Bikaner Slider

बीकानेर सार समाचार : सोमवार, 17 दिसंबर 2018

शहीद किशनसिंह को दी भावपूर्ण श्रद्धांजली

मारवाड़ी युवा मंच मरुधरा के नेतृत्व में कश्मीर में शहीद हुवे अमर जवान किशन सिंह को कैप्टिन चंद्र चौधरी सर्कल पर नम आँखो से श्रद्धांजलि दी गई । प्रातः कड़ाके की ठण्ड में बीकानेर वासियों की उपस्थित उनके देश प्रेम ओर सेना के जवानो से उनका लगाव बया करती हे । Bikaner News

युवा मंच के सदस्य सोमेश सोमाणी के बताया जांबाज सपूत ने आतंकियों के खिलाफ जिस शौर्य से लड़ते हुवे स्वयं को न्यौछावर कर दिया उन जैसे जवानों के कारण ही भारत अखंड बना हुवा है।

शहीद के अंतिम दर्शन के लिए बीकानेर के अनेक समाज सेवी मारवाड़ी युवा मंच शाखा बीकानेर के अध्यक्ष शेखर पेड़ीवाल, सचिव महावीर सियाग, रोहित पच्चिसिया, तनुज सारस्वत, किशन लोहिया, शुभम, कपिल लढ़ा,अजय कुमार, रविन्द्र, श्री बीकानेर कच्ची आढत व्यापार संघ के अध्यक्ष जगदीश पेड़ीवाल, जयदयाल डूडी, सीताराम सियाग, भाजपा नेता मोहन सुराणा आदि गणमान्य लोग उपस्थित थे।

रतनगढ़ के भींचरी के लाल किशनसिंह जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद किशनसिंह का पार्थिव देह को सेना के विमान से नाल एयरपोर्ट पर लाया गया। शहीद का पार्थिव देह मिल्ट्री स्टेशन के मिल्ट्री होस्पिटल मे रखा गया।जहाँ से आज सुबह रतनगढ़ के भींचरी गांव ले जाया गया। जहां शहीद किशनसिंह का अंतिम संस्कार होगा। Bikaner News

बीकानेर से रवाना होने पर पार्थिव देह पर युवा समाज सेवी प्रहलाद जोशी के नेतृत्व में लोगों ने पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया। इस दौरान युवा समाज सेवी प्रहलाद जोशी ने कहा कि चूरू जिले के रतनगढ़ के जाबांज सपूत ने आतंकियों के खिलाफ जिस शौर्य से लड़ते हुए स्वयं को न्यौछावर कर दिया।किशनसिंह जैसे सैन्य जवानों के दम पर ही भारत अखंड बना हुआ है और बना रहेगा।

न सिर्फ चूरू बल्कि समूचा बीकानेर संभाग व राजस्थान अपने इस वीर की शहादत को सलाम करता है।युवा समाज सेवी प्रहलाद जोशी ने शहीद के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुवे कहा कि राष्ट्र इस परिवार के प्रति सदा कृतज्ञ रहे इस दौरान वंदेमातरम, शहीद किशनसिंह अमर रहे, जैसे नारों से बीकानेर गुंज उठा।

अन्तर मंत्रालयिक केन्द्रीय दल ने लिया सूखा प्रभावित क्षेत्रों का जायजा – Bikaner News

जिले में खरीफ फसल के दौरान कम वर्षा से हुए नुकसान का जायजा लेने तथा सूखा प्रभावित क्षेत्रा का दौरा करने के लिए सोमवार को अन्तर मंत्रालयिक केन्द्रीय दल बीकानेर पहुंचा। जल संसाधन मंत्रालय व केन्द्रीय जल आयोग के निदेशक (मॉनिटरिंग एंड एप्रेजल) पुनीत कुमार मित्तल के नेतृत्व में दल ने सोमवार को कलक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक की।

