Jaipur Rajasthan Slider

चुनाव जीतने के लिए भाजपा सारे हथकण्डे अपना रही : सीएम गहलोत

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज एक बार फिर मीडिया से मुखातिब होते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा पर जमकर हमले बोले। थानागाजी मामले में भी गहलोत ने कहा कि पीएम मोदी बिना जानकारी के चुनावी हथकण्डे के तौर पर इस घटना का इस्तेमाल करना चाहते हैं जबकि हमारी सरकार इस गंभीर मामले पर पीडि़ता को न्याय दिलाने और आरापियों पर सख्त कार्रवाई की दिशा में काम कर रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि जब वे गुजरात में थे वहां भाजपा सरकार बमुश्किल से बच पाई। इसलिए मोदी और शाह उनसे बदला लेने के लिए लगातार व्यक्तिगत हमले कर रहे हैं।

जोधपुर, उदयपुर, मध्यप्रदेश, कुशीनगर…जहां भी प्रधानमंत्री जाते हैं मुझे व्यक्तिगत निशाने पर लेकर बदले की भावना से मेरे बार में टिप्पणी करने से नहीं चूकते। गहलोत ने कहा कि कांग्रेस की राज्य सरकारें हमेशा से ही महिलाओं पर अत्याचार के प्रति गंभीर रही हैं और ऐसी घटनाएं न हों इसके लिए विशेष प्रावधान किए हैं जो देश में पहली बार हुए हैं। एसपी ऑफिस में एफआईआर का निर्णय देश में पहली बार हुआ है। गहलोत ने कहा कि चुनाव जीतेन के लिए भाजपा सारे हथकण्डे अपना रही है। आजादी के बाद ऐसा पहली बार हुआ कि चुनाव आयोग, न्यायपालिका, आयकर, सीबीआई, ईडी सभी का दुरुपयोग हो रहा है।

सरकारी मीडिया, दूरदर्शन, रेडियो, यहां तक की नमो टीवी मोदी का एकतरफा महिमा मंडन कर रहे हैं। मीडिया से मालूम हुआ कि थानागाजी मामले में भी भाजपा के पूर्व मंत्री हेमसिंह भड़ाना सौदेबाजी कर रहे हैं। वहीं पीएम केस को दबाने का आरोप राज्य सरकार पर लगा रहे हैं। बहुत दुखद इस घटना पर सियासत नहीं होनी चाहिए। इस दुर्दांत घटना से चुनावी लाभ लेने के प्रयास भी निंदनीय हैं। गहलोत बोले की हमेशा इस बात की शिकायत होती है कि थानों में केस दर्ज नहीं होते और फरियादी के साथ अच्छा व्यवहार भी नहीं होता। थानों में बेहतर व्यवहार हो इसके लिए अब सीसीटीवी कैमरों की भी मदद ली जाएगी। खुद मैं राज्य के मुख्य सचिव, डीजीपी और एसीएस होम के साथ बैठक कर ही चार महीने में प्रत्येक थाने की समीक्षा करके और संबंधित को रिवार्ड या सजा देना तय करेंगे। सभी आईजी और पुलिस अधीक्षकों को अधिकार होगा कि वो अपने मातहत अधिकारियों द्वारा लापरवाही व अनुशासनहीनता करने, अपराधियों के साथ हमदर्दी रखने, मिलीभगत करने वालों की गोपनीय रिपोर्ट भेजेंगे। पुलसि महानिरीक्षकों के नेतृत्व में डिकॉर्ड ऑपरेशन भी करवाए जाएंगे।
डिप्टी एसपी महिला सुरक्षा का पद सृजित किया जाएगा उन्होंने कहा कि सभी जिलों में महिलाओं के विरुद्ध होने वाले अत्याचारों को रोकने के लिए डिप्टी एसपी महिला सुरक्षा का पद सृजित किया जाएगा। केस ऑफिसर स्कीम के माध्यम से कार्रवाई की जाएगी। एसएचओ द्वारा केस दर्ज नहीं करने पर सीधे एसपी ऑफिस में एफआईआर दर्ज की जा सकेगी।

गहलोत ने कि पीएम मोदी प्रदेश को बयानबाजी कर रहे हैं वो तर्कसंगत नहीं। प्रदेश में पिछले भाजपा शासन में महिला अत्याचार, नाबालिग बालिकाओं से बलात्कार की बाढ़ आई हुई थी। जबकि हमारी सरकार बनते ही हमने कठोर कार्रवाई के प्रावधान किए हैं। गहलोत ने आंकडे पेश करते हुए कहा कि वर्ष 2017 में दुष्कर्म के 3305 मामले दर्ज हुए जो बढ़कर 2018 में 4335 हो गए। इसका मतलब है 2017 में प्रतिदिन 9 बलात्कार और 2018 में बढ़कर 12 घटनाएं हुई। गहलोत ने वैशालीनगर, चित्रकूट व चित्तोड की बलातकार घटनाओं का हवाला देकर भाजपा के कुशासन पर हमले किए। पानी की किल्लत पर गहलोत ने कहा कि सरकार के स्तर पर हर संभव प्रयास हो रहे हैं। जनता को भी पानी की कीमत पहचानते हुए अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी।