में कार्य के लिए कार्मिकों को भी सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर दिव्यांग मतदता देवीलाल, बाधू देवी, मोहनलाल प्रजापत, अब्दुल सत्तार मुगल व जिले की विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों से आए दो-दो नवमतदाताओं को सम्मानित किया गया। Bikaner Daily News

चार पीढि़यों को एक साथ किया सम्मानित

जिला कलक्टर ने 86 वर्षीय जैतून, उनकी 70 वर्षीया बेटी अनवरी, दोहिती मेहरून बानो तथा प्रदोहिती समीना को मतदान में अपनी भागीदारी देने के लिए एक परिवार की चार पीढि़यों को सम्मानित किया। इस अवसर पर मतदाता दिवस के उपलक्ष में आयोजित किए गए वाद-विवाद, चित्रकला, लेखन प्रतियोगिताओं के विजेताओं को भी सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन संजय पुरोहित ने किया।

अंत में जिला कलक्टर ने उपस्थित लोगों को धर्म, भाषा, जाति से उपर उठकर बिना किसी प्रलोभन में आए अपने मताधिकार का प्रयोग करने की शपथ दिलवाई। इससे पूर्व जिला कलक्टर ने कलेक्ट्रेट परिसर से एनसीसी स्काउट की मतदान जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया।

एसकेआएयूः राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर ली शपथ

राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर शुक्रवार को स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के कुलसचिव ताज मोहम्मद राठौड़ के नेतृत्व में विश्वविद्यालय के अधिकारियों-कर्मचारियों ने शत-प्रतिशत मतदान की शपथ ली।

इस अवसर पर कुलसचिव ने लोकतंत्र में मतदान के महत्त्व के बारे में बताया तथा कहा कि कोई भी मतदाता, मतदान के अधिकार से वंचित नहीं रहे, इसके लिए संयुक्त प्रयास किए जाएं। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ समय से आमजन में मतदान के प्रति जागरुकता आई है और मतदान प्रतिशत में लगातार बढ़ौतरी हो रही है, लेकिन फिर भी इस दिशा में सतत प्रयासों की जरूरत है। उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग द्वारा मतदाता जागरुकता अभियान ‘स्वीप’ भी चलाया जा रहा है।

निदेशक (छात्र कल्याण) डाॅ. वीर सिंह ने राष्ट्रीय मतदाता दिवस के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि वर्ष 1950 में इसी दिन निर्वाचन आयोग की स्थापना हुई थी। इसी कारण वर्ष 2011 से प्रत्येक साल 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है। इस दौरान विश्वविद्यालय के प्रसार शिक्षा निदेशक डाॅ. एस. के. शर्मा, डाॅ. एन. के. शर्मा, डाॅ. दीपाली धवन, डाॅ. आई. पी. सिंह सहित डीन-डायरेक्टर, कार्मिक तथा विद्यार्थी मौजूद रहे।

कृषि महाविद्यालय द्वारा लूनकरणसर में किसान गोष्ठी आयोजित – Bikaner Daily News

कृषि महाविद्यालय की ओर से राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत लूणकरनसर में किसान गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी में किसानों को दलहनी फसलों की जानकारी दी गई तथा दलहनी फसलों के उन्नत बीज उत्पादन व भंडारण के विषय में किसानों को जागरुक किया गया। परियोजन प्रभारी डाॅ. अनिल कुमार शर्मा ने कहा कि बीज किसान की आत्मा है, शुद्ध बीज से ही अच्छी पैदावार की संभ्ज्ञावनाएं प्रबल होती हैं। Bikaner Daily News

उन्होंन बीज उत्पादन में पृथ्थ्करण दूरी तथा रेगिंग के महत्व को भी बताया। उन्नत तकनीक से शुद्ध बीज उत्पादन के बारे में जानकारी दी तथा बताया कि अच्छे बीज से ही किसान उत्पादन व उत्पादकता की क्षमता को बढ़ा सकता है। पादप रोग विशेषज्ञ डाॅ. दाताराम कुम्हार ने फसलों में लगने वाले प्रमुख रोगों के बारे में बताया तथा बीज बुवाई से पूर्व बीजापचार के महत्त्व एवं इसकी विधि के बारे में बताया। उन्होंने खड़ी फसल में विभिन्न बीमारियों की रोकथाम एवं नियंत्रण के बारे में बताया।

