Bikaner Rajasthan Slider

गम-गुस्से से भरी कुंभ की शाम, संगम पर गंगा आरती शहीदों के नाम

संगम से कुंभ मेला में संतों-भक्तों, कल्पवासियों के शिविरों तक पुलवामा आतंकी हमले को लेकर शुक्रवार को चौतरफा गम-गुस्सा छाया रहा। संतों ने यज्ञ कुंडों में शहीदों के नाम आहुतियां दीं। शहीदों की आत्मा की शांति और उनके आश्रितों को दुख सहन करने की शक्ति-संबल देने की कामना से जप, तप, ध्यान का सिलसिला चला। संगम तट पर गंगा आरती पुलमावा के शहीदों को समर्पित कर दी गई।

पुरोहितों-बटुकों ने मौन रखकर शहीदों को नमन किया। संगम पर कैंडिल जलाकर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। संगम महाआरती समिति की ओर से सेक्टर-चार स्थित जगदीश रैंप के पास हुई गंगा आरती शुक्रवार की शाम पुलवामा के शहीदों को समर्पित कर दी गई। पुरोहितों के साथ सैकड़ों श्रद्धालुओं ने इस आरती में शहीदों की आत्मा की शांति के लिए गंगा, यमुना, विलुप्त सरस्वती से प्रार्थना की। इस दौरान हर किसी की आखें नम थीं। 21 बटुकों ने सविधि आरती उतारी। पंच आचार्य दीपू मिश्रा,पं. शुभम तिवारी और पं. गुरुदत्त तिवारी ने मंत्रोच्चार किया।

इस मौके पर आरती महासमिति के प्रदीप पांडेय, फूलचंद्र दुबे, नागेंद्र सिंह, ऋषभ, आशीष पांडेय समेत तमाम लोगों ने शहीदों को मौन होकर श्रद्धांजलि अर्पित की। इससके बाद सैकड़ों की संख्या में संतों भक्तो ने संगम पर पहुंचकर शहीदों की आत्मा की शांति के लिए कैंडिल जलाए। अमर उजाला के आह्वान पर शुक्रवार की शाम कुंभ क्षेत्र में एनसीसी कैडेट्स के अलावा अफसरों, जवानों ने पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

संतों -भक्तों ने जगह-जगह अनुष्ठान किया। शहीदों के लिए कुंभ में यज्ञ करा रहे स्वामी बालकेश्वरानंद ने भी पुलवामा के शहीदों की याद में हवन कुंड में आहुतियां डालीं। इस शांति यज्ञ में सैकड़ों संतों-भक्तों ने हिस्सा लिया। सेक्टर-12 स्थित रामानुजाचार्य चरित्र वन बक्स बिहार के जीयर स्वामी के यज्ञ मंडप में भी पुलवामा आतंकी हमले का गम छाया रहा। यहां मौजूद हजारों की तादाद में पुरोहितों, संतों और श्रद्धालुओं ने शहीदों की आत्मा की शांति के लिए यज्ञ मंडप में आहुति दी और जप किया। जीयर स्वामी मंत्रोच्चार कर रहे थे।


उन्होंने कहा कि तीर्थराज प्रयाग के कुंभ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ ने पूरे विश्व को शांति का संदेश देने की पहल की है, लेकिन इस बीच पुलवामा की घटना ने पूरे देश को दहला कर रख दिया है। उन्होंने कहा कि यह समय चुप बैठने का नहीं है। सेक्टर-15 स्थित भक्ति वेदांत नगर में द्वाराचार्य डॉ. राम कमल दास वेदांती महाराज के शिविर में कथा से पहले पुलवामा के शहीदों को नमन किया गया। अमेरिका से आई प्रेममई साईं मां के शिविर में भी देश-दुनिया से पहुंचे संतों-भक्तों ने पुलवामा आतंकी घटना में शहीद हुए जवानों को नमन किया।

प्रखर जी महाराज के शिविर में भी आतंकी हमले को लेकर श्रद्धांजलि सभा की गई। बीएचयू के महामना मदन मोहन मालवीय अनुशीलन केंद्र में चिकित्सा अधीक्षक प्रो. वीएन मिश्र की मौजूदगी में शहीदों को नमन किया गया। सरस्वती घाट पर एनसीसी कैडेट्स ने अमर उजाला के साथ श्रद्धांजलि अर्पित की। यहां एडीजी मेजल जनरल अरुण कुमार शंकर, कमांडेंट ब्रजेश पांडेय के अलावा दस से अधिक एनसीसी की बटालियनों के अफसरों ने शहीदों को संगम तट पर श्रद्धांजलि अर्पित की।