Bikaner Rajasthan Slider

बीकानेर सार समाचार : बुधवार, 2 जनवरी 2019

शुद्ध पेयजल व गुणवत्ता युक्त बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित करें : डॉ कल्ला

OmExpress News / Bikaner / जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी व ऊर्जा मंत्री डॉ बी डी कल्ला ने कहा कि गांवों व शहरों में नाईट्रेट व फ्लोराइड मुक्त शुद्ध पेयजल व गुणवत्ता युक्त बिजली निर्बाध रूप से उपलब्ध करवाना सुनिश्चित किया जाए। Bikaner News

डॉ कल्ला बुधवार को कलेक्टेªट सभागार में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों में प्राथमिकता के आधार पर आरओ लगवा कर सभी को शुद्ध पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। पीने के पानी की बढ़ती मांग के अनुसार अधिकारी दीर्घकालीन योजना का प्रस्ताव तैयार कर राज्य सरकार को भिजवाए, जिससे अगले 25-30 सालों में जिले की आवश्यकता के अनुसार पानी की उपलब्ध करवाने के सम्बंध में काम किया जा सके। उन्होंने गर्मी के मौसम में हर शहर व गांवों के लिए कॉन्टीजेंसी प्लान बनाने के निर्देश दिए।

डॉ कल्ला ने कहा कि शहर के जिन क्षेत्रों में पानी की पुरानी टंकी को बदलने, मरम्मत या नई पाइप पाइप लाइन डालने की आवश्यकता है, इस सम्बंध में भी प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार भिजवाए जाएं, ताकि आवश्यक संसाधन उपलब्ध करवाए जा सके। सरफेस वाटर का अधिकाधिक इस्तेमाल हो तथा ट्यूबवेल के पानी को रिजर्व रखा जाए, जिससे आवश्यकता पड़ने पर इनका इस्तेमाल किया जा सके।

डॉ कल्ला ने पानी, बिजली, सड़क, ग्रामीण विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य सहित समस्त विभागों द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की प्रगति की जानकारी ली तथा अधिकारियों को निर्धारित समय में लक्ष्य प्राप्त करने के निर्देश दिए। डॉ कल्ला ने कहा कि अधिकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में अतिरिक्त गंभीरता से कार्य करते हुए यह प्रयास करें कि स्वीकृत योजनाएं समयबद्ध रूप से पूरी हो तथा वांछित व पात्र व्यक्ति योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ प्राप्त कर सकें। उन्होंने कहा कि योजनाओं की क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। Bikaner News

सफाई में न हो कोई ढिलाई

मंत्री ने कहा कि शहर में सफाई व्यवस्था की स्थिति भी अच्छी नहीं है। उन्होंने नगर निगम आयुक्त को शहर के पूर्व तथा पश्चिम दोनों विधानसभा क्षेत्रों में पर्याप्त संख्या में सफाई कर्मी लगाते हुए सफाई व्यवस्था दुरूस्त करवाने के निर्देश दिए।

डॉ कल्ला ने बीकानेर शहर में सड़कों की स्थिति की समीक्षा की तथा सड़कों की खराब स्थिति पर चिंता जताई और अधिकारियों को कहा कि तुरंत प्रभाव से मरम्मत करने योग्य सड़कों को दुरूस्त किया जाए तथा इस सम्बंध में न्यास, निगम तथा पीडब्ल्यूडी समन्वय कर कार्य करें, जिससे आमजन को कठिनाई का सामना नहीं करना पड़े। डॉ कल्ला ने इस सम्बंध में सम्बंधित अधिकारी की जवाबदेही तय करने के निर्देश दिए।