परियोजना सहप्रभारी डाॅ. विजयशंकर आचार्य ने फसलों में लगने वाले प्रमुख कीटों एवं उनके नियंत्रण हेतु विभिन्न प्रकार के रासायनिक तथा जैविक कीटनाशियों के बारे में बताया। साथ ही बीज के प्रभावी एवं वैज्ञानिक ढंग से भंडारण की जानकारी भी दी। सहायक कृषि अधिकारी मामराम ने कृषि विभाग की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी। वरिष्ठ अनुसंधान अध्येता शिवभगवान विश्नोई ने परियोजनाओं के बारे में बताया।

Moot Court Gyan Vidhi

“सरकार बनाम कालूराम” मूट कोर्ट का आयोजन

सरकार बनाम कालूराम वगैरह के मामले में बरी ज्ञान विधि पी.जी. महाविद्यालय के छात्रों द्वारा आज दिनांक 25.01.2019 को सरकार बनाम कालूराम के मामले में मूट कोर्ट का मंचन किया गया। इस मामले के तथ्य इस प्रकार से थे कि पीड़ित रामनरायण और उसका भाई मांगीलाल दिनाक 18.01.2018 को अपने घर पर रात को सो रहे थे। रात के करीब 1.30 बजे रामनारायण की आॅख खुली तो उसने अपने घर में कुछ आवाज सुनी कमरे से बाहर आकर देखा तो दूसरा कमरा खुला पड़ा था तथा सामान बिखरा हुआ था। तथा दो व्यक्ति जिन्होने चेहरे पर नकाब पहन रखा था।

तथा पीड़ित द्वारा जिनका नाम कालूराम व भावेश बताया गया, कुछ -सजयूँ-सजय रहे थे। रामनारायण द्वारा उनसे पूछा कौन हो इस समय हमारे घर में क्या कर रहे हो। तब उन्होने परिवादी रामनारायण के साथ मारपीट शुरू कर दी तथा रामनारायण के कुल्हाड़ी की माथे पर मारी। रामनारायण चिल्लाया और कहा कि मार डाला। तब उसका भाई मांगीलाल जग गया और बाहर आकर देखा की उसका भाई रामनारायण कोने में पड़ा था। तथा दो व्यक्ति जिनका नाम कालूराम व भावेश बताया गया कुछ गहने व पैसे समेट रहे थे। इसको देखकर दोनो ने मांगीलाल के साथ मारपीट की।

तथा भावेश ने लाठी की मारी, मांगीलाल ने शोर मचाया तो कुछ पड़ोसी आये उनको देखकर दोनो भाग गये। पड़ोसी यासर व मांगीलाल ने पीछा किया किन्तु हाथ नहीं आये। उसके पश्चात इन दोनों घायलों को यासर व पड़ोसीयों द्वारा टेªक्टर में बिठाकर पास के अस्पताल में ले गये। अगले दिन पीड़ित द्वारा एफ.आई.आर दर्ज करवाई गई। इसके पश्चात पुलिस ने उनकी निशानदेही पर अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया तथा खून से सनी कुल्हाड़ी और एक लाठी बरामद की मामले का अनुसंधान कर पुलिस ने चालान पेश किया।

gyan vidhi PG college

माननीय न्यायालय ने मामले का विचारण किया तथा विचारण में गवाहों के बयानो में विरोधाभास पाया तथा विरोधाभासों के कारण अभियोजन पक्ष का मामला संदेह से परे साबित नहीं माना और संदेह का लाभ अभियुक्तों के पक्ष में दिया जाकर अभियुक्तों को बरी कर दिया। इस मूट कोर्ट के आयोजन में न्यायाधीश के रूप में विधि तृतीय वर्ष की छात्रा प्रिया सोनी, पेशकार के रूप में शिव मंगल और स्टेनों के रूप में धर्मवीर अभियुक्त के अधिवक्ता की भूमिका में राजकुमार, अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता की भूमिका में भागीरथ, अभियुक्त कालूराम की भूमिका में रविन्द्र व भावेश की भूमिका में बिक्रम आदि ने अपनी भूमिका अदा की।