बैठक में जिला कलक्टर डॉ एन के गुप्ता ने पॉवर प्वांईट प्रजेंन्टेशन के माध्यम से जिले की तहसील वार सूखाप्रभावित स्थिति की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिले की नौ में से 8 तहसीलों के 258 गांव सूखा प्रभावित क्षेत्रा में शामिल किए गए हैं। राहत विभाग राजस्थान सरकार द्वारा घोषित सूखा प्रभावित क्षेत्रा में बीकानेर, लूणकनरसर, नोखा, कोलायत, पूगल, खाजूवाला, छत्तरगढ़ तथा बज्जू शामिल है।

डॉ गुप्ता ने बताया कि खरीफ फसल खराबा के तहत बीकानेर तहसील के 2 गांव, लूणकरनसर के 38 गांव, नोखा के 57 गांव, कोलायत के 11 गांव, पूगल के 4, खाजूवाला के 58, छत्तरगढ के 10 तथा बज्जू के 9 गांव प्रभावित क्षेत्रा में शामिल है। उन्होंने बताया कि इनमें 33 से 50 प्रतिशत फसल खराबा, 50 से 75 फीसदी व 75 से 100 फीसदी खराबा के अनुसार गांवों को अलग-अलग श्रेणी में वर्गीकृत किया गया है। Bikaner News

सर्वाधिक खरीफ खराबा लूणकरनसर तहसील में हुआ, जहां 87 हजार 343 हैक्टेयर क्षेत्रा प्रभावित हुआ। वहीं नोखा में 66 हजार 742 हैक्टेयर, कोलायत में 22 हजार 637, खाजूवाला में 62 हजार 695, बीकानेर में 6,172, छतरगढ़ में 24 हजार 199, बज्जू में 22 हजार 747 हैक्टेयर तथा पूगल में 4 हजार 841 हैक्टेयर क्षेत्रा प्रभावित हुआ। वर्ष 2018 में औसत वर्ष 254 मिमी हुई। जिला कलक्टर ने बताया कि श्रीडूंगरगढ़ तहसील सूखाप्रभावित क्षेत्रा में शामिल नहीं है।

मित्तल ने कहा कि खराबा होने पर पूरा मुआवजा मिले इसके लिए पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे। इसी क्रम में धरातल पर जानकारी लेने के लिए भारत सरकार द्वारा अध्ययन दल भेजा गया है, ताकि वास्तविक रिपोर्ट के आधार पर सम्बंधित किसानों, पशुपालकों को मदद मुहैया करवा कर उनके नुकसान की भरपाई की जा सके। उन्होंने बताया कि दल जिले के सम्बंधित क्षेत्रों में दौरा कर ग्रामीणों से बातचीत करेगा। उन्होंने नहरी क्षेत्रा में पानी के रेगुलेशन पर भी बात की।

दल में एफसीआई में डीजीएम अनिल ढिलों, नीति आयोग में इकोनॉमिक ऑफिसर लक्ष्मी गुप्ता तथा ग्रामीण विकास मंत्रालय के अंडर सेक्रेटरी एस बी तिवारी शामिल है। बैठक में बीकानेर पंचायत समिति प्रधान राधा देवी ने कहा कि सूखा प्रभावित क्षेत्रा में गिरदावरी प्रक्रिया की पूर्व में सूचना दी जाए ताकि जनप्रतिनिधि अपनी समस्याएं कार्मिक व अधिकारियों के सामने रख सकें। Bikaner News

जिला कलक्टर ने बताया कि लैंड रेवेन्यू एक्ट 1950 के तहत निश्चित समयावधि में गिरदारवरी की प्रक्रिया पूर्ण की जाती है। लैंड रेवेन्यू एक्ट 1950 लागू होने के बाद से ही 16 सितम्बर से 15 अक्टूबर तक खरीफ तथा 1 फरवरी से 5 मार्च तक रबी फसल की गिरदावरी की जाती है। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन ए एच गौरी, बीकानेर उपखंड अधिकारी मोनिका बलारा, 2 के एम डब्ल्यू के सरपंच राजेन्द्र बेनीवाल, 3 पीडब्ल्यू एम के सरपंच ओमप्रकाश सहारण, पहलवान का बेरा के सरपंच प्रभुसिंह सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

