Bikaner Rajasthan Slider

बीकानेर सार समाचार : रविवार, 13 जनवरी 2019

शिक्षा के विकास में भामाशाहों सहयोग करे : डाॅ.कल्ला

ऊर्जा,जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी, कला एवं संस्कृति मंत्री डाॅ. कल्ला ने कहा कि शिक्षा के विकास में भामाशाहों का सहयोग हो तो शिक्षा में गुणात्मक सुधार आते हैं। धन का उपयोग परोपकार के कार्यों में जो लगता है वह पूण्य कमाता है और समाज उसे सदा याद रखता है। Bikaner News

डाॅ.कल्ला रविवार को हरोलाई हनुमान मंदिर के पास पुष्करणा बालिका छात्रावास की आधार शीला रखने के बाद पुष्करणा समाज ट्रस्ट की ओर से आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि शिक्षा के विकास के लिए जो दानदाता अपनी गाढ़ी कमाई का पैसा लगाता है,वह समाज को शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणीय बनाता ही है, साथ अन्य को इस कार्य के लिए प्रेरित भी करता है। सभी लोगों को अपने सामथ्र्य के अनुसार इस छात्रावास के लिए सहयोग राशि देनी चाहिए।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि भाग्यशाली लोग ही धर्माथ के कार्य में पैसा लगाते हैं। हर व्यक्ति यह दृढ़ निश्चिय कर ले कि वो अपनी कमाई का पांच प्रतिशत भाग धर्माथ के कार्य में लगाएगा। विशेषकर बालिका शिक्षा के विकास पर । Bikaner News

उन्होंने कहा कि बालिका छात्रावास के बन जाने के बाद राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं से जोड़कर आवासित बालिकाओं को और अधिक सुविधाएं दिलाने के प्रयास किए जायेंगे। यहां अन्य योजनाओं के माध्यम से अलग-अलग तरह के शैक्षणिक व स्वरोजगार पाठ्यक्रम संचालित करवाएं जायेंगे।

डाॅ.कल्ला ने पुष्करणा समाज ट्रस्ट की ओर से निर्मित होने वाले छात्रावास के लिए अपना केबिनेट मंत्री का पहला वेतन देने की घोषणा की । साथ ही उन्होंने कहा कि उनके परिवार के सदस्यों द्वारा दो कमरों का निर्माण करवाया जायेगा।  Bikaner News

इस अवसर पर पूर्व संरपंच रामकिशन आचार्य ने बताया कि इस बालिका छात्रावास के लिए डीएलसी दर पर भूमि का आवंटन नगर विकास न्यास द्वारा किया गया है। भवन का निर्माण हो जाने के बाद संभाग की पुष्करणा समाज की बालिकाओं को इसमें प्रवेश दिया जायेगा।

इस अवसर पर पूर्व न्यास अध्यक्ष महावीर रांका ने कहा कि छात्रावास के बनने से बालिका शिक्षा को बढ़ावा मिलेगा। पूर्व महापौर मकसूद अहमद ने कहा कि पुष्करणा समाज ट्रस्ट एक लम्बे समय से छात्रावास की भूमि के लिए प्रयासरत था,समय तो लगा मगर ट्रस्ट की इच्छानुसार उन्हें भूमि मिली है। पुष्करणा समाज अब इसे शीघ्र मूर्त रूप देगा।

छात्रावास के शिलान्यास समारोह में जिला पुलिस अधीक्षक प्रदीप मोहन शर्मा,राजेश चूरा,प्रदेश अध्यक्ष राजस्थान पुष्करणा ब्राह्मण परिषद महेश व्यास,मनोहर किराडू,जर्नादन कल्ला,ब्रज बल्लभ बिस्सा, परशु राम सेवा समिति अध्यक्ष नवरतन व्यास,मुरलीधर किराडू व जितेन्द्र आचार्य,रामनाथ आचार्य आदि ने भी विचार व्यक्त किया। समारोह का संचालन ज्योति प्रकाश रंगा ने किया।

पशुपालन कर्मचारी नेता कैलाश आचार्य ने पशुपालन विभाग की समस्याओं के समाधान के लिए ज्ञापन दिया। पुष्करणा बालिका छात्रावास निर्माण के लिए उपस्थित लोगों में विमल आचार्य,डाॅ.राहुल हर्ष,नवरतन व्यास,नरसिंह आचार्य,महेन्द्र चूरा आदि ने आवश्यक धन राशि देने की घोषणा की।  Bikaner News