इसी प्रकार से अभियोजन पक्ष के गवाह के रूप में यासर, ललिता, एस.एच.ओ. के रूप में छात्र राकेश तथा डाॅक्टर की भूमिका के रूप में छात्र उमांशकर ने प्रभावी भूमिका अदा की। इस मामले में अभियुक्त पक्ष ने तीन गवाह प्रस्तुत किये। जिसमें अभियुक्त का भाई भागीरथ, पड़ोसी के रूप में छात्रा कोमोलिका व अभियुक्तों के खेत पड़ोसी के रूप में प्रियंका ने भूमिका निभाई। इसके पश्चात दोनो पक्षों की बहस हुई। बहस के बाद में न्यायाधीश ने अभियोजन पक्ष का मामला संदेह से परे साबित नहीं माना और संदेह का लाभ अभियुक्तों के पक्ष में दिया जाकर अभियुक्तों को बरी करने का निर्णय सुनाया।

इस प्रकार से छात्रों ने अपराधिक मूट न्यायालय का मंचन कर न्यायालय में अपनाई जाने वाली प्रक्रिया को जाना व सम-हजया। इस अवसर पर मूट की कोर्ट की अध्यक्षता करते हुये प्राचार्य डाॅ. बी.एल. बिश्नोई ने कहा कि छात्रों का प्रयास सराहनीय रहा है तथा इस प्रकार के आयोजनों से छात्रों को व्यावहारिक जानकारी मिलती हैं उन्होने मूट कोर्ट मंचन को ओेेर भी प्रभावशाली बनाने के लिए मार्गदर्शन किया।

कार्यक्रम के अन्त में डाॅ. इकबाल अमहद उस्ता ने मूटकोर्ट मंचन को सराहा तथा इसके लिए स्टाफ को साधूवाद दिया। मूटकोर्ट मंचन व्याख्याता डाॅ सीताराम व श्री विद्याधर कुमार सैनी के निर्दे-रु39यान में किया गया। अंत में सचिव श्री ज्ञान प्रकाश बिश्नोई ने धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर व्याख्याता डाॅ. संतोष बिश्नोई, डाॅ. योगेश पुरोहित, श्री राकेश कुमार, श्री अशोक करनाणी, रतन लाल आदि भी उपस्थित थे।

इस प्रकार इस मूट कोर्ट के मंचन द्वारा छात्रांे ने विधि के व्यवहारिक ज्ञान को जाना एवं सम-हजया। अतः आज के इस मूट कोर्ट के कार्यक्रम में छात्रांे ने उत्साहपूर्वक भाग लिया तथा न्यायिक कार्यवाहियों को रूबरू देख, सुन व सम-हजय कर ज्ञान अर्जित किया।

प्रशिक्षण के दौरान प्राप्त ज्ञान का व्यावहारिक जीवन में करें उपयोगः प्रो. शर्मा 

राष्ट्रीय कृषि उच्च शिक्षा परियोजना के तहत कृषि महाविद्यालय द्वारा आयोजित ‘मधुमक्खी पालन’ विषयक सात दिवसीय प्रशिक्षण गुरुवार को सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने कहा कि कोई भी प्रशिक्षण तभी सार्थक होता है जब प्रशिक्षणार्थी, इस दौरान प्राप्त ज्ञान का व्यावहारिक जीवन में उपयोग करें। उन्होंने कहा कि मधुमक्खी पालन में अपार संभावनाएं हैं। Bikaner Daily News