नोखा के मोरखाणा, बेरासर पहुंचा दल, ग्रामीणों से बातचीत कर जाना हाल

अन्तर मंत्रालयिक केन्द्रीय दल ने जिला कलक्टर डॉ गुप्ता के साथ नोखा के बेरासर व मोरखाणा का दौरा किया तथा अटल सेवा केन्द्र में ग्रामीणों से बात की। इस अवसर पर दल के प्रभारी जल संसाधन व केन्द्रीय जल आयोग के निदेशक (मॉनिटरिंग एंड एप्रेजल) पुनीत कुमार मित्तल ने ग्रामीणों से कम वर्षा से खरीफ की फसल में हुए नुकसान के बारे में जानकारी ली। ग्रामीणों ने बताया कि इस वर्ष वर्षा न के बराबर हुई। इस कारण खेतों में खरीफ बिजाई की लागत भी नहीं निकल सकी। इसके चलते किसान आर्थिक रूप से परेशान है। वर्षा के अभाव में चारे की पर्याप्त व्यवस्था न हो पाने के चलते पशुधन भी बेहाल है। Bikaner News

मित्तल ने कहा कि लगातार खराबा से हुए नुकसान से किसानों को मदद देने के लिए राज्य व केन्द्र सरकार प्रयासरत है। इस दिशा में वास्तविक अध्ययन के पश्चात रिपोर्ट प्रस्तुत की जाएगी तथा मुआवजे के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं भी की जाएगी। इस अवसर पर दल के साथ नोखा उपखंड अधिकारी श्योराम वर्मा, पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक अशोक कुमार विज, कृषि विभाग के उपनिदेशक उदयभान सहित पानी, बिजली सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

मुख स्वास्थ्य व फ्लोरोसिस के लिए 23 की हुई की जांच – Bikaner News

यूपीएचसी न. 1 अणचाबाई बाई अस्पताल की ओर से सोमवार को विशेष आउटरीच चिकित्सा शिविर आयोजित किया गया जिसमें 329 रोगियों को निःशुल्क चिकित्सा सेवाएं दी गयी। राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत सिक्कों के मोहल्ले में मदीना मस्जिद के सामने आयोजित कैम्प में डॉ अबरार पंवार, डॉ मुकेश जनागल, डॉ.इति माथुर एवं उनकी टीम ने अपनी सेवाएं दी। शिविर में 53 मरीजो की रक्त जांच एवं 8 बच्चों का टीकाकरण भी किया गया। कैंप में अधिकाधिक लोगों का स्वास्थ्य जांच करवाने के लिए क्षेत्र की आशा सहयोगिनियों और महिला आरोग्य समिति की सदस्यों ने घर-घर संपर्क कर सूचना दी। शिविर में डेंटल हाईजीनिस्ट संजय शर्मा द्वारा 23 व्यक्तियों की मुख स्वास्थ्य व फ्लोरोसिस सम्बन्धी जांच भी की गई।

छात्र-छात्राओं को शाला गणवेश व स्वेटर भेंट

सबको प्यार सबकी सेवा की सोच के साथ महावीर इन्टरनेशनल, बीकानेर केन्द्र के नेतृत्व में राजकीय नेत्रहीन विद्यालय, बीकानेर के छात्र-छात्राओं को शाला गणवेश व स्वेटर भेंट किये गये । कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए वीर पूर्ण चन्द राखेचा ने कहा कि सर्दी के मौसम में बच्चे केवल शर्ट/कुर्ता में ठंड से कांपते रहते हैं ।क्योंकि ठंड से बचने के लिए उनके पास केवल रजाई/कंबल होता है । Bikaner News

