Bikaner Rajasthan Slider

बीकानेर सार समाचार : बुधवार, 16 जनवरी 2019

आधारभूत सुविधाओं के साथ गुंसाईसर को बनाएं नशामुक्त, वादमुक्त तथा स्वावलम्बी : प्रो. शर्मा

राज्यपाल एवं कुलाधिपति के निर्देशानुसार स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय द्वारा मिशन अंत्योदय के तहत गोद लिए गुसांईसर गांव के विकास के संबंध में विभागों के अभिसरण एवं क्रियान्वयन की बैठक बुधवार को कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा की अध्यक्षता में कुलपति सचिवालय सभागार में आयोजित हुई। Bikaner News

इस दौरान कुलपति प्रो. शर्मा ने कहा कि कुलाधिपति की सोच के अनुरूप गुसांईसर को ऐसे गांव के रूप में विकसित किया जाए, जिसमें सभी आधारभूत सुविधाओं के अलावा सामाजिक एवं सांस्कृतिक समरसता रहे। युवाओं को कौशल विकास से संबंधित प्रशिक्षण दिया जाए, जिससे वे आत्मनिर्भर बन सकें। यह गांव पूर्णतया नशामुक्त तथा वादमुक्त हो। उन्होंने कहा कि गुंसाईसर प्रत्येक मामले में आदर्श गांव बने तथा दूसरों के लिए मिसाल प्रस्तुत करे। इसके लिए विश्वविद्यालय, विभिन्न प्रशासनिक विभागों एवं ग्रामीणों को पूर्ण समन्वय के साथ कार्य करना होगा।

प्रो. शर्मा ने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा गांव में जागरुकता के विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएं। इनमें सभी महत्त्वपूर्ण विभागों के अधिकारी मौजूद रहें। इस दौरान ग्रामीणों को केन्द्र व राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी जाए तथा ग्रामीणों को इनसे लाभांवित करने के प्रयास हों। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा स्किल डेवलपमेंट पर विषेष जोर दिया जाए तथा आरएसएलडीसी के साथ विभिन्न ट्रेड्स का प्रशिक्षण दें।

उन्होंने कहा कि ग्राम सभा में प्राप्त प्रस्तावों में से भू-रूपांतरण के मामलों में जिला प्रशासन द्वारा नियमानुसार कार्यवाही प्राथमिकता से करवाई जाए, जिससे गांव में आधारभूत सुविधाओं के विकास की ओर एक कदम बढ़ाया जा सके।  Bikaner News

अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) ए. एच. गौरी ने कहा कि ग्राम सभा की बैठक में प्राप्त प्रस्तावों के क्रियान्वयन के साथ प्रत्येक विभाग के अधिकारी गुंसाईसर में विकास की समग्र संभावनाओं को देखते हुए कार्ययोजना बनाएं। अधिकारी इस गांव का नियमित भ्रमण करें तथा आधारभूत सुविधाओं के विकास से संबंधित प्रस्ताव राज्य सरकार को भिजवाएं। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में कृषि एवं पशुपालन के क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं, इसे देखते हुए इस ओर विशेष प्रयास किए जाएं, जिससे खेतों में उत्पादन बढ़े तथा किसानों को लाभ हो।

अतिरिक्त कलक्टर ने कहा कि गांव में स्वयं सहायता समूह तथा यूथ क्लब आदि गठित किए जाएं। इनके माध्यम से स्वावलम्बन की विभिन्न गतिविधियों का आयोजन हो। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय और जिला प्रशासन के अधिकारी विजन के साथ कार्य करें, जिससे आदर्श गांव की परिकल्पना को साकार रूप दिया जा सके। आदर्श गांव में शत-प्रतिशत टीकाकरण हो, संस्थागत प्रसव को बढ़ावा दिया जाए। शत-प्रतिशत साक्षरता की दिशा में पहल हो तथा ओडीएफ की निरंतरता बनाए रखने की ओर कार्य किए जाएं।