विद्यार्थी इसे उद्यम के रूप में विकसित करें। उन्होंने एग्रो मैनेंजमेंट को आज की जरूरत बताया तथा कहा कि महाविद्यालय, इन प्रशिक्षणार्थियों का निरंतर फीडबैक लें तथा व्यावहारिक तौर पर आने वाली समस्याओं के समाधान के प्रयास करें।

shyam_jewellersकृषि महाविद्यालय के अधिष्ठाता प्रो. आई. पी. सिंह ने बताया कि सात दिवसीय प्रशिक्षण 18 जनवरी को प्रारम्भ हुआ। इसमें भारतीय कृषि प्रबंधन संस्थान, कृषि महाविद्यालय तथा कृषि विज्ञान केन्द्र के 28 विद्यार्थियों ने भाग लिया। इस दौरान विद्यार्थियों को झालावाड़ के उद्यानिकी महाविद्यालय, कोटा के कृषि अनुसंधान केन्द्र, अजमेर के राष्ट्रीय बीजीय मसाला केन्द्र तथा अजमेर के कृषि विज्ञान केन्द्र का भ्रमण करवाया गया। इस दौरान विद्यार्थियों को मधुमक्खी पालन पर आधारित व्यावहारिक ज्ञान दिया गया।

शैक्षणेत्तर कर्मचारी संघ के रतनसिंह ने कहा कि ऐसे प्रशिक्षणों से विद्यार्थियों के कौशल में विकास होता है। प्रशिक्षणार्थी राजेन्द्र कुमार ने प्रशिक्षण के दौरान प्राप्त अनुभव बताए। प्रशिक्षण के सहायक प्रभारी डाॅ. नरेन्द्र कुमार पारीक ने कहा कि सात दिवसीय प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षणार्थियों को विषय विशेषज्ञों का मार्गदर्शन भी मिला। उन्होंने राष्ट्रीय कृषि उच्च शिक्षा परियोजना के उद्देश्यों एवं इसके तहत आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों के बारे में बताया।

इस दौरान प्रायोगिक तौर पर एन्टरप्रेन्योर गतिविधियां करने पर रामचंद्र कुशवाहा, मनीष झा और रमनदीप सिंह को पुरस्कृत किया गया तथा सभी प्रतिभागियों को प्रमाण-पत्र दिए गए। इस दौरान डाॅ. राजेश शर्मा, डाॅ. मधु शर्मा, डाॅ. एल. एस. बारहठ, डाॅ. एन. एस. दहिया, डाॅ. पी. के. यादव, विक्रांत सिंह, महेन्द्र सिंह पंवार, भवानी सिंह, पुखराज जागरवाल सहित महाविद्यालय के शैक्षणिक एवं अशैक्षणिक अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।

आइएबीएम में बोर्ड आॅफ स्टडीज की बैठक आयोजित

भारतीय कृषि प्रबंधन संस्थान (आइएबीएम) में बोर्ड आॅफ स्टडीज (बाॅस) की बैठक गुरुवार को आयोजित हुई। एसकेआरएयू के कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा के मार्गदर्शन तथा आइएबीएम के अधिष्ठाता प्रो. एन. के. शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित बैठक के दौरान आइएबीएम में स्थापित पांच नए विभागों का अनुमोदन किया गया तथा इन विभागों के सुदृढ़ीकरण के संबंध में विचार विमर्श किया गया। अधिष्ठाता प्रो. शर्मा ने बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य की प्राप्ति में एग्रो बिजनेस की भूमिका अत्यंत महत्त्वपूर्ण है।

इसमें फसल उत्पादन में वृद्धि के साथ प्रसंस्करण, मूल्य संवर्धन और मार्केटिंग आदि शामिल हैं। उन्हांेने बताया कि संस्थान में सीटों की संख्या 40 से बढ़ाकर 60 कर दी गई है। ऐसे में शैक्षणिक गुणवत्ता में और अधिक सुधार हो, इस दिशा में मंथन किया गया।

बैठक में शुष्क बागवानी अनुसंधान केन्द्र के डाॅ. पी. एल. सरोज, कृषि मंत्रालय के सहायक निदेशक डाॅ. अविनाश वानम, डाॅ. विमला डुकवाल, डाॅ. दीपाली धवन, डाॅ. वाई. सुदर्शन, डाॅ. मधु शर्मा, डाॅ. शुचि माथुर आदि मौजूद रहे।

27 जनवरी को नि:शुल्क चिकित्सा शिविर में डेक्स स्क्रीनिंग एक्सरे होंगे फ्री – Bikaner Daily News