गंगाशहर, भीनासर सहित शहर के अन्य क्षेत्रों में चल रहे सीवरेज कार्यों की गति धीमी है इसमें तेजी लाते हुए समयबद्ध रूप से कार्य पूर्ण किए जाएं। जहां सीवरेज कार्य पूर्ण हो चुका है वहां सेटलमेंट कर सड़क निर्माण का कार्य किया जाए। सर्वोदय बस्ती में भी सीवरेज कार्य के लिए तत्काल कार्यवाही की जाए, जिससे आमजन को राहत मिल सके। सीवरेज का कार्य पूर्ण गुणवता के साथ पूरा हो, इसमें किसी भी प्रकार की कोताही मिलने पर सम्बंधित के विरूद्ध कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

न्यू बीकाणा और पशुपालन नगर को लेकर बनाए कार्ययोजना

डॉ कल्ला ने कहा कि शहर में पशुओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए पशुपालन नगर का विकास किया जाए। इसके लिए यूआईटी शहर के नजदीक भूमि चिन्हित कर पशुपालकों को न्यूनतम दर पर भूमि उपलब्ध करवाए। जहां पशुपालक अपने पालतू पशु रख सकें तथा शहर में पशुओं के कारण यातायात भी प्रभावित न हो तथा संभावित दुर्घटना से बचा जा सके। Bikaner News

डॉ कल्ला ने कहा कि शहर की बढ़ती आबादी के मद्देनजर न्यू बीकाणा विकसित करने के सम्बंध अगले साठ दिनों में कार्ययोजना तैयार कर प्रस्तुत की जाए। न्यू बीकाणा में स्टेडियम, पार्क सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध हो इसका ध्यान रखा जाए। जिन कार्यों में वितीय स्वीकृति प्राप्त नहीं हुई है उनके लिए पत्र भिजवाएं।

संडे हाट हो बंद

डॉ कल्ला ने कहा कि कोटगेट क्षेत्र में संडे हाट से नागरिकों को ट्रेफिक जाम की स्थिति का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि इस पर रोक लगे तथा वेंडरों को वैकल्पिक स्थान उपलब्ध करवाया जाए। साथ ही शहर के कोटगेज सहित हेरिटेज क्षेत्र में सौन्दर्य बनाए रखने के लिए बिजली पोल आदि को हटाकर केबल को अंडरग्राउण्ड किया जाए।

फड़ बाजार प्रकरण में न्यास करे अच्छे से पैरवी

डॉ कल्ला ने कहा कि फड़ बाजार मुहाने से दुकानंे हटवाने की कार्यवाही की गई तथा मुआवजे भी दिया गया। परन्तु अब दुकाने पुनः बन जाने से आमजन को परेशानी उठानी पड़ रही है। इस मामले में नगर विकास न्यास अच्छे से पैरवी करे ताकि लोगों को सहूलियत हो सके।

मनरेगा के क्रियान्वयन पर जताई चिंता

डॉ कल्ला ने मनरेगा के तहत जिले में हो रहे कार्यों की स्थिति पर असंतोष प्रकट करते हुए कहा कि बीकानेर के अकाल प्रभावित जिलों की श्रेणी में आने के चलते यह प्रयास हो कि मनरेगा के माध्यम से वांछित व्यक्ति न्यूनतम रोजगार प्राप्त कर सके।

मनरेगा के तहत सृजनात्मक कार्य करवाने की दिशा में पीडब्ल्यूडी सहित अन्य विभाग समन्वय कर कार्य करें। डॉ कल्ला ने प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, बीएडीपी के तहत चल रहे कार्यों की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि अधिकारी अपने स्तर पर बैठक लें तथा समय पर आवंटित पैसा व्यय कर लोगों को लाभान्वित करें।

मंत्री ने सीएमएचओ को जिले में चिकित्सा व्यवस्था सुदृढ़ रखते हुए पीएचसी व सीएचसी में आवश्यक दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने को कहा। उन्होंने कहा कि मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए भी कार्य किया जाए।

पात्र व्यक्ति को मिले एनओसी

ऊर्जा मंत्री डॉ कल्ला न्यास सचिव को निर्देश दिए कि 2012-13 में जिन व्यक्तियों को शिविर लगाकर पट्टे जारी किए गए थे, उनमें से एसीडी प्रकरणों के अतिरिक्त पात्र व्यक्तियों के अविलम्ब एनओसी दी जाए। इस कार्य में यदि किसी भी स्तर पर टालमटोल किया गया तो सम्बंधित के विरूद्ध सख्त अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी।

डॉ कल्ला ने कहा कि खेजड़ी वृक्षों के काटने पर पूर्ण रोक तथा हिरण सहित अन्य पशुओं के शिकार न हो इसके पुलिस तथा वन विभाग समन्वय कर पूर्ण मुस्तैदी के साथ कार्य करें।

विश्वविद्यालय बनाए साइकिल वेलोड्रम

डॉ कल्ला ने कहा कि महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय परिसर में एक बड़ा भूभाग वर्तमान में खाली पड़ा है इसमें से साइकिल वेलोड्रम के लिए भूमि का चिन्हीकरण कर विश्वविद्यालय साइकिल वेलोडम का निर्माण करवाएं। साथ ही, विश्वविद्यालय परिसर में स्पोटर्स कॉम्पलेक्स व ऑडिटोरियम भी विकसित किया जाए।

उन्होंने विश्वविद्यालय के उपरजिस्ट्रार डॉ बिठ्ठल बिस्सा को निर्देश दिए कि 41 करोड़ रूपए की लागत से प्रस्तावित स्पोटर्स कॉम्पलेक्स तथा ऑडीटोरियम का तकमीना व वितीय स्वीकृति की जानकारी जिला प्रशासन को उपलब्ध करवाई जाए, जिससे शीघ्र ही दोनों कार्यों के साथ ही साइकिल वेलोड्रम के निर्माण में जिला प्रशासन द्वारा राज्य सरकार से आवश्यक स्वीकृति प्राप्त कर शीघ्र ही शिलान्यास किया जा सके।

ताकि इनका फायदा यहां के विद्यार्थियों व निवासियों को मिल सके।डॉ कल्ला ने जिले के किसानों की यूरिया वितरण कर समस्या दूर करने तथा कालाबाजारी रोकने के निर्देश दिए। बैठक में जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम, पुलिस अधीक्षक सवाईसिंह गोदारा, आयुक्त नगर निगम प्रदीप गवांडे, मुख्य अभियंता जलदाय विभाग (प्रोजेक्ट) बी कृष्णन, मुख्य अभियंता जलदाय विभाग (शहरी) आई डी खान, मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद, अजीत सिंह राजावत, अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन ए एच गौरी, अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) शैलेन्द्र देवड़ा, बीकानेर उपखंड अधिकारी मोनिका बलारा सहित पानी, बिजली, शिक्षा, चिकित्सा, वन, कृषि, पशुपालन सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

रेलवे फाटक समस्या का शीघ्र किया जाएगा स्थायी समाधान – Bikaner News

जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी व ऊर्जा मंत्री डाॅ बी डी कल्ला ने कहा कि बीकानेर मुख्यालय पर रेलवे फाटक समस्या का शीघ्र स्थायी समाधान के प्रयास किए जायेंगे।
डाॅ कल्ला ने बुधवार को उतर-पश्चिम रेलवे के मुख्य अभियंता शेर सिंह मीना तथा नगर निगम आयुक्त प्रदीप गवांडे तथा नगर विकास न्यास सचिव राष्ट्रदीप यादव के साथ बैठक कर, कहा कि बीकानेर मुख्यालय स्थित रेलवे फाटक की समस्या का स्थायी समाधान करने की दिशा में ठोस कार्यवाही शीघ्र हो, इसके लिए तीनों अधिकारी संयुक्त रूप से मौका मुआयना कर ऐसी कार्ययोजना बनाए जिससे आर्थिक भार कम पड़े तथा जनता को शीघ्र ही इस समस्या से छुटकारा मिल सके।