विश्वविद्यालय के प्रसार शिक्षा निदेशक डाॅ. एस. के. शर्मा ने बताया कि गुसांईसर में ग्राम सभा की विशेष बैठक 15 अगस्त को आयोजित की गई थी। इस दौरान गांव में स्कूल, स्वास्थ्य केन्द्र तथा पशु स्वास्थ्य केन्द्र के क्रमोनयन, सीसी रोड तथा ओवरहेड टैंक निर्माण, कौशल प्रशिक्षण, टांकों को रूफ टाॅप वाटर हार्वेस्टिंग से जोड़ने सहित आधारभूत सुविधाओं से संबंधित विभिन्न प्रस्ताव प्राप्त हुए। इन प्रस्तावों के क्रियान्वयन हेतु रूपरेखा निर्धारण के लिए समन्वय बैठक आयोजित की गई।

कार्यक्रम प्रभारी तथा प्रसार षिक्षा उपनिदेशक डाॅ. सुभाष चंद्र ने गुंसाईसर में किए बेसलाइन सर्वे, गांव की सांख्यिकीय परिस्थिति, ग्राम सभा में प्राप्त प्रस्तावों आदि को पावर पाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से बताया। उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा गुंसाईसर में प्रसार षिक्षा की विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जाएगी। उन्होंने विश्वविद्यालय द्वारा पूर्व में गोद लिए गए बेनीसर गांव में हुए विकास कार्यों की जानकारी भी दी तथा कहा कि इसी तर्ज पर गुसांईसर में परम्परागत जल स्त्रोतों के संरक्षण सहित विभिन्न कार्य किए जाएंगे।

बैठक में कुलसचिव ताज मोहम्मद, जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रतिभा देवठिया, उपखण्ड अधिकारी मोनिका बलारा, संयुक्त निदेशक पशुपालन डाॅ. अषोक विज, उपनिदेशक कृषि डाॅ. उदयभान, पीडब्लयूडी के अतिरिक्त मुख्य अभियंता एस. पी. शर्मा, सहायक निदेशक उद्यानिकी डाॅ.जयदीप दोगने, विश्वविद्यालय के वित्त नियंत्रक बी. एल. सर्वा, आरसीएचओ डाॅ. रमेश गुप्ता, आरएसएलडीसी के अविकल शर्मा, जिला रोजगार अधिकारी हरगोविंद मित्तल, स्वच्छता समन्वयक पवन शर्मा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा विश्वविद्यालय के डीन-डायरेक्टर मौजूद रहे।

राज्य स्तरीय शंभू-शेखर सकसेना साहित्य एवं पत्रकारिता पुरस्कारों की घोषणा – Bikaner News

शंभू-शेखर सकसेना सामाजिक विकास संस्थान की ओर से वर्ष 2018 के लिए ९वें राज्य स्तरीय शंभू-शेखर सकसेना साहित्य एवं पत्रकारिता पुरस्कारों की घोषणा बुधवार को कर दी गई है। पुरस्कार समारोह 27 जनवरी को सायं छह बजे टाउन हॉल, बीकानेर में आयोजित होगा। Bikaner News

संस्थान की सचिव रेणु सकसेना ने बताया कि साहित्य के क्षेत्र में राज्य स्तरीय स्वर्गीय शंभूदयाल सकसेना साहित्य पुरस्कार के लिए डॉ. अखिलेश पालरिया की पुस्तक ‘डस्टबिन एवं अन्य कहानियांÓ का चयन किया गया है। डॉ. पालरिया को पुरस्कार स्वरूप 5100 रुपए, चांदी का मैडल और प्रशस्ति-पत्र प्रदान किया जाएगा।

साहित्य क्षेत्र के विशिष्ट पुरस्कार के लिए बीकानेर की आशा शर्मा की पुस्तक ‘तस्वीर का दूसरा रुखÓ का चयन किया गया है। उन्हें पुरस्कार स्वरूप 2100 रुपए, चांदी का मैडल और प्रशस्ति-पत्र प्रदान किया जाएगा।