ह्रदय,स्पाइनल व दन्त रोगों कि नि:शुल्क चिकित्सा में 27 जनवरी 2019 को सुमित्रा देवी सीताराम बिहाणी की स्मृति में 27 जनवरी को बीकानेर जिला उद्योग संघ रानीबाजार औद्योगिक क्षेत्र में हृदय रोग, स्पाइनल रोगों तथा दन्त चिकित्सा का निशुल्क चिकित्सा शिविर लगेगा | इस शिविर में कई तरह कि आवश्यकता जांचे निशुल्क होगी | दन्त रोगियों कि सभी जाँच व दवाएं निशुल्क दी जाएगी इस दौरान डेक्स स्क्रीनिंग भी निशुल्क कि जाएगी |

दन्त चिकित्सा शिविर में डॉ. विनोद बिहाणी, डॉ. उर्वशी बिहाणी, डॉ. मुकेश ओझा, डॉ. कंचन पंवार, डॉ. जुनैद अहमद, डॉ. तनवी बिहाणी द्वारा निशुल्क दांतों का एक्सरे, दांत निकालने की भी सेवाएं प्रदान की जायेगी | हृदय रोग के लिए डॉ. देवेन्द्र अग्रवाल, डॉ. श्रवण सिंह अपनी सेवाएं देंगे और ई.सी.जी. के साथ जरूरतमंद व्यक्तियों के लिए ईको की भी निशुल्क सुविधा रहेगी | Bikaner Daily News

इसी तरह स्पाइनल रोगों जैसे साइटिका, स्लीप डिस्क,कमर में फेक्चर, स्पाइनल टीबी, सर्वाइकल स्पोंडीलाइसिस, कमर दर्द, पेरों में दर्द, पेरों में सूजन आदि का इलाज स्वीटजरलैंड, जर्मनी, आंध्रप्रदेश व चंडीगढ़ से प्रशिक्षित डॉ. मोहित बिहाणी स्पाइन सर्जन, डॉ. भूमिका बिहाणी, मधुविका बिहाणी व अन्य चिकित्सों द्वारा सेवाएं प्रदान की जायेगी | स्पाइन रोगी असमर्थ होने पर जांच एवं ओपरेशन कोठारी हॉस्पिटल में निशुल्क किये जायेंगे |

आयोजन सचिव डॉ. विनोद बिहाणी ने बताया कि समग्र चिकित्सा व्यवस्था निशुल्क रहेगी और पंजीकरण हेतु कोठारी अस्पताल के कालूराम 7023052159 एवं बीकानेर जिला उद्योग संघ के सावन पारीक 9828014340,मोनू गहलोत 8209181593 से सम्पर्क किया जा सकता है |

शंभू-शेखर सकसेना राज्य स्तरीय साहित्य-पत्रकारिता पुरस्कार समारोह 27 को, डॉ. कल्ला होंगे मुख्य अतिथि

शंभू-शेखर सकसेना सामाजिक विकास संस्थान का नौवां राज्य स्तरीय साहित्य एवं पत्रकारिता पुरस्कार समारोह 27 जनवरी को सायं छह बजे यहां टाउन हॉल में आयोजित किया जाएगा।

संस्थान की सचिव रेणु सकसेना ने बताया कि समारोह में मुख्य अतिथि जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी एवं भू-जल विभाग तथा ऊर्जा मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला होंगे। समारोह के विशिष्ट अतिथि राजस्थान सरकार के उच्च शिक्षा राज्यमंत्री भंवर सिंह भाटी होंगे तथा समारोह की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार भवानी शंकर व्यास ‘विनोदÓ करेंगे।

समारोह में विशेष आमंत्रित अतिथियों में पूर्व विधायक मानिकचंद सुराना, पूर्व मंत्री वीरेन्द्र बेनीवाल, महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. भगीरथ बिजारणियां, वेटरनरी विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डॉ. ए. के. गहलोत एवं राजस्थान राज्य अभिलेखागार बीकानेर के निदेशक महेन्द्र खडग़ावत होंगे।