डाॅ कल्ला कलक्टर कक्ष में जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम के साथ इस विषय पर चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि रेलवे फाटक की समस्या के निदान के लिए बाइपास निकालने की संभावनों पर त्वरित कार्यवाही शुरू की जाए तथा इस विषय पर जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम रेलवे तथा न्यास व नगर निगम के अधिकारियों के साथ शीघ्र बैठक कर इसकी विस्तृत कार्ययोजना बनाए।

इस सम्बंध में जिला कलक्टर रेलवे के उच्च अधिकारियों से बातचीत कर कोई ठोस निर्णय शीघ्र लेंवे। उन्होंने कहा कि रानी बाजार व सुभाषपुरा में रेल अंडरब्रिज बनाने का कार्य भी शीघ्र प्रारम्भ करने के लिए भी अधिकारी समन्वय से कार्य करें। नगर विकास न्यास दोनों रेल अंडरब्रिज पर 10 करोड़ रूपए व्यय करेगा। इसमें रानी बाजार रेल अंडर पास पर 6 करोड़ तथा सुभाषपुरा अंडर ब्रिज पर 4 करोड़ रूपए खर्च होंगे।

बीकानेर के औद्योगिक एवं चहुंमुखी विकास में आ रही समस्याओं के निपटान हेतु सौंपा ज्ञापन

बीकानेर जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष द्वारकाप्रसाद पचीसिया, राजस्थान वूलन इंडस्ट्रीज एसोशियेशन के अध्यक्ष कमल कल्ला एवं करणी इंडस्ट्रीज एसोशियेशन के अध्यक्ष महेश कोठारी ने ऊर्जा एवं जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. बुलाकीदास कल्ला द्वारा कलेक्टर सभागार में विभागीय अधिकारियों के साथ हुई मीटिंग में बीकानेर के औद्योगिक एवं चहुंमुखी विकास में आ रही समस्याओं के निपटान हेतु ज्ञापन सौंपा |

ज्ञापन में बताया गया कि आगजनी की घटनाओं से शीघ्र निजात पाने के लिए शिव वैली में अग्निशमन केंद्र की स्थापना की जाए, आतिशबाजी मार्केट के लिए भूमि उपलब्ध करवाई जाए, एक ही छत के नीचे टैंट व्यवसाय हेतु भूमि उपलब्ध करवाई जाए, जैन कोलेज से रानीबाजार औधोगिक क्षेत्र तक की सड़क का पेचवर्क करवाया जाए |

रानीबाजार औधोगिक क्षेत्र की रोड नम्बर 12 से पट्टी पेड़ा के मार्ग को आवागमन हेतु सुलभ करवाया जाए, रानीबाजार औद्योगिक क्षेत्र की पानी की लाइनें 45 से 50 साल पुरानी हो चुकी है को बदलाया जाए, रानीबाजार औद्योगिक क्षेत्र हेतु अलग से नई पानी की टंकी बनवाई जाए, करणी ओधोगिक क्षेत्र में पेयजल (पीने का पानी) आपूर्ति शोभासर जल संयंत्र से की जाए | जिस पर मंत्री महोदय डॉ. बी.डी. कल्ला ने उपस्थित सभी विभागीय अधिकारियों को जल्द ही सभी समस्याओं के निवारण के निर्देश प्रदान किए |

‘स्मृतिशेष नमन’ कार्यक्रम में वर्ष 2018 के दिवंगतों को सामूहिक श्रद्धांजलि – Bikaner News

प्रेरणा प्रतिष्ठान आचार्यों का चौक, शब्दरंग साहित्य एवं कला संस्थान और पर्यटन लेखक संघ के संयुक्त तत्वावधान में बीकानेर नगर की वर्ष 2018 में दिवंगत विभूतियों को सामूहिक श्रद्धांजलि अर्पित कर उनके कार्यों से नमन किया गया । कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए वरिष्ठ साहित्यकार लक्ष्मीनारायण रंगा ने कहा कि बहुत दुख होता है इन विभूतियों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए । इन विभूतियों ने हमारे नगर के वैभव को बढाया है ।

मुख्य अतिथि जनार्दन कल्ला ने कहा कि स्मृति शेष नमन कार्यक्रम अपने आपमें एक ऐसा यादगार एवं अनुकरणीय कार्यक्रम है जिसके कारण दिवंगत विभूतियों को सामूहिक याद करते हुए श्रद्धांजलि दी जाती है । इसके लिए ये संस्थाएं धन्यवाद की पात्र है । शिक्षाविद सत्यप्रकाश आचार्य ने कहा कि इस वर्ष हमने बहुत अच्छे नागरिकों को खो दिया है । इन विभूतियों ने हमारे शहर का मान बढाया है । अपने आपमें यह अनूठा कार्यक्रम है । विशिष्ठ अतिथि सखा संगम के अध्यक्ष एन.डी.रंगा ने दिवंगत विभूतियों को नमन करते हुए उनके जीवन से प्रेरणा लेने की बात कही ।

प्रेरणा प्रतिष्ठान के संरक्षक सेवानिवृत अपर पुलिस अधीक्षक लालचन्द जोशी ने प्रेरणा प्रतिष्ठान के संस्थापक अध्यक्ष डॉ.राजनारायण व्यास एवं पर्यटन लेखक संघ के संस्थापक एडवोकेट उपध्यानचन्द्र कोचर को याद करते हुए कहा कि वर्ष 2007 से इनके द्वारा शुरु किया गया यह कार्यक्रम अपने आपमें एक अलग पहचान रखता है । कार्यक्रम के प्रारम्भ में वरिष्ठ साहित्यकार भवानीशंकर व्यास ‘विनोद’ ने कार्यक्रम के बारे में विचार रखे ।

प्रेरणा के अध्यक्ष प्रेमनारायण व्यास ने इस कार्यक्रम की उपादेयता को प्रकट करते हुए बताया कि दिवंगत विभूतियों के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करना हमारा कर्तव्य है । इस वर्ष दिवंगत विभूतियों में वरिष्ठ पत्रकार बजरंग शर्मा, शुभू पटवा, ललित आजाद, समाज सेवा एवं शिक्षविद शिवरतन थानवी, गौरीशंकर अग्रवाल, गोवर्धनलाल चौमाल, केदारनाथ आचार्य, मुरारीलाल शर्मा, जेठमल नाई, बाबुलाल ओझा, जसकरण आर्य, डॉ.भंवर स्वामी, भगवानदास हर्ष, जे.पी.शर्मा, जीवराज सोनी, शकीना बेगम, लक्ष्मीनारायण पांडिया, शिक्षक नेता श्रीनाथ व्यास, खुशालचन्द व्यास, साहित्यकार श्रीलाल जोशी, वाणी गायक रुपचन्द रंगा, समाजसेवी शंकरलाल हर्ष, फुटबॉलर टीकमचन्द स्वामी, जामा मस्जिद इमाम हाजी गुलाम मोहम्मद, अर्थशास्त्री विजयशंकर व्यास, बैंकिंग सेवा के प्रह्लाद व्यास, प्रकाशन के क्षेत्र से दिनेश रंगा, गायन से ओम सोनी ‘गोरमेंट’, रतनदीप बिस्सा सहित नगर की दिवंगत विभूतियों का स्मरण करते हुए श्रद्धासुमन अर्पित किये गये ।

दिवंगत मनीषियों के व्यक्तित्व कृतित्व पर हरीश बी.शर्मा, डॉ.प्रकाश आचार्य, इरशाद अजीज, जानकीनारायण श्रीमाली, विप्लव व्यास, डॉ.एम.एल.व्यास, डॉ.मुरारी शर्मा, डॉ.एस.एन.हर्ष, आत्माराम भाटी, राजेन्द्र जोशी, कमल रंगा, शिवनामसिंह, इसरार हसन कादरी, डॉ.हरिशंकर मारु, आशीष व्यास, योगेन्द्र दाधिच, डॉ.महेन्द्र व्यास, राजेन्द्र आचार्य, ओम कुबेरा, संजय आचार्य ‘वरुण’, पवन सोनी, राजाराम स्वर्णकार, अरुण जोशी, कासिम बीकानेरी और महेश आर्य ने प्रकाश डाला । कार्यक्रम में दिवंगतों की स्मृति में दो मिनट का मौन रखा गया ।

