Bikaner News 21 September
Bikaner Slider

बीकानेर सार समाचार : शनिवार, 21 सितम्बर 2019

म्हारो राजस्थान-समृद्ध राजस्थान अभियान : विविध विषयों पर 17 संस्थाओं में कार्यक्रम, कारागार में चिकित्सा शिविर

OmExpress News / बीकानेर / प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय मुख्यालय माउंट आबू के एवं राजयोगा एज्यूकेशन एण्ड रिसर्च फाउण्डेशन की ओर से आयोजित ’’म्हारो राजस्थान-समृद्ध राजस्थान अभियान का समापन रविवार को सुबह नौ बजे रानी बाजार के रिद्धि सिद्धि भवन में होगा। अभियान के तहत शनिवार को तीन विश्व विद्यालयों सहित विभिन्न सामाजिक, स्वयं सेवी संस्थाओं, चिकित्सालय व सेवा केन्द्रों में 17 कार्यक्रम हुए।

सभी कार्यक्रमों में देश के विभिन्न इलाकों से आए विषय विशेषज्ञों ने तनाव मुक्ति, सकारात्मक जीवन जीने, व्यसन मुक्त समाज की संरचना में सहभागी बनने, जल, उर्जा बचाने, उन्नत व पारम्परिक खेती के तरीके अपनाकर अधिकाधित उपज लेने, हृदय रोग सहित विभिन्न रोगों से बचने, तन, मन व देश को स्वच्छ, निर्मल बनाने का संदेश दिया। केन्द्रीय कारागार में रोगियों के स्वास्थ्य की जांच की गई तथा उन्हें निःशुल्क दवाइयां दी गई। अभियान के तहत बीकानेर में कम वर्षा के दौरान अधिक वर्षो तक प्राणवायु देने वाले खेजड़ी, पीपल आदि वृक्षों का रोपण किया गया।

अधिकतर सभी स्थानों पर राजयोग का ध्यान करवाया गया तथा सुख-शांति एवं आनंद का अनुभव करते हुए बेहतर जीवन जीने के तरीके बताएं गए।

पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्व विद्यालय में माउंट आबू के बी.के.राजयोगी सी.ए.ललित भाई ने कहा कि सकारात्मकता से खुशी मिलती है। जो करना चाहिए वो करते है, जो नहीं करना चाहते है वो नहीं करते है। यही सकारात्मकता है। राजयोग से हम अपने में शक्ति भर के सरकारात्मकता ला सकते है। आबू से आए बी.के.सुमंत भाई ने कहा कि सकारात्मक सोच का प्रभाव मानव ही नहीं पशु पक्षियों तथा पौधों पर भी पड़ता है।

सकारात्मक सोच से पौधे अधिक उपजाऊ होते है तथा पशु उसके पालक के लिए अधिक उपयोगी होते है। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की क्षेत्रीय प्रभारी बी.के.कमल ने कहा कि शरीर एवं पर्यावरण की स्वच्छता रखे, संतुलित एवं सात्विक आहार, गहरी, संतुलित नींद लें, शारीरिक व्यायाम, विश्वास के साथ परमात्मा का ध्यान करें। व्यसनों से मुक्त रहे । तनाव मुक्त जीवन जीएं तथा मन की शांति के लिए राजयोग का अभ्यास करें। सकारात्मक विचार रखे ।

synthesis bikaner

अभियान दल में आई मुंबई की डाॅ.भारती बेन. बी.के. मेघराज, राज सिंह,, योगेन्द्र भाई, पीलीबंगा की रानी बहन, चूरू की सुमन बहन, सागर, मध्यप्रदेश की नीलम बहिन, जयपुर की चित्रा बहन, हरीश भाई, कोलकाता के श्याम थापा, जयपुर के मोहित, भादरा के प्रदीप व माउंट आबू के बी.के.जगदीश ने विभिन्न स्थानों पर व्याख्यान दिया। केन्द्रीय कारागार में डाॅ. वेद गोयल व उनकी टीम ने सेवाएं दी। बंदियों के स्वास्थ्य की जांच की तथा उन्हें व्यसन मुक्त बनने का संदेश दिया।

महाराजा गंगा सिंह विश्व विद्यालय, स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्व विद्यालय, राजस्थान तकनीक विश्व विद्यालय, रामपुरिया जैन विधि महाविद्यालय, सिस्टर निवेदिता महाविद्यालय, वरिष्ठ नागरिक समिति, महिला आई.टी.आई. महारानी सुदर्शन महाविद्यालय, कोनिक्स एकेडमी,कोठारी अस्पताल, सी.एम.सी. , भारत विकास परिषद, वरिष्ठ नागरिक समिति, रोटरी क्लब व ब्रह्माकुमारी सेवा केन्द्र रानीसर में कार्यक्रम हुए।