समारोह में साहित्य का राज्य स्तरीय स्वर्गीय शंभूदयाल सकसेना साहित्य पुरस्कार डॉ. अखिलेश पालरिया, साहित्य का विशिष्ट पुरस्कार बीकानेर की आशा शर्मा को एवं राज्य स्तरीय स्वर्गीय शेखर सकसेना पत्रकारिता पुरस्कार सीकर के विनोद सिंह चौहान को व पत्रकारिता क्षेत्र का विशिष्ट पुरस्कार बीकानेर के श्याम मारू को प्रदान किया जाएगा।

कलक्टर ने किया औचक निरीक्षण, श्रम विभाग के अधिकारी मिले नदारद, कड़ी कार्यवाही के दिए निर्देश

जहां एक और राज्य सरकार लाखों रूपए की मदद देकर मजदूर, श्रमिक के लिए कल्याणकारी योजनाएं चला रही है वहीं, इन योजनाओं के क्रियान्वयन स्तर पर अफसरों की घोर लापरवाही देख कर खुद जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम भौंचक्के रह गए। शुक्रवार सुबह श्रम विभाग के जिला कार्यालय का निरीक्षण करने पहुंचे, जिला कलक्टर को उस समय बड़ी हैरानी हुई जब ऑफिस में एक भी सक्षम अधिकारी उपस्थित नहीं था। जानकारी लेने पर पता चला कि सभी अधिकारी बिना किसी पूर्व अनुमति के ही अवकाश चल रहे हैं।

जिला कलक्टर की हैरानी उस वक्त और बढ़ गई जब उन्हें पता चला कि मजदूर की बेटी की शादी, बच्चों की पढ़ाई और बीमारी के इलाज के लिए राज्य सरकार के नियमानुसार मिलने वाली आर्थिक मदद के करीब 20 हजार से ज्यादा आवेदन विभाग की फाइलों में दबे पड़े हैं। कार्यालय के चक्कर लगाते-लगाते हैरान परेशान मजदूरों की नींदे भले उड़ गई हो, लेकिन इन अधिकारियों की नींद नहीं खुली।

जिला कलक्टर सुबह 10.15 बजे जब कार्यालय पहुंचे और उपस्थित कर्मचारियों से पूछा कि संयुक्त श्रम आयुक्त कहां है तो कुछ देर तो कोई कर्मचारी जवाब देने की स्थिति में नहीं था। काफी जोर देने पर बताया गया कि संयुक्त श्रम आयुक्त ओ पी सहारण अवकाश पर है और उन्होंने अपना अवकाश जयपुर भेज दिया है। श्रम कल्याण अधिकारी अब्दुल सलाम के बारे में पूछने पर बताया गया कि वे अब तक आए नहीं है।

ऑफिस से कई बार फोन करने और फिर खुद जिला कलक्टर द्वारा पांच बार फोन करने के बावजूद श्रम कल्याण अधिकारी ने फोन उठाकर कोई जवाब नहीं दिया। श्रम निरीक्षक गोपालकृष्ण पालीवाल का भी यहीं हाल था। ऑफिस न पहुंचने की कोई सूचना नहीं थी और मोबाइल उठा नहीं रहे थे। जिला कलक्टर ने कहा कि मकान कहां है, बुलाकर लाओ तो कुछ देर तो कर्मचारी उनके घर का एड्रेस की जानकारी न होना बताते रहे और ज्यादा पूछने पर बताया कि पालीवाल भाप गांव के रहने वाले हैं और डेली अपडाउन करते हैं।

दस बार फोन करने के बाद श्रम कल्याण अधिकारी ने जवाब दिया कि उसका स्वास्थ्य खराब है। खांसी के कारण रात भर वे सो नहीं सके। इस पर जिला कलक्टर ने कहा कि बीस हजार लोगों को तो आपकी कार्यशैली के कारण वर्षों से नींद नहीं आ रही है। इनके बारे में भी सोचा करो कभी, कि गरीब श्रमिकों के आवेदन निस्तारित कर राज्य सरकार द्वारा दी जाने वाली राहत उन तक पहुंचाई जा सके।

जिला कलक्टर ने जब निरीक्षक पालीवाल को कई बार फोन किया तो उसने उठाकर कहा कि उसका स्वास्थ्य बीती रात खराब हो गया था इसलिए वह भाप गांव में अपना परीक्षण करवाने चला गया। वरिष्ठ अधिकारियों के कार्यालय में उपस्थित नहीं होने का यह सिलसिला चलता रहा। संयुक्त श्रम आयुक्त के निजी सहायक धनेश मार्कर भी स्वास्थ्य खराब होने के कारण अवकाश पर थे। जिला कलक्टर ने अधिकारियों के इस लापररवाह रवैए पर खिलाफ नाराजगी जताते हुए चारों अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

जिला कलक्टर ने उठाया लैंड लाइन फोन

कार्यालय के निरीक्षण के दौरान ऑफिस के हॉल में रखे फोन की घंटी बजी, तो गौतम ने फोन उठाकर कहा, मैं जिला कलक्टर बोल रहा हूं। सामने से राकेश गोयल बोल रहे थे जो कि अपनी छात्रवृति स्वीकृत होने की जानकारी लेना चाह रहे थे। गोयल ने बताया कि अप्रैल 2018 में उसने आवेदन किया था। मगर अब तक उसे छात्रवृति नहीं मिली है। Bikaner Daily News

गौतम ने सम्पूर्ण जानकारी लिखी और उपस्थित सूचना सहायक से इस प्रकरण को आज ही निस्तारित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि छात्रवृति का भुगतान आवश्यक रूप से हो जाना चाहिए और किस स्तर पर पेडेन्सी रही है, इसके बारे में उन्हें जानकारी दें, जिससे सम्बंधित के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जा सके।

आवेदनों की स्थिति जानने के लिए पहुंची महिला श्रमिक

जिला कलक्टर कार्यालय के प्रथम तल का निरीक्षण कर जब भूतल पर लगे कार्यालय की व्यवस्था देख रहे थे तो वहां आई महिला श्रमिकों ने अपने आवेदनों का निस्तारण काफी समय से लम्बित होने की शिकायत की। जिला कलक्टर ने कहा कि सभी श्रमिकों के आवेदनों की जानकारी लें तथा इनके आवेदनों के निस्तारण प्राथमिकता से करें।

भूतल कार्यालय में ऑफिस उपयोग का सामान कूलर, पेयजल साफ करने की मशीन आदि खोले भी नहीं गए थे। इस पर गौतम ने कहा कि जब इतना सामान खरीद लिया गया है तो यहां आने वाले श्रमिकों को पीने का साफ पानी तो उपलब्ध करवा दो। जिला कलक्टर जब कार्यालय से बाहर निकले तो स्थानीय नागरिकों ने सड़क व नालियां दुरूस्त कराने की मांग की।

उच्च शिक्षा विभाग (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री भाटी 26 को बीकानेर आएंगे

उच्च शिक्षा विभाग (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री भंवरसिंह भाटी 26 जनवरी को सायं 6 बजे नागौर (गोठड़ा) से प्रस्थान कर रात 9 बजे बीकानेर पहुंचेंगे तथा रात्रि विश्राम बीकानेर में करेंगे।

केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी 28 जनवरी को बीकानेर में

केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी 28 जनवरी को प्रातः 11 बजे विशेष वायुयान द्वारा नाल एयरपोर्ट पहुंचेंगे। वे यहां आयोजित होने वाले विभिन्न स्थानीय कार्यक्रमों में भाग लेंगे।

प्रभारी मंत्री 28 जनवरी को लेंगे बैठक

अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ् तथा जन अभियोग निराकरण एवं प्रभारी मंत्री शाले मोहम्मद 28 जनवरी को बीकानेर आएंगे। वे यहां जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ 12 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक लेंगे।

केन्द्रीय राज्य मंत्री गंगवार 28 जनवरी को बीकानेर में

केन्द्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संतोष कुमार गंगवार 28 जनवरी को बीकनेर आएंगे। वे यहां विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेंगे तथा वायुमार्ग द्वारा दिल्ली के लिए प्रस्थान करेंगे।