कवि-कथाकार राजाराम स्वर्णकार ने अपनी कविता के माध्यम से आगत का स्वागत करते हुए सभी के प्रति आभार माना । प्रभावी संचालन कवि-कथाकार संजय आचार्य ‘वरुण’ ने किया । कार्यक्रम में डॉ.सीताराम गोठवाल, मुरलीमनोहर माथुर, बी.एल.नवीन, एस.पी.पुरोहित, श्रीमती कमला कोचर, चन्द्रशेखर जोशी, प्रतीक दाधीच, डॉ.अभयसिंह टॉक, कैलाश टॉक, डॉ.बसंती हर्ष, दीपक व्यास, श्रीगोपाल स्वर्णकार, गौरीशंकर सोनी, रवि व्यास, मधुरिमासिंह, जुगलकिशोर पुरोहित, ऋषिकुमार अग्रवाल, संजय श्रीमाली, ममता भारद्वाज, सुदर्शन सोनी, कोमल सोनी, प्रतीक स्वामी, घंश्यामसिंह, रामेश्वर सोनी, अविनाश व्यास, सुनील मोदी, विमला, उमा पुरोहित, प्रेम हर्ष, ओंकार हर्ष सहित सभी ने दिवंगतों को पुष्पांजलि अर्पित की ।

रबी 2018-19 हेतु 40 हजार मैट्रिक टन यूरिया का हुआ आवंटन

जिला बीकानेर को रबी 2018-19 हेतु 40 हजार मैट्रिक टन यूरिया का आवंटन किया गया है। उप निदेशक कृषि डाॅ.उदयभान ने बताया कि माह अक्तूबर में आवंटित 7000 मै. टन के विरूद्व 2222 मै. टन तथा माह नवम्बर, 2018 में 9000 के विरूद्व 8137 मै. टन यूरिया उपलब्ध हुआ है। जबकि माह दिसम्बर, 2018 में 10000 मै. टन के विरूद्व 15545 मै. टन यूरिया की आवक हुई।

उन्होंने बताया कि इस प्रकार माह अक्टूबर से दिसम्बर, 2018 तक कुल आवंटित मात्रा 26000 मै. टन के विरूद्व 25904 मै. टन यूरिया प्राप्त हो चुका है।
उपनिदेशक कृषि ने बताया कि माह जनवरी, 2019 हेतु कृषि आयुक्तालय जयपुर द्वारा 8000 मै. टन का आवंटन है,जिसमें से 3240 मै. टन बुधवार 02 जनवरी को प्राप्त हो चुका है।

उन्होंने बताया कि इसका वितरण किया जा रहा है।माह जनवरी हेतु कुल 15000 मै. टन यूरिया की मांग की गई है जिसकी आपूर्ति जिले को हो जाएगी। रविवार 06 जनवरी तक एक रैक और पहंुचने की संम्भावना है।

पुष्करणा चैलेंज कप – २०१९ : पुष्करणा एकेडमी और वीरदल ने जीते अपने मैच

पुष्टिकर खेलकुद आयोजन समिति द्वारा स्थानीय पुष्करणा स्टेडियम में आयोजित हो रही द्वितीय राज्य स्तरीय पुष्करणा चैलेंज कप-२०१९ क्रिकेट प्रतियोगिता के दुसरे दिन १६-१६ ओवरों के दो मैच खेले गए। अतिथि के रूप में महेन्द्र चूरा, आरती आचार्य, राजेश रंगा, गिररधर पुरोहित, आनंद व्यास व शिव कुमार बिस्सा उपस्थित रहे।