सुबह सवा सात बजे से रात आठ बजे तक चले कार्यक्रमों में बड़ी संख्या में संस्थान के पदाधिकारियों व विद्यार्थियो ंने भागीदारी निभाई।
महाराजा गंगासिंह विश्व विद्यालय, कोठारी अस्पताल, कार्निक्स एकेडमी, रामपुरिया विधि महाविद्यालय, में बीके. चित्रा,बी.के.राजसिंह, केशवानंद राजस्थान कृषि विश्व विद्यालय में सी.ए.ललित भाई, सुमंत भाइ व बी.के. कमल ने किसान सशक्तिकरण सम्मेलन व तनाव मुक्ति पर विचार व्यक्त किए।

महाराजा गंगासिंह विश्व विद्यालय में बी.के.चित्रा व राजसिंह ने आॅडियो-वीडियों व अपने विचारों के माध्यम से तनाव मुक्ति का संदेश दिया। कुलपति भगीरथ सिंह ने कहा कि तनाव मुक्ति के लिए मन पर नियंत्रण करें। छात्र कल्याण संगठन के डाॅ.अभिषेक वशिष्ट, सहायक डीन डाॅ.प्रगति सोबती, प्रोफेसर छंगाणी, बिट्ठल बिस्सा ने वक्ताओं को स्मृति चिन्ह प्रदान किए।

कोठारी अस्पताल में वरिष्ठ न्यूरोसर्जन डाॅ.एल.ए.अग्रवाल, अस्पताल के उप महाप्रबंधक मनोज पांडिया, सहायक महाप्रबंधक मोहित जोशी, डाॅ.अनिल सोबती, डाॅ.शशि सोबती, डाॅ.सुनील लूथरा, डाॅ.करणवीर, डाॅ.प्रमिला, डाॅ.मंजरी और सीताराम राजपुरोहित आदि ने ध्यान व योग के माध्यम से तनाव मुक्ति के संबंध में चर्चा कर अपनी जिज्ञासाओं को दूर किया। रानीसर सेवा केन्द्र में शिक्षा विभाग की पूर्व अधिकारी सुमन सिंह, बी.के. जगदीश, सी.एन.सी. में बी.के.सुमन व बी.के.नीलम ने तनाव मुक्त व मूल्य शिक्षा पर विचार व्यक्त किए।

बीकानेर संभाग के म्हारो राजस्थान-समृद्ध राजस्थान अभियान का समापन रविवार 22 सितम्बर को सुबह नौ बजे औद्योगिक क्षेत्र रानी बाजार के रिद्धि-सिद्धि भवन में होगा। समापन पर अभियान की समीक्षा की जाएगा तथा अभियान में सेवाएं देने वाले विद्वानों, विषय विशेषज्ञों का अभिनंदन किया जाएगा।

garden city bikaner

लाॅयन क्लब बीकानेर की ओर से आयोजित हुआ निःशुल्क चिकित्सा शिविर

लाॅयन क्लब बीकानेर ने अपने सामाजिक सरोकार कार्यक्रम के तहत शनिवार को लाॅयन कल्ब में हद्य रोग निःशुल्क जांच और परामर्श चिकित्सा शिविर आयोजित किया। Bikaner News 21 September

चिकित्सा शिविर में मैदान्ता हाॅस्पिटल के हद्य रोग के एसोसियट डायरेक्टर एवं इन्टरनेशनल कार्डियोलोजी डाॅ.नागेन्द्र सिंह चैहान और डायरेक्टर कार्डियक सर्जरी डाॅ.सुरिन्द बजाज ने उपचार के लिए पहुंचे लोगों की हद्य रोग से संबंधी जांच की और रोगियों को अपनी दिनचर्या में बदलाव की सलाह दी। इस दौरान उन्होंने 78 रोगियों की जांच करते हुए 56 रोगियों का हार्ट रोगी के रूप में चिन्हीत किया। शिविर में लाॅयन कल्ब के अध्यक्ष