मुक्ता प्रसाद नगर में 5 करोड़ रूपये के विकास कार्य होंगे : डाॅ.कल्ला

ऊर्जा,जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी, कला एवं संस्कृति मंत्री डाॅ. कल्ला ने कहा कि मुक्ता प्रसाद नगर क्षेत्र में 5 करोड़ रूपये के विकास कार्य करवाएं जायेंगे। कार्य गुणवता के साथ समय पर पूरे हो जाएं,इसके लिए संबंधित विभाग को आवश्यक दिशा-निर्देश दे दिए गए हैं।

डाॅ.कल्ला रविवार को मुक्ता प्रसाद नगर में अपने अभिनंदन समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने बताया कि 4 करोड़ रूपये की लागत से सड़को का निर्माण तथा 1 करोड़ रूपये व्यय कर नालियों का निर्माण करवाया जायेगा। दोनों कार्यों के लिए संबंधित विभाग द्वारा आवश्यक कार्यवाही पूर्ण कर ली गई तथा ये कार्य शीघ्र शुरू हो जायेंगे।

उन्होंने कहा कि मुक्ता प्रसाद काॅलोनी में पानी की टंकी से घरों में पानी के कनेक्शन के सिस्टम में सुधार किया जायेगा। साथ ही काॅलोनी में सीवरेज के जो कार्य शेष रह गए हैं,उन्हें शीघ्र प्रारंभ करवाने के लिए आवश्यक कार्यवाही की जायेगीे। उन्होंने उपस्थित लोगों से कहा कि काॅलोनी के पार्क को विकसित करने के लिए एक कमेटी का गठन करें तथा कमेटी द्वारा सुझाए गए कार्यों को करवाया जायेगा।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि बीकानेर के विकास के लिए वे कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे। आम लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए वे हर समय उपलब्ध है। अगर किसी व्यक्ति कोई समस्या हो तो वे मुझे ई-मेल के माध्यम से जानकारी दे सकते है। समस्या का समाधान होने पर उन्हें ई-मेल के माध्यम से जानकारी दी जायेगी। इस अवसर पर अरविन्द मिढ़ढा सहित बड़ी संख्या में गणमान्य लोग उपस्थित थे।

गाय को हमारी कृषि का आधार ही नहीं बल्कि हमारी संस्कृति का आधार भी माना गया है : मेघवाल

प्रदेश में अनार्थिक गौवंश को उत्पादक बनाने के लिए गोबर से जैविक खाद एवं गोकाष्ठ तथा गौमूत्र से कीटनाशक तथा बैलों से विद्युत उत्पादन कर गौवंश को आर्थिक दृष्टि से फायदेमंद बनाया जा सकता है | इससे आवारा गौवंश की समस्या का स्थाई समाधान हो सकेगा | यह बात रविवार को राजस्थान गौसेवा परिषद के मंच से वक्ताओं ने एक स्वर में कही | इस सम्मेलन में प्रदेश के गौशाला प्रबंधक एवं पशुपालकों ने हिस्सा लिया |

इस मौके पर भंवरलाल कोठारी की स्मृति में इनके द्वारा दिए गये योगदान को याद किया गया | राजस्थान सरकार के केबिनेट मंत्री डॉ. बी.डी.कल्ला ने राजस्थान गौसेवा परिषद् की और से गोबर- गौमूत्र से जैविक खाद व कीटनाशक के उपयोग के आंदोलन को समय की जरूरत बताया | उन्होंने कहा कि एक बोतल गौमूत्र 30 रूपये कीमत का होता है | जैविक खाद से कृषि को जैविक बनाया जा सकता है |

डॉ. कल्ला ने कहा कि गाय के गोबर और गौमूत्र से जैविक खाद-कीटनाशक एवं अन्य उत्पाद बनाने की नीति बनाने के लिए गौपालन मंत्रालय को लिखा जाएगा | पूरे प्रदेश में जैविक खाद उत्पादन एवं गौवंश से ऊर्जा उत्पादन को प्रोत्साहन दिया जाएगा | केन्द्रीय जल संसाधन राज्य मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि भारतीय संविधान के नीति निर्देशक तत्वों में गाय को हमारी कृषि का आधार ही नहीं बल्कि हमारी संस्कृति का आधार भी माना गया है | 1940 में नीति निर्देशों पर सर्वसहमती से गाय को शामिल किया गया है |

उन्होंने कहा कि बैल से बिजली उत्पादन हो सकता है | वे प्रयास करके गोबर गौमूत्र का स्टार्टअप एक्सपो के माध्यम से गाय के उत्पादों को प्रोत्साहित करने का काम करेंगे | इससे पूर्व संत रघुनाथ दास भारती ने कहा कि भारत कभी गरीब देश नहीं था | एक बार सरकार गाय की तरफ देखे समझें और करें तो आर्थिक विकास हो सकेगा | गोबर गौमूत्र, दूध, दही अमूल्य उत्पाद है | गाय के जीवन और आजीविका संभव नहीं है | भारती ने कहा कि कृषि को गाय से अलग करके कृषि एवं गाय दोनों को कमजोर किया है | गाय ऊर्जा की नैसर्गिक शक्ति है |