पुष्करणा एकेडमी बनाम मेवाड़ मालवा इलेवन

प्रतियोगिता के दुसरे दिन के पहला मैच १६-१६ ओवरों का खेला गया जिसमें पुष्करणा एकेडमी ने पहले बल्लेबाजी करते हुवें ७ विकेट गवाकर १६२ रन बनाए। जिसमें अनुराग ने ३५, शरद ने ३१ व विनीत ने २८ रनों का योगदान दिया। मेवाड़ मालवा की ओर से अर्जुन पुरोहित ने सर्वाधिक ३ विकेट लिए। १६३ रनों के लक्ष्य का पिछा करने उतरी मेवाड़ मालवा इलेवन मात्र ७५ रन ही बना पाई और पुष्करणा एकेडमी ने यह मैच ८७ रनों से जीत लिया। अनुराग उपाध्याय को मैन ऑफ का खिताब दिया गया।

वीरदल बनाम नागौर इलेवन

प्रतियोगिता के दुसरे दिन के दुसरा मैच भी १६-१६ ओवरों का खेला गया जिसमें नागौर इलेवन ने पहले बल्लेबाजी करते हुवें १० विकेट गवाकर मात्र ६० रन ही बनाए। जिसमें शशिकांत ने १३ रनों का योगदान दिया। वीरदल ने मात्र ४ ओवरों में ही ६२ रन बनाकर यह मुकाबला १० विकेट से जीत लिया। वीरदल के केके बीस्सा शानदार ५३ रन बनाए और मैन ऑफ का खिताब अपने नाम कर लिया।

गुणवत्ता आश्वासन कार्यक्रम के तहत 3 दिवसीय संभाग स्तरीय प्रशिक्षण शुरू

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से सरकारी अस्पतालों में आने वाले रोगियों व आमजन को गुणवत्तापूर्वक सेवाएं व सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए चलाए जा रहे गुणवत्ता आश्वासन कार्यक्रम के तहत बुधवार को स्वास्थ्य भवन सभागार में तीन दिवसीय संभाग स्तरीय प्रशिक्षण शुरू हुआ। संयुक्त निदेशक डॉ. हरबंस सिंह बराड़ की अध्यक्षता में प्रशिक्षण 4 जनवरी तक चलेगा। प्रशिक्षण का उद्देश्य चिकित्सा संस्थानों का स्वच्छता को प्रोत्साहन और संक्रमण नियंत्रण करते हुए उच्च मानदंडों पर सेवाओं-सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करना है।

राज्य स्तर से क्वालिटी एश्योरेंस प्रकोष्ठ के अधिकारी यतेन्द्र शर्मा ने बताया कि अस्पताल में सुधार के क्रियाकलापों में सर्विस प्रोविजन, मरीजों के अधिकार, इनपुट, सपोर्ट सर्विसेज, क्लिनिकल केयर, संक्रमण नियंत्रण, गुणवत्ता प्रबंधन व आउटकम जैसे विशेष ध्यान देने के 8 बिन्दुओं (8 एरिया ऑफ कंसर्न) को विस्तार से समझाया।

एनयूएचएम सलाहकार नेहा शेखावत ने संस्थानों को दिए जाने वाले अंको व त्रिस्तरीय मूल्यांकन के बारे में बताया व नेशनल क्वालिटी एश्योरेंस चेक लिस्ट अनुसार संस्थानों में गुणवत्तापूर्ण सुधार हेतु कार्ययोजना प्रस्तुत की।

सीएमएचओ डॉ. बी.एल. मीणा ने बताया कि उक्त चेक लिस्ट के अनुसार संस्थानों को अंक दिए जा रहे हैं और तीन चरणों में सुधार कर सभी चिकित्सा संस्थानों को राष्ट्रीय मानदंडों के बराबर लाया जाएगा जिससे आमजन को अधिक गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया होंगी।

प्रशिक्षण में डिप्टी सीएमएचओ परिवार कल्याण डॉ. योगेन्द्र तनेजा, डीपीएम सुशील कुमार सहित संभाग के चारों जिलों से पीएमओ, बीसीएमओ, एफआरयू सीएचसी प्रभारी व चुनिन्दा पीएचसी प्रभारी अधिकारियों व स्टाफ ने भाग लिया।