संस्था सचिव सकसेना ने बताया कि पर्यावरण एवं जल संरक्षण के लिए उल्लेखनीय कार्य करने पर राज्य स्तरीय स्वर्गीय शेखर सकसेना पत्रकारिता पुरस्कार सीकर के विनोद सिंह चौहान को प्रदान किया जाएगा। उन्हें पुरस्कार स्वरूप 5100 रुपए, चांदी का मैडल और प्रशस्ति-पत्र प्रदान किया जाएगा। पत्रकारिता क्षेत्र का विशिष्ट पुरस्कार बीकानेर के श्याम मारू को प्रदान किया जाएगा। उन्हें पुरस्कार स्वरूप 2100 रुपए, चांदी का मैडल और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाएगा। संस्था सचिव ने बताया कि पुरस्कार समारोह 27 जनवरी को सायं छह बजे टाउन हॉल, बीकानेर में आयोजित होगा।

शिक्षकों के सामूहिक एवं व्यापक हितों के लिए प्रतिनिधि मण्डल ने की उच्च शिक्षा मंत्री से शिष्टाचार भेंट

रूक्टा (राष्ट्रीय) के प्रतिनिधि मण्डल ने उच्च शिक्षा मंत्री श्री भंवर सिंह जी भाटी से शिष्टाचार भेंट कर विभाग का मंत्री बनने पर स्वागत किया एवं आशा व्यक्त की कि उनके कार्यकाल में उच्च शिक्षा एवं शिक्षकों के सामूहिक एवं व्यापक हित में कार्य होगा।

प्रतिनिधिमंण्डल ने उच्च शिक्षा मंत्री से राजकीय महाविद्यालाय बारां में अतिरिक्त कलक्टर द्वार शिक्षकों के साथ किये गये अमर्यादित आचरण एवं दुव्र्यवहार की जांच की मांग की।

संगठन द्वारा एपीओं किये गये शिक्षकों को दुर्भावना पूर्वक पूर्वान्ह में कार्यमुक्त करने तथा आयुक्ताालय स्तर पर नियम विरूद्ध प्राचार्य को एपीओ करने पर आपत्ति व्यक्त करते हुए इस तरह की घटनाओं पर मंत्रीजी से संज्ञान लेने की मांग की।

मंत्री जी ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया कि प्राध्यापकों के साथी किसी प्रकार का भेदभाव एवं उत्पीड़न युक्त व्यवहार नहीं किया जायेगा, तथा शिक्षण संस्थाओं की गरिमा को बनाये रखा जायेगा।

उन्होनें उच्च शिक्षा के सर्वांगीण सुधार हेतु संगठन के सहयोग की अपेक्षा की। प्रतिनिधिमण्डल ने उच्च शिक्षा मंत्री जी को आश्वस्त किया कि उच्च शिक्षा एवं शिक्षकों के हित में जो भी रचनात्मक कार्य किये जायेगें उसमं संगठन का पूरा सहयोग रहेगा।

इस अवसर पर हाल ही में सम्पन्न रूक्टा राष्ट्रीय अधिवेशन में प्रकाशित पुस्तक “निज भाषा उन्नति अहैं” की प्रति भी भेंट की गयी।प्रतिनिधिमंडल ने आयुक्त काॅलेज शिक्षा श्री प्रदीप कुमार बोरड़ से भी भेंट कर उनका स्वागत किया। आयुक्त महोदय के साथ लंबी चली वार्ता में संगठन की ओर विश्वास दिलाया गया कि सभी शिक्षक उच्च शिक्षा संस्थानों में अकादमिक माहौल बनाने के लिये प्रतिबद्ध है।

संगठन ने प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के साथ-साथ महाविद्यालयों को श्रेष्ठ अकादमिक केन्द्र के रूप में विकसित करने हेतु शासन के सहयोग पर भी बल दिया।
संगठन के प्रतिनिधिमंडल ने विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष श्री गुलाब चन्द कटारिया एवं उपनेता श्री राजेन्द्र राठौड़ एवं श्रीमती किरण माहेश्वरी से मिलकर उन्हें भी बधाई एवं शुभकामनाएं दी। इन सभी नेताओं ने संगठन को बताया कि उच्च शिक्षा एवं शिक्षकों की समस्याओं के समाधान हेतु वे रचनात्मक विपक्ष के रूप में कार्य करेगें तथा निष्पक्ष रूप से सभी का हित सुनिश्चित करवाने का प्रयत्न करेगें।