अनिल माथुर,सहयोगी लाॅयन बेजनाथ बाहेती, नवल राठी, राकेश, मनीष गेगल, राजेश मिड्डा , प्रो.एस.सी.जैन ने अपनी सेवाएं दी। लाॅयन कल्ब के अध्यक्ष अनिल माथुर शिविर में रोगियों की मधुमेह जांच,ब्लड प्रेशर व इ.सी.जी. निःशुल्क की गई। शिविर दो माह बाद फिर आयोजित होगा। इस दौरान लाॅयन क्लब के पदाधिकारियों ने शिविर में अतिथि चिकित्सक और अन्य स्टाॅफ का स्वागत एवं अभिनन्दन किया।

डाॅ.नागेन्द्र सिंह चैहान ने इस मौके पर बताया कि हार्ट अटैक की रोकथाम के लिए अभिनव दृष्टिकोण और अंततः उन्मूलन के लिए वैज्ञानिक खोज जारी रखे हुए है। सार रूप में हृदय रोगों को रोकने या कम करने के लिए योग और ध्यान तकनीक दुनिया भर में लोकप्रिय हो रही हैं। हृदय संबंधी विकारों के उपचार में योग के उपयोग से संबंधित नवीनतम अध्ययनों और हालिया साहित्य की समीक्षा भी की है।

तीव्र और पुरानी उच्च रक्तचाप से ग्रस्त रोगियों पर योग चिकित्सा के अध्ययन से तनाव, रक्तचाप से संबंधित रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल के स्तर और शरीर के वजन में महत्वपूर्ण कमी देखी गई। इस समीक्षा का उद्देश्य उच्च रक्तचाप, मोटापा और कोरोनरी हृदय रोग पर योग चिकित्सा के प्रभाव का मूल्यांकन भी किया है। उन्होंने बताया कि हमें अपनी दिनचर्या और खान-पान पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है।  Bikaner News 21 September

हृदय रोग में मृत्यु का प्रमुख कारण अक्सर जीवनशैली कारकों को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है जो एथेरोस्क्लेरोसिस या धमनियों के संकीर्ण होने का खतरा बढ़ाते हैं। धूम्रपान, खराब नियंत्रित उच्च रक्तचाप ( उच्च रक्तचाप ) और मधुमेह के साथ, कोरोनरी धमनियों की अंदरूनी परत की सूजन और जलन का कारण बनता है।

एसकेआरएयूः दो दिवसीय प्रशिक्षण सम्पन्न

स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के कृषि व्यवसाय प्रबंधन संस्थान (आइएबीएम) में ‘साइंटिफिक राइटिंग फोर एग्री बिजनेस प्रोफेशनल्स’ विषयक दो दिवसीय प्रशिक्षण शनिवार को सम्पन्न हुआ।

समापन सत्र के मुख्य अतिथि कुलपति प्रो. आर. पी. सिंह थे। उन्होंने कृषि पत्रकारिता को आगे बढ़ाने की आवश्यकता जताई तथा कहा कि नए अनुसंधान एवं तकनीक किसानों तक पहुंचें, ऐसे प्रयास हों। उन्होंने कहा कि लेखन हमेशा चुनौतीपूर्ण होता है, लेकिन कृषि क्षेत्र में लेखन के दौरान चुनौती अधिक बढ़ जाती है। इस फील्ड से जुड़े प्रोफेशनल्स को इसे समझना होगा। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी, ऐसे प्रशिक्षणों के दौरान पूरे मनोयोग के साथ सीखने का प्रयास करें तथा इस ज्ञान को व्यावहारिक जीवन में उतारें।

संस्थान निदेशक प्रो. एन. के. शर्मा ने बताया कि प्रशिक्षण के दौरान कुल नौ सत्र हुए, जिनमें अलग-अलग क्षेत्रों के विशेषज्ञों ने अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को कलम की ताकत को समझना तथा इसका सदुपयोग करना जरूरी है। सह संयोजक डाॅ. अदिति माथुर ने बताया कि प्रशिक्षण का आयोजन राष्ट्रीय कृषि उच्च शिक्षा परियोजना के तहत किया गया। संचालन विवेक व्यास ने किया। इस दौरान कुलपति ने प्रतिभागियों को प्रमाण-पत्र वितरित किए।

एसकेआरएयूः कुलपति ने की गुजरात के राज्यपाल से शिष्टाचार मुलाकात

कुलपति प्रो. आर. पी. सिंह ने हिसार में आयोजित कुलपतियों के राष्ट्रीय सिम्पोजियम के दौरान गुजरात के राज्यपाल श्री आचार्य देवव्रत से शिष्टाचार मुलाकात की।  Bikaner News 21 September