भारत सरकार रासायनिक खादों पर रोक लगा दें जिससे स्वत: ही जैविक खाद को बढावा मिलेगा | परिषद अध्यक्ष हेम शर्मा ने कहा कि गौवंश के आवारा होने की समस्या का समाधान गोबर गौमूत्र का मूल्य संवर्धन है | गोबर से जैविक खाद एवं गौमूत्र से कीटनाशक बनाकर इनसे पशुपालकों को पैसा दिलाया जा सकता है | इस मौके पर डॉ. ए. के. गहलोत, डॉ. त्रिभुवन शर्मा, ने भारतीय कृषि में गौवंश की भूमिका की विवेचना की |

हर्षवर्धन कोठारी ने भंवरलाल को गो संवर्धन में योगदान की जानकारी दी | इस मौके पर मेघराज सेठिया, द्वारकाप्रसाद पचीसिया, बाबूलाल जैन, अजय पुरोहित ने अतिथियों का स्वागत किया | दुसरे सत्र में जैविक खाद बनाने की विधियां एवं उपयोग पर डॉ, नरेंद्र पारीक, डॉ. हेमंत दाधीच, डॉ. इन्द्रमोहन, डॉ. त्रिभुवन शर्मा ने विचार रखे |

एसपी प्रदीप मोहन शर्मा का बीकानेर ब्राह्मण समाज द्वारा किया गया अभिनंदन – Bikaner News

बीकानेर पुलिस अधीक्षक के रूप में पदस्थापित होने के बाद बीकानेर जोईन करने पर एसपी प्रदीप मोहन शर्मा का बीकानेर ब्राह्मण समाज द्वारा सर्किट हाउस बीकानेर में भव्य स्वागत अभिनंदन किया गया। Bikaner News

बीकानेर ब्राह्मण समाज के संभागीय संयोजक के के शर्मा ने बताया कि बीकानेर पुलिस अधीक्षक के रूप में पदस्थापित होने के बाद बीकानेर जोईन करने पर एसपी प्रदीप मोहन शर्मा का बीकानेर ब्राह्मण समाज के एडवोकेट कुलदीप शर्मा, श्रवण पालीवाल तथा वाय के शर्मा योगी द्वारा साफा पहनाकर स्वागत किया गया। संभागीय संयोजक के के शर्मा, संभागीय अध्यक्ष देवेंद्र सारस्वत तथा पार्षद ओमप्रकाश राजपुरोहित द्वारा भगवान परशुराम का प्रतीक चिन्ह देकर अभिनंदन किया गया।

अंतरराष्ट्रीय ब्राह्मण फैडरेशन महिला प्रदेशाध्यक्ष सविता गौड़, शोभा सारस्वत तथा सुमन शर्मा द्वारा शाॅल ओढ़ाकर स्वागत किया गया। इग्नाइट निदेशक देवेन्द्र भारद्वाज, सूनील सारस्वत द्वारा बुके भेंट किया गया। Bikaner News

इस अवसर पर एसपी प्रदीप मोहन शर्मा ने कहा कि सामाजिक समरसता तथा वसुधैव कुटुम्बकम का समर्थक रहा है ब्राह्मण समाज। ब्राह्मण समाज ने सदैव न्यायपूर्ण सद्भाव से सर्व कल्याण के लिए भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति का मार्ग प्रशस्त किया है। एसपी प्रदीप मोहन शर्मा द्वारा बीकानेर ब्राह्मण समाज के स्नेह और गरिमापूर्ण सद्भाव सम्मान के लिए आभार व्यक्त किया गया।

एसपी प्रदीप मोहन शर्मा का टीएम ज्वेलर्स के नंदलाल सारस्वा खारड़ा, महाराजा गंगासिंह यूनिवर्सिटी छात्रसंघ उपाध्यक्ष राकेश शर्मा, मनीष गौड़, हेमन्त भारद्वाज, रमेश भार्गव, शेरेरां सरपंच परमेश्वर लाल सारस्वा, राजकुमार गुरावा बेरासर, घनश्याम पंचारिया बज्जू, राजकुमार उपाध्याय मेघासर तथा रवि गौड़ द्वारा माला पहनाकर एवं दुपट्टा पहनाकर भव्य स्वागत अभिनंदन किया गया।