संगठन के प्रतिनिधिमंडल में अध्यक्ष डाॅ. दिग्विजय सिंह, महामंत्री डाॅ. नारायण लाल गुप्ता, संगठन मंत्री डाॅ. दीपक कुमार शर्मा, सह संगठन मंत्री डाॅ. सुशील बिस्सु एवं प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य डाॅ. कमल मिश्रा व अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

मुक्ता प्रसाद नगर में सड़क निर्माण कार्य शुरू – Bikaner News

मुक्ता प्रसाद नगर में सड़क निर्माण का कार्य आज शुरू हुआ। मुहूर्त नगर विकास न्यास के पूर्व अध्यक्ष महावीर रांका द्वारा किया गया। इस दौरान स्थानीय पार्षद राजेंद्र शर्मा, महेंद्र सिंह, आनंद सोनी, मधुसूदन शर्मा, भगवती प्रसाद गौड़, शंभू गहलोत, जगदीश प्रसाद मोदी, जितेंद्र सिंह राजवी, विष्णु शर्मा, शिव गहलोत, विवेक अग्रवाल, श्रीराम जोशी, मुकेश मोदी व स्थानीय नागरिक उपस्थित थे। Bikaner News

विदित रहे इस सड़क निर्माण कार्य के टेंडर आचार संहिता लगने से पूर्व हो चुके थे, लेकिन कार्यादेश जारी नहीं हो पाया था। अब नगर निगम द्वारा कार्यादेश देकर कार्य शुरू करवा दिया गया है। आवासन मंडल के क्षेत्र को नगर निगम में हस्तांतरित किया जाने से क्षेत्र के लोगों में बड़ी खुशी है। उपस्थित नागरिकों ने महावीर रांका व भाजपा पदाधिकारियों का धन्यवाद ज्ञापित किया।

डूंगर काॅलेज में प्रायोगिक परीक्षायें 18 से

राजकीय डूंगर महाविद्यालय में बीएस.सी. प्रथम, द्वितीय एव तृतीय वर्ष के नियमित विद्यार्थियों की प्रायोगिक परीक्षायें 18 जनवरी से प्रारम्भ होने जा रही हैं। काॅलेज प्राचार्य ने बताया कि सभी परीक्षार्थी अपने परिचय पत्र गंगा सिंह विश्वविद्यालय की वेबसाईट से डाउनलोड कर साथ लाना आवश्यक है।

विद्यार्थियों को महाविद्यालय का परिचय पत्र आवश्यक रूप से साथ लाना होगा। प्राचार्य ने बताया कि इस संबंध में विस्तृत जानकारी विभिन्न विभागों के सूचना पट्ट पर चस्पा कर दी गयी है। किसी भी शंका निवारण हेतु प्रभारी अधिकारी डाॅ. देवेश खण्डेलवाल से प्राप्त की जा सकती है।

डूंगर काॅलेज में जिला युवा संसद के लिए वाॅक इन, स्क्रीनिंग

भारत सरकार के युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय के निर्देशानुसाा जिला युवा संसद का आयोजन 28 जनवरी 2019 को राजकीय डूंगर महाविद्यालय बीकानेर मे किया जायेगा। इस हेतु महाविद्यालय को नोडल संस्थान बनाया गया । जिला मोक युवा संसद में चयन क लिए 2 प्रकार की प्रक्रिया अपनाई जा रही है। प्रथम प्रक्रिया डिजिटर पोर्टल के माध्यम से है एवं दूसरी प्रक्रिया वाॅक इन स्क्रिनिंग के माध्यम से है डिजिटर पोर्टल के माध्यम से भाग लेने वाले विद्यार्थियों को डेढ से दो मिनट का विडियों वेब साईट ूूूण्पदवअंजमण्उलण्हवअण्पद पर अपलोड करना होगा।

इसके विषय स्वच्छता और गिव इट अप- प्रेरक परिवर्तन, आयुष्मान भारतः स्वास्थ्य क्षेत्र मे ंक्रान्ति, वित्तीय समावेशन कार्यक्रमों के माध्यम से गरीबी को कम करना – मुद्रा योजना, बीज से बाजार तक और भूमि पर प्रयोगशालाः किसानों की आय दुगुनी करना।

