Bikaner Slider

समूह के साथ काम करने से व्यक्तित्व का निर्माण : डॉ. मुरारी शर्मा 

समूह के साथ काम करने से व्यक्तित्व का निर्माण : डॉ. मुरारी शर्मा 

बीकानेर । समूह के साथ काम करने से व्यक्तित्व का निर्माण होता है। यह विचार डॉ. मुरारी शर्मा ने आज करुणा इन्टरनेशल बीकानेर द्वारा हंसा गेस्ट हाउस में बीकानेर केन्द्र स्तरीय समूह गायन प्रतियोगिता में व्यक्त किये। इस अवसर पर जैन लूणकरण छाजेड़ ने कहा कि पुरस्कार प्राप्त करने से दिल खुश होता है, परन्तु विजेता न होने पर चिन्ता नहीं चिन्तन करना चाहिए तथा कठिन मेहनत करके आगामी प्रतियोगिता के लिए अपने आपको तैयार करना चाहिए। प्रतियोगिता में विद्यार्थियों ने अहिंसा, पर्यावरण, शाकाहार, नैतिक संस्कार एवं देशप्रेम से सम्बन्धित भावों कें समधुर गीत प्रस्तुत किये। विद्यार्थियों ने “छोड़ो कल की बातें….,ऐ मेरे वतन के लोगों.., हम को मन की शक्ति देना.., तू प्यार का सागर है..’ हर देश में तू – हर देश में तू…, जिनको है बेटियां……, आवाज दे कहा हैं….., तोरा मन दर्पण कहलाएं……  आदि भावपूर्ण गीतों से सबका मन मोह लिया।

करूणा इंन्टरनेशनल बीकानेर केन्द्र के मंत्री सतीष पोपली ने बताया कि प्रतियोगिता का शुभारम्भ डॉ.पी.सी.तातेड़, जैन लूणकरण छाजेड़, डॉ. मुरारी शर्मा ने विद्या की देवी सरस्वती की मूर्ति पर माल्यार्पण करते हुए दीप प्रज्ज्वलन से किया। कार्यक्रम के प्रारम्भ में श्री पूर्णेष्वर ज्ञान मन्दिर के विद्यार्थियों ने करुणा प्रार्थन का संगान किया। प्रतियोगिता के निर्णायक डॉ. मुरारी शर्मा, श्रीमती राजकुमारी मारू व गौरीषंकर सोनी थे। कार्यक्रम के प्रारम्भ में जतनलाल दूगड़ ने प्रतियोगिता के नियमों की जानकारी दी। दूगड़ ने करुणा गतिविधियों की जानकारी दी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि हंसराज डागा थे। समूह गायन प्रतियोगिता में तेरापंथ धर्मसंघ की बहुश्रुत साध्वीश्री कनकश्री ने अपने मंगल उद्बोधन में कहा कि बच्चों की प्रतिभाओं को पल्लवित करने में प्रतियोगिताऐं अहम् भूमिका अदा करती है। साध्वीश्री ने कहा कि बचपन में अच्छे संस्कार आने से बच्चे बड़े होकर इच्छे इन्सान बनते है। साध्वीश्री ने कहा कि करूणा की भावना का विकास घर से शुरू करें। प्रत्येक व्यक्ति के प्रति इंसानियत का व्यवहार हो। राजस्थान पत्रिका के हेम शर्मा ने कहा कि संगीत से मन स्वस्थ होता है। उन्होंने विद्यार्थीयों को स्वच्छ भारत अभियान को सफल बनाने में सक्रिय भूमिका अदा करें। सूरजाराम पुरोहित, सतीष पोपली व घनष्याम साध ने निर्णायकों का पताका पहना कर व स्मृति चिन्ह भेंट कर स्वागत किया। विजेता रही स्कूलों को विजेता राषि का चैक व सभी प्रतिभागी स्कूलों को प्रतिभागिता पुरस्कार की राशि के चैक मुख्य अतिथि हंसराज डागा व नालन्दा पब्लिक स्कूल के राजेश रंगा के कर कमलों से प्रदान किये गये।

वरिष्ठ वर्ग में समूह गायन प्रतियोगिता में श्री जैन पब्लिक स्कूल के समूह ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। नालन्दा पब्लिक सी.सै.स्कूल, बीकानेर ने द्वितीय व श्री सेन्ट खेतेष्वर एज्यूकेषन सोषायटी व हीरालाल सौभागमल रामपुरिया उ.मा.विद्यालय संयुक्तरूप से तृतीय स्थान पर रहे। महाविद्यालय स्तर के वर्ग में स्वामी विवकानन्द बी.एड.कॉलेज को प्रथम पुरस्कार मिला व रावतमल बोथरा बालिका महाविद्यालय द्वितीय ग्रुप को द्वितीय पुरस्कार मिला व रावतमल बोथरा बालिका महाविद्यालय तृतीय पुरस्कार मिला। कनिष्ठ वर्ग में समूह गायन प्रतियोगिता में नालन्दा पब्लिक स्कूल के समूह ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। शान्ति विद्यानिकेतन ने द्वितीय व शान्ति भण्डारी बुलबुल ने तृतीय स्थान पर रहे।

करुणा इन्टरनेशनल के एज्यूकेशन ऑफिसर घनश्याम स्वामी, प्रभारी ताराचन्द बोथरा, प्रभु गहलोत, विनीत बोथरा आदि ने रजिस्ट्रेषन में सहयोग किया। कार्यक्रम के समापन से पूर्व मंत्री सतीष पोपली ने सभी अतिथीगणों, कार्यकर्ताओं, अध्यापकगणों, विद्यार्थियों व हंसा गेस्ट हाउस में सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए व्यवस्थापकों व कर्मचारियों का आभार व्यक्त किया।