प्रो. सिंह ने बताया कि हिसार के चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय में ‘कृषि विश्वविद्यालयांे की रैंकिंग’ विषयक तेरहवीं नेशनल सिम्पोजियम (वाइस चांसलर्स कांफ्रेंस) 19-20 सितम्बर को आयोजित हुई। इसमें देश भर के 45 विश्वविद्यालयों के कुलपति अथवा उनके प्रतिनिधि मौजूद रहे। इंडियन एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटीज एसोसिएशन, नई दिल्ली द्वारा आयोजित कांफ्रेंस में विश्वविद्यालयों की रैंकिंग कैसे बढ़े, इस विषय पर मंथन किया गया।

कुलपति ने किया केवीके चांदगोठी का अवलोकन

स्वामी केशवानन्द राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर. पी सिंह ने शनिवार को कृषि विज्ञान केंद्र चाँदगोठी (चूरू) का अवलोकन किया।  Bikaner News 21 September

कुलपति ने ग्वार व मूंग बीज उत्पादन, बगीचा इकाई, अजोला इकाई, चारा इकाई व मृदा परीक्षण प्रयोगशाला का निरीक्षण किया। बीजोत्पादन कार्यक्रम को अधिक सुदृढ़ करने के लिए नयी किस्मों के बीज तैयार करने पर जोर दिया। विषय विशेषज्ञों के कार्यों की समीक्षा की तथा पूर्ण समर्पण के साथ कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कार्यालय समय तथा साफ-सफाई का ध्यान रखने तथा रबी अभियान 2019 शीघ्र प्रारम्भ करने को कहा। उन्होंने कहा कि कम से कम दस गांवों में इसकी शुरूआत हो तथा किसानों का इसकी जानकारी दी जाए। साथ ही इन गांवों में किसान चौपालें लगाने के निर्देश दिए।

Dahiya Dental Clinic

कुलपति ने पशुपालकों के लिए डी-वाॅर्मिंग एवं मिनरल मिक्चर्स प्रदर्शन आयोजित करने को कहा। केवीके फार्म पर बकरी पालन इकाई और नर्सरी इकाई की स्थापित की जा सके, इसके लिए प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने ग्रामीण युवाओं को प्रशिक्षण देकर उन्हें कृषि क्षेत्र में दक्षता प्रदान करने की जरूरत बताई। इस दौरान प्रसार शिक्षा निदेशक प्रो. एस. के. शर्मा साथ रहे। केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अध्यक्ष डाॅ. बलबीर सिंह ने केन्द्र की गतिविधियों के बारे में बताया।

प्रक्षेत्र दिवस आयोजित

कृषि विज्ञान केन्द्र बीकानेर की ओर से शनिवार को 26 जेडीएम-बी में हरे चारे की फसल ज्वार (सीजीएस-रतना) पर प्रक्षेत्र दिवस आयोजित किया गया। इसमें 25 किसानों एवं महिलाओं ने भाग लिया। इस दौरान कृषि वैज्ञानिक डाॅ. मदनलाल रैगर, डाॅ. उपेन्द्र कुमार मील और डाॅ. बी. एस. मिठारवाल ने खेतीबाड़ी की जानकारी दी तथा किसानों की व्यावहारिक परेशानियां जानी।

नवाह्न पारायण के 7 वें दिन शबरी और अशोक वाटिका की झांकिया भी हुई

पितृ पक्ष के पवित्र अवसर पर जाल की गली और इलेवन स्टार के सहयोग से शुरू हुए नवाह्न पारायण पर आज सातवें दिवस पर अरण्यकाण्ड,किष्किन्धा कांड और सुंदरकांड की चौपाइयां गूंजी ,जिससे बैठे मानसपाठी ओर श्रोता मन्त्र मुग्ध हो गए । पारायण में चल रहे अध्यायों के साथ दो झांकियों का भी आयोजन किया गया जिसमें शबरी- राम का मिलाप और अशोक वाटिका की झांकी तैयार की गयी ।

शबरी का चरित्र खुशबू शर्मा और राम लक्ष्मण का चरित्र विकास सेवग और मुदित मारू द्वारा निभाया गया ,वही दूसरी झांकी में अशोक वाटिका में भगवान हनुमान और माता सीता सहित अनेक कलाकारो के किरदार हुए जिनमें सीता का चरित्र वैदेही शर्मा और हनुमान का चरित्र गोपीकिशन सेवग ने निभाया । 9 दिनों तक चलने वाले इस पवित्र आयोजन पर शनिवार शाम की आरती के बाद का प्रसाद समाजसेवी राजकुमार ओझा द्वारा सभी भक्तों और मानसपाठीयो के लिए की गयी।