वाॅक इन स्क्रिंनिंग के माध्यम से भाग लेने वाले विद्यार्थियों को 17 से 19 जनवरी तक नोडल संस्थान मे होने वाली चयन प्रक्रिया में भाग लेना होगा। इसके विषय सामाजिक, आर्थिक, सशक्तिकरणः उपेक्षित का समावेश, महिला सशक्तिकरण, प्रोत्साहनः, बेटी बचाओं से सुकन्या समृद्धि से मुद्रा , सभी नागरिकों के सुगमता पूर्वक जीवन की सुनिश्चितता, शुन्य सहिष्णुता की नीति द्वारा भ्रष्टाचार नियंत्रण है। इसमें 18 से 25 तक की आयु वाले युवा भाग ले सकते है।

20 किशोरियों और महिलाओं ने लिया मेकअप का प्रशिक्षण

जन शिक्षण संस्थान, बीकानेर कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा संचालित मेकअप प्रशिक्षण कार्यक्रम का किसमीदेसर में बुधवार को समापन किया गया। महिला स्वरोजगार को बढ़ावा देने के उद्देश्य के साथ इस 75 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रशिक्षणर्थियों को मेकअप से संबंििधत सभी जानकारियां दी गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि वार्ड पार्षद नंदकिशोर गहलोत ने प्रशिक्षणर्थियों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि वे प्रशिक्षण के बाद स्वरोजगार के लिए स्वयं का ब्यूटी पार्लर शुरू कर सकती है।

इस मौके पर संस्थान के सहायक कार्यक्रम अधिकारी महेश उपाध्याय ने कहा कि प्रशिक्षण केन्द्र 1 नवम्बर से शुरू किया गया था। 75 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में मेकअप संबंधी सभी जानकारियां पाठ्यक्रम के अनुसार प्रतिभागियों को दी गई। संस्थान के उमाशंकर आचार्य ने कहा कि प्रशिक्षण में समय समय पर जीवन कौशल शिक्षा के बारे में जानकारी दी गई। जिससे इनका व्यक्तिगत विकास भी हो सके। अनुदेशिका श्रीमती जयश्री गहलोत ने प्रशिक्षण का प्रतिवेदन प्रस्तुत कर सभी प्रशिक्षणार्थियों को भविष्य में इस कार्य में और अधिक गति देने के लिए प्रोत्साहित किया।

कार्यक्रम में विषय विशेषज्ञ श्रीमती खुशी सोलंकी ने अपने अनुभवों से सभी को अवगत करवाया। इस अवसर पर नीतू चौपड़ा, ममता गहलोत, कविता जाजड़ा, गायत्री गहलोत और पिंकी सांखला ने अपने हुनर को भविष्य में आजीविका बनाने की बात कही। कार्यक्रम में अंत में सभी आगन्तुकों का आभार महिमा गहलोत ने प्रकट किया।

बीकेईएसएल के काॅरपोरेटिव आॅफिस व सागर रोड़ पर संचालित कमांड सेंटर का किया निरीक्षण

जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम ने कहा कि कमांड स्टेशन में इस तरह की तकनीक विकसित की जाए कि विद्युत सम्बन्धी फाल्ट होते ही तुरंत कमांड स्टेशन में बैठे कार्मिक को इसकी सूचना स्क्रीन पर दिखायी दे जावे और आमजन द्वारा शिकायत करने से पहले ही शिकायत चिन्हित होकर उसके निदान से सम्बन्धी कार्यवाही प्रारंभ हो जाए। Bikaner News

गौतम शुक्रवार को पवनपुरी काॅलोनी स्थित आॅफिस बीकानेर इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई लिमिटेड (बीकेईएसएल) के काॅरपोरेटिव आॅफिस व सागर रोड़ पर संचालित कमांड सेंटर का निरीक्षण करने के बाद अधिकारियों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कमांड सेंटर में लगे स्क्रीन एलईडी पर विद्युत आपूर्ति की सम्पूर्ण सूचना रहती है और किसी तरह की कमी आने पर यहां पता चल जाए कि किस क्षेत्र में विद्युत की आपूर्ति बाधित हुई है अथवा कोई और तकनीकी खराबी हुई है।