बजरी के अवैध खनन व परिवहन को सख्ती से रोकने दिए निर्देश

जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम ने बुधवार को कोलायत मुख्यालय स्थित सरकारी कार्यालयों का निरीक्षण किया और जनसुविधाओं में सुधार तथा आमजन के कार्य त्वरित निस्तारण करने निर्देश संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिए। उन्होंने भगवान कपिल मुनी मंदिर में दर्शन किए और कपिल सरोवर का अवलोकन करते हुए इसकी सफाई पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए।

गौतम ने कोलायत सामूदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण किया तथा वहां खराब एक्स-रे मशीन और 108 एम्बुलेंस दोनों को तत्काल ठीक करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस तरह की आवश्यक सेवाओं में ढिलाई और कमी रहना गंभीर मामला है। आवश्यक उपकरणों के खराब होने पर तत्काल सीएमएचओ को इसकी जानकारी दी जाकर व्यवस्थाओं को दुरूस्त करवाया जाए। उन्होंने सीएचसी में निःशुल्क दवा कीे उपलब्धता के बारे में भी जानकारी ली।

जिला कलक्टर ने उपखण्ड अधिकारी कार्यालय,तहसीलदार कार्यालय व पंचायत समिति कार्यालय का भी निरीक्षण किया तथा जनता से जुड़े कार्यों के बारे में जानकारी ली। उन्होंने इन कार्यालयों में कार्मिकों की समय पर उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए और कहा कि देरी से आने वाले कार्मिकों के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।

उन्होंने एसडीएम तथा तहसीलदार कार्यालयों की प्रशासनिक रिपोर्ट पर संबंधित अधिकारियों से चर्चा की और कहा कि राजस्व,नामान्तरण,खातेदारी से जुड़े प्रकरणों को समयबद्ध तरीके से निस्तारित किया जाए। उन्हांेने दोनोें ही कार्यालयों में न्यायायिक प्रकरणों की भी जानकारी ली।

अवैध बजरी खनन पर लगे अकुंश-जिला कलक्टर ने कोलायत क्षेत्र में बजरी के अवैध खनन और परिवहन को सख्ती से रोकने के निर्देश दिए और कहा कि उपखण्ड अधिकारी,पुलिस तथा खनन विभाग आपसी समन्वय रखते हुए इस संबंध में प्रभावी कार्यवाही करें। इस कार्यवाही का प्रभाव दिखाई देना चाहिए। उन्होंने कहा कि वे स्वयं इस क्षेत्र का औचक निरीक्षण करेंगे।

अगर बजरी का अवैध खनन और परिवहन होता पाया जाता है,तो संबंधित अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। सूरताराम की पेंशन हुई स्वीकृत-जिला कलक्टर जब तहसील कार्यालय का निरीक्षण कर रहे थे,तब वहां उन्हंे एक वृद्ध सूरता राम मेघवाल अपनी पंेशन स्वीकृति का आवेदन पत्र लिए दिखाई दिया। जिला कलक्टर ने सूरताराम को तहसील कार्यालय आने का प्रयोजन पूछा तो,उसने बताया कि वह पंेशन स्वीकृत कराने आया है।

इस पर जिला कलक्टर ने कहा कि आपकी पंेशन पंचायत समिति कार्यालय से स्वीकृत होगी। अतः आप अभी पंचायत समिति पहंुचे। जिला कलक्टर ने विकास अधिकारी को फोन पर निर्देश दिए कि सूरताराम मेघवाल पंचायत समिति पहुंच रहा है,उसकी वृद्धावस्था पेंशन आज ही स्वीकृत होनी चाहिए। जिला कलक्टर के निर्देश मिलने पर विकास अधिकारी ने पंेशन आवेदन की जांच के बाद तुरन्त पंेशन स्वीकृति के आदेश जारी कर,मेघवाल सौंप दिए।