Bikaner Slider Uncategorized

बीकानेर सार समाचार : शनिवार, 24 नवंबर 2018

पूर्व मंत्री बेनीवाल विधानसभा क्षेत्र लूणकरसर के मतदाताओं से हुए रूबरू

OmExpress News / Bikaner / लूणकरनसर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व मंत्री वीरेन्द्र बेनीवाल ने कहा कि कांग्रेस शासन में लूणकरनसर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के गांव-गांव में शुद्धपेयजल की सुविधाएं दी गई। पेयजल समस्या का समाधान करने के लिए उनके कार्यकाल में बहुत से काम हुए। Bikaner News

पूर्व मंत्री बेनीवाल शनिवार को अपने समर्थकों के साथ खारडा,राजेरा,हेमेरा,शेरेरा,रूपेरा,रूणीया बड़ा बास, आसेरा,भोजेरा व नापासर में नुक्कड़ सभाओं में मतदाताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासन काल में लूणकरनसर के विकास के लिए बहुत से कार्य हुए।

उन्होंने कहा किनापासर,सुरतसिंहपुरा,मूण्डसर,सींथल,महाजन,शेरपुरा,मेघाना,सुलेरा,भीखनेरा,नोरंगदेसर,कालू, गारबदेसर,खिलेरिया,खोखराना,नाथवाना,जैसा,मेहराना सहित बहुत से गांवों में शुद्ध पेयजल मुहैय्या कराया गया। उन्होंने कहा कि दो दर्जन से अधिक गांवांे में वर्ष 2013 में शुद्ध पेयजल के लिए आर.ओ.लगवाए गए।

वीरेन्द्र बेनीवाल ने अपने कार्यकाल के दौरान हुए विकास कार्यों की जानकारी देते हुंए कहा कि नापासर में कृषि मण्डी स्वीकृत करवाकर निर्माण कार्य प्रारंभ करवाया गया था,लेकिन राज्य में नेतृत्व परिवर्तन के कारण व राजनैतिक इच्छाशक्ति के कमजोर होने की वजह से यह मण्डी पूर्ण विकसित नहीं हो सकी। इसके कारण किसानों को अपनी उपज बेचने के लिए बीकानेर शहर तक जाने में धन और समय दोनों का अपव्यय करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार की अनदेखी से ना सिर्फ इस क्षेत्र का विकास का सपना अधूरा रह गया है बल्कि रोजगार के नए अवसरों से भी क्षेत्रवासियों को वंचित होना पड़ रहा है।

इस दौरान खारडा में गोविन्द मूंड सरपंच प्रतिनिधि, रामनिवास कूकना, शिव कस्वा सरपंच प्रतिनिधी रामसर, लक्ष्मण गोदारा ,रूगनाथ ज्याणी जीवराज पुगलिया अर्जुन कूकना पूर्व ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष नापासर सहित गणमान्य प्रबुद्धजनों के साथ उन्होंने मतदाताओं से सम्पर्क किया। इस अवसर पर पूनमचंद मेघवाल और मोडाराम मेघवाल ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। Bikaner News

बेनीवाल रविवार को इन गांवों में करंेगे जनसम्पर्क -पूर्व मंत्री बेनीवाल रविवार को सुबह 8.30 बजे 264 आरडी,9.15 बजे हरियासर,9.30 बजे बीड संगरेऊ,9.45 बजे मोखमपुरा,10.30 बजे बडेरण, 11 बजे मनोहरिया,11.30 बजे शेरपुरा,12 बजे खोडा, दोपहर 12.30 बजे छीला,1 बजे सुंई,1.45 बजे ढाणी गोपेरा,2.15 बजे पुरवाणा,2.45 बजे करनाणा,अपरान्ह 3.15 दुलचासर,3.45 बजे बखुसर व 4.15 बजे महाजन में मतदाताओं एवं ग्रामीणों से सम्पर्क करेंगे। Bikaner News

मतदान केन्द्रों पर रहेगी व्यवस्थाएं दुरूस्त : डाॅ.गुप्ता

जिला निर्वाचन अधिकारी डाॅ एन.के.गुप्ता, व्यय पर्यवेक्षक प्रदीप शौरी आर्य तथा अख्तर रशीद और आईएएस पाटिल यलागौडा शिवनगौडा ने शनिवार को पोलीटेक्निक काॅलेज में आयोजित दूसरे दौर के मतदान कार्मिकों के प्रशिक्षण कार्यक्रम का निरीक्षण किया और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। Bikaner News

जिला निर्वाचन अधिकारी डा एन के गुप्ता ने कहा कि प्रथम चरण के प्रशिक्षण में आप सभी को अपना वोट डालने के लिए डाक मतपत्र का आवेदन दिया गया था,जिसे भरकर आप सभी को देना है। इसके आधार पर संबंधित विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र का मतपत्र दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि शत-प्रतिशत मतदान के लिए जरूरी है कि आप सभी अपने मत का प्रयोग करें।