ऐसे में उपभोक्ता के फोन आने से पहले ही तत्काल ठीक करने की कार्रवाई अमल में लाई जा सके। उन्होंने कहा कि जब एलईडी पर 33 केवी की विद्युत आपूर्ति सम्बन्धी सम्पूर्ण सूचना डिस्प्ले हो रही है तो यह एक अतिरिक्त सुविधा भी विकसित की जा सकती है कि विद्युत खराब होने के बाद तत्काल ही कर्मचारी पहुंचकर उसे ठीक कर दे।

जिला कलक्टर ने निरीक्षण के दौरान जोधपुर विद्युत वितरण निगम के जोनल चीफ प्रेमजीत धोबी तथा कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी शांतनू भट्टाचार्य को निर्देश दिए कि विद्युत छीजत रोकने की दिशा में ठोस कदम उठाए जाएं, छीजत रूकने पर ही कम्पनी को बिजली का वास्तविक मूल्य मिल सकेगा और कंपनी उपभोक्ताओं को और अधिक बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करा सकेगी। उन्होंने कहा कि हैरिटेज रूट पर जहां खुले तार है और खम्भे लगे हुए हैं वहां उन्हें हटाकर अण्डरग्राउण्ड विद्युत तार बिछाने का कार्य प्राथमिकता से करें। साथ ही पुराने शहर में जहां घरों की छतों के आस-पास ही बिजली के तार है वहां से भी तत्काल तारों को हटाकर भूमिगत तार बिछाए जाएं।

निर्माण कार्यों की दें सूचना, प्रशासन का होगा सहयोग:

निरीक्षण के दौरान जिला कलक्टर ने बीकेईएसएल के अधिकारी को निर्देश दिए कि कम्पनी अगले 45 दिन में होने वाले निर्माण कार्यों की सूचना जिला प्रशासन को उपलब्ध करवाएं जिनमें खंभे स्थानांतरित करना, ढीले तार की जगह अण्डरग्राउण्ड फिटिंग करना तथा ट्रांसफार्मर स्थापित करने जैसे कार्य शामिल है। इनकी सम्पूर्ण जानकारी जिला प्रशासन के पास हो जाने से कंपनी को प्रशासन सहित पुलिस, नगर निगम व नगर विकास न्यास की ओर से आवश्यक सहयोग प्रदान करवाया जा सके जिससे कार्य शीघ्रता से पूर्ण हो सके।

मैं जिला कलक्टर बोल रहा हूं:

कमांड सेंटर में मंगलवार को कुल 321 शिकायतें दूरभाष के माध्यम से उपभोक्ताओं ने दर्ज करवा रखी थीं जिला कलक्टर ने उपस्थित अधिकारियों से पूछा कि सभी शिकायतों का निस्तारण हो गया क्या? तथा शिकायतकर्ता के मोबाईल नम्बर आपके पास है इसके बाद जिला कलक्टर ने कम्प्यूटर पर बैठकर दर्ज शिकायतों में से तीन व्यक्तियों से मोबाईल पर बात कर शिकायत के निस्तारण सम्बन्धी जानकारी ली।

गौतम ने मोबाईल पर सीधे ही उपभोक्ता से कहा कि मैं जिला कलक्टर बोल रहा हूं और आपने विद्युत सम्बन्धी शिकायत कल दर्ज करायी थी उसका निदान हो गया क्या ? उपभोक्ता ने ठीक होने की हां भरी। यह कमांड सेंटर 24 घण्टे कार्यरत है तथा मोबाईल के माध्यम से टोल फ्री नम्बरों पर आम उपभोक्ता विद्युत सम्बन्धी शिकायत दर्ज करवा सकता है। कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी शांतनू भट्टाचार्य ने बताया कि वर्तमान में 110 मेगावाट बिजली की जरूरत है जो मिल रही है।

16 घण्टे में हुआ कृषि कनेक्शन, 9 वर्षों से था लम्बित

जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम मंगलवार को जिले के छत्तरगढ़ उपखण्ड मुख्यालय पर जनसुनवाई कर रहे थे इस दौरान 2 डीपीएम के रहीम खां पुत्र इमामू खां ने जिला कलक्टर को आवेदन देकर बताया कि वर्ष-2010 में विद्युत कनेक्शन सामान्य हेतू आवेदन किया था जिसमें ट्रांसफार्मर लगाके मेरे यहां कृषि कनेक्शन होना था