कार्यक्रम संयोजक रामेश्वर मारू ने बताया कि आगामी 2 दिनों में नवाह्न पारायण की चौपाईयोँ के साथ साथ अन्य झांकिया भी निकाली जाएगी ताकि बच्चे आनंदित होकर पाठ में सम्मिलित हो और भगवान के कार्यों और चरित्रों को समझने का प्रयास करें । 7 वें दिवस के पाठ पूर्ण होने पर भरत शर्मा, घनश्याम मारू, विजय मारू, पुरुषोत्तम मारू, भुवनेश चौहान ,अरुण श्रीमाली, राहुल सेवग आदि ने प्रसाद वितरित कर मानसपाठी और भक्तों सभी का पाठ पधारने हेतु आभार जताया । Bikaner News 21 September

टिड्डी से नष्ट हुई फसलो का मुआवजा दे : तोलाराम सियाग

युवा कांग्रेस लोकसभा उपाध्यक्ष तोलाराम सियाग ने आज मुख्यमंत्री श्री अशोक जी गहलोत को पत्र लिखकर बीकानेर जिले में टिड्डी से नष्ट हुई फसलों का मुआवजा देने की मांग की है ! Bikaner News 21 September

सियाग ने बताया कि बीकानेर जिले में टिड्डी ने हजारों किसानों की फसलों को चौपट कर दिया है सरकार के द्वारा टिड्डी नियंत्रण दल लगाने के बावजूद भी टिड्डी पर नियंत्रण नहीं कर पाए और टिड्डी ने किसानों के खेतों में खड़ी फसलों को नष्ट कर दिया जिससे किसानों की उम्मीदों पर पानी फिर गया किसानों को उम्मीद थी कि फसल बेचकर वह अपने घरेलू जरूरतों को पूरा कर लेगा लेकिन किसानों के पास अब घर चलाने के लिए कर्ज लेने के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं बचा है किसानों पर बरसे कहर में नष्ट हुई फसलों का निरीक्षण करवा कर किसानों को उचित मुआवजा दें ताकि किसान कर्ज में ना डूबे हैं !

5 माह का गर्भ लेकर बालिका जिला अस्पताल में भर्ती

लगभग 16 साल की एक किशोरी माह का गर्भ लेकर जिला अस्पताल में भर्ती हुई है। बाल अधिकारों के संरक्षण के लिए जिला मुख्यालय पर बाल कल्याण समिति और चाइल्ड हैल्पलाइन नामक दो संस्थाएं काम करती हैं, लेकिन इस बालिका को न्याय दिलाने के लिए इन दोनों संस्थाओं के पदाधिकारी नहीं पहुंचे हैं, जिससे यह संस्थाएं और इनके पदाधिकारी सवालों के घेरे में आ गए हैं।

नाबालिग से यौन संबंध स्थापित कर उसको गर्भवती कर देने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। 16 साल की यह बालिका अल्पसंख्यक समुदाय से है। बालिका के बीती रात जिला अस्पताल में भर्ती करवाए जाने की जानकारी सामने आई है। सूत्रों का कहना है कि इस मामले की सूचना बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष और चाइल्ड हैल्पलाइन को उसी समय मिल गई थी।

सूत्रों का कहना है कि इस सूचना के बावजूद आज शनिवार शाम तक बाल कल्याण समिति के पदाधिकारी और चाइल्ड हैल्पलाइन के कर्ता-धर्ता इस बालिका की सुध लेने नहीं पहुंचे। हैरानीजनक बात यह भी है कि जिला पुलिस भी चुप्पी साधे हुए है। संबंधित थानाधिकारी को भी यह जानकारी मिल चुकी है कि उसके क्षेत्र की 16 साल की बालिका 5 माह का गर्भ लेकर जिला अस्पताल में भर्ती है। सूचना को गुप्त रखने के कारण सामने नहीं आ रहे हैं, क्योंकि पुलिस और बाल कल्याण समिति के कुछ पदाधिकरी नहीं चाहते हैं कि इस मामले में कार्यवाही हो।

5 माह की गर्भवती बालिका का स्वास्थ्य इतना मजबूत नहीं बताया जा रहा है कि वह गर्भ में पल रहे शिशु को जन्म दे सके। उसकी जान को खतरा बन सकता है। यह संवेदनशील मामला है, किन्तु इस मामले में जिम्मेदार लोगों की चुप्पी क्यों है? यह समझ से परे है।