डाॅ. गुप्ता ने कहा कि स्वतंत्र, निष्पक्ष और पारदर्शी चुनाव सम्पन्न कराने के लिए चुनाव ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी, अधिकारी अपने निर्धारित कर्तव्यों का पूर्ण निष्ठा के साथ पालना करें। चुनाव कार्मिक प्रशिक्षण के दौरान गंभीरता रखते हुए छोटी से छोटी बात की बारीकी से जानकारी लें तथा इस बात का विशेष ध्यान रखे कि मतदान प्रक्रिया का कोई भी हिस्सा प्रशिक्षण से छूटे नहीं,जिससे मतदान के दिन किसी भी प्रकार की समस्या आने पर वे हर स्थिति से निपटने में सक्षम हों।

उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण के दौरान अधिकारी माॅक पोल प्रक्रिया का पूर्ण प्रशिक्षण प्राप्त करें। मतदान दिवस को राजनीतिक दलों के अभिकर्ताओं व आम मतदाताओं को माॅक पोल प्रारम्भ करने से पहले ईवीएम को क्लीयर करके दिखाएं। माॅक पोल मतदान प्रारम्भ होने से एक घंटा पहले प्रारम्भ करें। साथ ही यह सुनिश्चित किया जाए कि माॅक पोल के समय कम से कम दो पोलिंग एंजेट उपस्थित हो। चुनाव कार्मिक पोलिंग एंजेट के उपस्थित होने का 15 मिनट तक इंतजार करें।

उन्होंने बताया कि माॅक पोल के दौरान यह सुनिश्चित किया जाए कि कम से कम 50 वोट डाले जाएं तथा कम से कम एक उम्मीदवार को तीन वोट जरूर डाले जाएं। माॅक पोल के समय मशीन में टोटल का बटन दबाकर कुल डाले गए वोट चैक किए जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि रिजल्ट आवश्यक रूप से डिस्प्ले करें तथा सीयू के साथ रिजल्ट का मिलान कर उपस्थित लोगों को संतुष्ट करें।

माॅकपोल का प्रमाण पत्र तैयार करें तथा सम्बंधित वीवीपैट पर्ची को माॅक पोल की रबर स्टाम्प लगाकर एक काले रंग लिफाफे में डाल कर सील कर दें। जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि माॅक पोल प्रक्रिया के बाद ईवीएम को क्लीयर करें तथा मशीन में वोटिंग के आंकड़े शून्य कर के एंजेट को दिखाएं। साथ ही वीवीपैट की स्लिप कम्पार्टमेंट को खाली करके अभिकर्ताओं को दिखाएं, ताकि वे पूर्ण रूप संतुष्ट हो सके। इसके बाद मशीन को क्लीयर करके स्वीच आॅफ करके सारी सीलिंग लगाएं। सारी सीलिंग करने के बाद ही सीयू का स्विच आॅन करें।

इसके बाद ईवीएम मतदान के लिए तैयार होगी। मशीन आॅन होते ही वीवीपैट से सात पर्चियां निकल बाॅक्स में गिरेंगी। इस बारे में भी पोलिंग एंजेट्स को जानकारी दे दें। उन्होंने कहा कि सभी कार्मिक व अधिकारी समन्वय के साथ कार्य करते हुए मतदान प्रक्रिया को पूर्ण करें। इस अवसर पर चुनाव पर्यवेक्षक पाटिल यलागौडा शिवनगौडा ने कहा कि मतदान केन्द्रों पर सभी व्यवस्थाए की गई है। Bikaner News

मैंने स्वयं खाजूवाला विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के करीब 20 से अधिक मतदान केन्द्रोें का निरीक्षण किया है। उन्होंने मतदान कार्मिकांे को आश्वस्त किया कि उन्हें मतदान केन्द्र पर आधारभूत सुविधाएं सुलभ होगी। प्रशिक्षण प्रकोष्ठ के प्रभारी डाॅ.राकेश शर्मा,मास्टर टेªनर गौरव बिस्सा ने इवीएम तथा वीवी पेट के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने दिव्यांग मतदाताओं को मतदान कैसे करवाना है,उसके बारे में जानकारी दी। मास्टर टेªनर वाई बी.माथुर,एस.एल.राठी,विपन सैनी,हमेन्द्र सक्सेना व पवन चैयल ने मतदान प्रक्रिया में बरती जानेवाली सावधानियों के बारे में जानकारी दी।

चुनाव कार्यों का लिया फीड बैक-इससे पहले चुनाव पर्यवेक्षकों ने जिला निर्वाचन अधिकारी डाॅ.एन.के.गुप्ता के साथ जिले में विधानसभा चुनाव में की गई व्यवस्थाओं व संसाधनों पर चर्चा की। उन्होंने मतदान कार्मिकों के प्रशिक्षण,डाक मतपत्र,परिवहन व्यवस्था,मतदान दलों के अंतिम प्रशिक्षण आदि के बारे में चर्चा की।

बीकानेर की संगीत परम्परा को अक्षुण्ण बनाये रखें- व्यास “विनोद”