इसके बाद 19 अप्रेल 2018 को 24 हजार 400 रूपए जमा करा दिए मगर आज (मंगलवार-15 जनवरी) तक मेरा कृषि कनेक्शन सामान्य नहीं हुआ है। जिला कलक्टर ने मौके पर उपस्थित अभियंता तथा उपखण्ड अधिकारी को निर्देश दिए कि रहीम खां के यहां आज ही विद्युत कनेक्शन हो जाए। जिला कलक्टर के निर्देश पर रहीम खां के यहां ट्रांसफार्मर लगा और कनेक्शन बुधवार सुबह 11 बजे हो गया। रहीम खां कनेक्शन होने से बेहद खुश है।

आरसीपी कॉलोनी में आउटरीच चिकित्सा शिविर में 119 लाभान्वित

आरसीपी कॉलोनी में यूपीएचसी बीछवाल की ओर से विशेष आउटरीच चिकित्सा शिविर आयोजित हुआ जिसमें 119 रोगियों को निःशुल्क चिकित्सा सेवाएं दी गयी। राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत आयोजित कैम्प में डॉ लक्ष्मीकान्त पुरोहित, डॉ रेखा श्रीवास्तव एवं उनकी टीम ने अपनी सेवाएं दी। शिविर में 19 मरीजो की रक्त जांच की गई। Bikaner News

कैंप में अधिकाधिक लोगों का स्वास्थ्य जांच करवाने के लिए क्षेत्र की आशा सहयोगिनियों और महिला आरोग्य समिति की सदस्यों ने घर-घर संपर्क कर सूचना दी। शिविर में राष्ट्रीय मुख स्वास्थ्य कार्यक्रम के डेंटल हाईजीनिस्ट संजय शर्मा व नन्दलाल इंदौरा द्वारा 24 व्यक्तियों की मुख स्वास्थ्य व फ्लोरोसिस सम्बन्धी जांच तथा एनपीपीसीडी के ऑडियोलोजिस्ट राजेन्द्र खदाव द्वारा 10 व्यक्तियों की कान सम्बन्धी समस्याओं की जांच की गई। लेखाकार तरुण बांठिया, पीएचएम गोपीचंद डेरू व एएनएम सरूपी देवी ने सक्रिय सहयोग दिया।

जैतून संबंधी कार्यशाला का दूसरा चरण सम्पन्न

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अंतर्गत ‘फसल कटाई के पश्चात जैतून का प्रबंधन एवं मूल्य संवर्धन’ विषयक कार्यालय का दूसरा चरण बुधवार को सम्पन्न हुआ। गृह विज्ञान महाविद्यालय के सामुदायिक प्रशिक्षण केन्द्र में आयोजित इस प्रशिक्षण में विभागाध्यक्ष डॉ मधु गोयल, प्रमुख निरीक्षक डॉ विमला डुकवाल, सहायक प्रोफेसर डॉ ममता सिंह, डॉ मधु शर्मा, डॉ मनमीत कौर ने जैतून के मूल्य संवर्धन, फसल कटाई, इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्वों तथा इसकी विपणन संबंधी संभावनाओं पर व्याख्यान दिए।

जयपुर के दुर्गापुरा स्थित राजस्थान आॅलिव कल्टिवेशन लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ योगेश वर्मा ने जैतून की पैदावार तथा मार्केटिंग संबंधी जानकारी दी। सीनियर फार्म मैनेजर सूरज कंवर, एसआरएफ डॉ नम्रता जैन, डॉ रूपम गुप्ता, ममता बिश्नोई, प्रिया यादव ने जैतून के विभिन्न पकवान, उत्पाद बनाने सिखाए। प्रशिक्षण के समापन समारोह में प्रसार शिक्षा निदेशक डॉ एस. के. शर्मा. ने विचार रखे। इस अवसर पर अनुसंधान निदेशक डॉ एस. एल. गोदारा, कृषि महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ.आई.पी. सिंह, गृह विज्ञान महाविद्यालय की अधिष्ठाता डॉ दीपाली धवन तथा मुख्य निरीक्षक डॉ विमला डुकवाल मौजूद रहे।