जिसे वो क्लास में नहीं लेकर आ सकतें,और बिना गर्म कपङो के ठंड से कराहते रहते हैं तथा क्लास में नहीं जा पाते हैं।तन को राहत पहुंचाने हेतु एवं शिक्षा से वंचित न रहे के लिए महावीर इन्टरनेशनल, बीकानेर केन्द्र। शाला गणवेश व स्वेटर मुहैया कराकर शिक्षित होने में सौजन्यदाताओ के माध्यम से सहयोग करता रहा है तथा करता रहेगा।जिससे बच्चे शिक्षित हो आगे बढ़ें तथा राष्ट्र निर्माण में सहयोगी हो ।

आज के सौजन्यदाता वीर बालकिशन जी खन्ना ने 70 शाला स्वेटर व 6 शाला गणवेश के साथ सभी छात्र-छात्राओं को बिस्कुट, केला व खजूर वितरित किया । अंत में शाला प्रधानाचार्या जनाब अल्ताफ अहमद खान ने भूरि भूरि प्रशंसा करते हुए आभार प्रकट किया ।वीर डॉ• महेन्द्र कुमार जैन, वीर बालकिशन खन्ना, वीर कल्याण राम सुथार, वीर नन्द किशोर साध, श्री आनंद सिंह चौहान, रहमत अली आदि की उपस्थिति सराहनीय रही ।

सूखा प्रभावित क्षेत्रों में पशुओं के लिए चारा सहजता से उपलब्ध हो, इसके लिए होंगे इंतेज़ाम

जिला कलक्टर डाॅ. एन.के.गुप्ता ने कहा कि खरीफ फसल के दौरान जिन गाँवों में नुकसान हुआ है, उन सूखा प्रभावित क्षेत्रों में पशुओं के लिए चारा सहजता से उपलब्ध हो, इसके लिए स्थानीय गो-शाला संचालकों से बातचीत की जाएगी। उन्होंने कहा कि गो-शाला संचालकों द्वारा चारा परिवहन करने पर उन्हें आने वाले खर्च में छूट प्रदान की जाएगी।
डाॅ. गुप्ता अन्तर मंत्रालयिक केन्द्रीय दल के साथ जिले की लूणकरनसर उपखण्ड के गांव कुजटी, सहजरासर तथा कागासर के सूखा प्रभावित क्षेत्र नागरिकों तथा जनप्रतिनिधियों के साथ बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कालू पशु चिकित्सालय में एक अतिरिक्त पशु चिकित्सक लगाने के लिए राज्य सरकार स्तर पर प्रयास किए जाएगें, जिससे इस क्षेत्र में पशुपालकों को अपने पशुओं को स्वास्थ्य परीक्षण के लिए सुविधा मिल सकेगी।  Bikaner News

केन्द्रीय अध्ययन दल ने खेत में जाकर देखी स्थिति

जिले में खरीफ फसल के दौरान हुए नुकसान का जायजा लेने आए केन्द्रीय अध्ययन दल के के अधिकारी पुनीत कुमार मित्तल, अनिल ढिल्लो, लक्ष्मी गुप्ता तथा एस.बी.तिवारी ने सेजरासर में काश्तकार के खेत में जाकर फसल खराबे की स्थिति को देखा साथ ही काश्तकारों से बातचीत कर खेत की भूमि के उपजाऊपन तथा उपयोग में ली जा रही खाद व यूरिया आदि के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त की। Bikaner News
केन्द्रीय दल को कुजटी, सहजरासर और कागासर के स्थानीय जनप्रतिनिधि नत्थीराम सीवर, राधादेवी सोनी आदि ने अपने-अपने क्षेत्र की समस्याओं के बारे में विस्तार से बताया। केन्द्रीय अध्ययन दल ने बीकानेर जिला मुख्यालय से लगभग 115 किलोमीटर दूर कागासर में भी लोगों के अभाव-अभियोग सुने।