संगीत मनीषी डॉ.जयचन्द्र शर्मा जन्म शताब्दी वर्ष के अंतर्गत श्री संगीत भारती में बीकानेर की संगीत परम्परा पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसमें नगर की गौरवमयी स्वर परम्परा पर विस्तृत चर्चा की गयी । Bikaner News

कार्यक्रम में मुख्य वक्ता लेखक कथाकार अशफाक कादरी ने नगर की स्थापना से 531 वर्ष तक की संगीत परम्परा पर पत्र वाचन किया । कादरी ने कहा कि बीकानेर में शास्त्रीय संगीत, लोक संगीत भक्ति संगीत, हवेली संगीत सहित अनेक धाराएं प्रवाहित है, उन्होंने कहा कि बीकानेर की संगीतजीवी जातियों के साथ जनमानस ने इस परम्परा को सुदृढ किया है ।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि लोक संगीत मर्मज्ञ डॉ.श्रीलाल मोहत्ता ने कहा कि डॉ.जयचन्द्र शर्मा संगीत पुरूष थे, जिन्होंने बीकानेर के संगीत को समझने, परखने, आनन्द की नव-अनुभूति का अहसास कराया । उन्होंने कहा कि बीकानेर के गीतों में लोक कल्याण की भावना है । उन्होंने कहा कि नगर में शास्त्रीय संगीत और लोक संगीत दोनों साथ चले ।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए वरिष्ठ साहित्यकार भवानीशंकर व्यास “विनोद” ने कहा कि बीकानेर के 530 वर्षों के इतिहास में साहित्यिक ग्रंथों, साधू संतों की वाणियों, मन्दिरों के भक्ति संगीत, महिलाओं के मंगल गीतों में यहां का संगीत रचा बसा है । उन्होंने कहा कि बीकानेर के संगीत के मूल्यांकन की आवश्यकता है जिसमें उसके आनन्द की अनुभूति बेहतर ढंग से महसूस की जा सकेगी । Bikaner News

कार्यक्रम में श्री संगीत भारती के निदेशक डॉ.मुरारी शर्मा ने विषय प्रवर्तन करते हुए बताया कि संगीत के व्यवहारिक पक्ष के साथ सैद्धांतिक पक्ष को जन-जन तक पहुंचाया जाना चाहिए । उन्होंने बताया कि संगीत मनीषी डॉ.जयचन्द्र शर्मा जन्म शताब्दी वर्ष में संगीत के विभिन्न पक्षो पर सालभर कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे ।
कार्यक्रम में विशिष्ठ अतिथि गायक रफीक सागर ने लोकप्रिय गीत “सुपणै में सखी देख्यो नन्द गोपाल” सुनाकर भाव विभोर कर दिया ।

युवा गायक गौरीशंकर सोनी ने मीरा का भजन “राणाजी म्है तो सांवरे के रंग राची” सुनाकर तालियां बटोरी । संयोजन करते हुए कवि-कथाकार राजाराम स्वर्णकार ने कहा कि डॉ.जयचन्द्र शर्मा ने अपना संपूर्ण जीवन संगीत को समर्पित किया है उनके संकल्पों को जन-जन तक पहुंचाया जाएगा । सखा संगम के अध्यक्ष एन डी रंगा, चन्द्रशेखर जोशी, डॉ.ओम कुबेरा, डॉ.एम.एल.व्यास ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट किया । कार्यक्रम में फिल्मकार मंजूर अली चन्दवानी, मोहनलाल मारू, इश्तियाक खान ने भी विचार रखे । समाजसेवी आर.के.शर्मा ने धन्यवाद ज्ञापित किया ।

1113 ने पिया डेंगू-मलेरिया-स्वाइन फ्लू प्रतिरोधी काढ़ा – Bikaner News

स्वास्थ्य विभाग के 3 आयुष दलों ने अलग-अलग स्थानों पर शिविर लगाकर कुल 1,113 व्यक्तियों को डेंगू-मलेरिया-स्वाइन फ्लू के प्रति रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला आयुर्वेदिक काढ़ा पिलाया।

प्रथम आयुष चिकित्सकों के दल में शामिल डॉ. विवेक गोस्वामी, डॉ.संध्या शर्मा, फार्मासिस्ट पवन सारस्वत व एएनएम शोभारानी ने बंगलानगर में शिविर लगाकर 385 व्यक्तियों को, डॉ. सुषमा बुडानिया, डॉ. नरेंद्र, तनुज शर्मा व ललिता मीणा के दल ने सुजानदेसर में 290 व्यक्तियों को तथा डॉ. गजेन्द्र सिंह, डॉ. सुनील मीणा व श्री नेमीचंद द्वारा पाबू बारी में नीम-गिलोय व अन्य औषधियों से काढ़ा तैयार कर आम जन में वितरण किया गया। Bikaner News

सीएमएचओ डॉ. बी.एल. मीणा ने बताया कि ये काढ़ा वितरण आगामी दिनों भी विभिन्न स्थानों पर आवशयकतानुसार जारी रहेगा। अभियान के संचालन में शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रो के प्रभारियों, सलाहकार नेहा शेखावत व डॉ. मनुश्री सिंह का सहयोग रहा।