howdy-modi-houton-event
International

HOWDY MODI : 50,000 लोगों ने रजिस्ट्रेशन करवाया रजिस्ट्रेशन

OmExpress News / New Delhi / अमेरिका के ह्यूस्टन में आगामी 22 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक कार्यक्रम होने जा रहा है जिसमें प्रधानमंत्री मोदी करीब 50 हजार लोगों को संबोधित करेंगे। इस कार्यक्रम में अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप भी शामिल होंगे। Howdy Modi नाम से आयोजित किए जा रहे इस कार्यक्रम के लिए अब कुल 50, 000 लोगों ने रजिस्ट्रेशन करवा लिया है जबकि 10000 लोग वेटिंग लिस्ट है। Howdy Modi Houston

दरअसल, ह्यूस्टन शहर में आयोजित हाउडी मोदी कार्यक्रम को पोप के बाद अब तक का दूसरा सबसे बड़ा आयोजन कहा जा रहा है। टेक्सास राज्य का सबसे बड़े शहर ह्यूस्टन में आयोजित इस कार्यक्रम में पाकिस्तानी समर्थक और प्रदर्शनकारियों के भी पहुंचने की आशंका जताई जा रही है, जो वहां जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ नारेबाजी और हंगामा कर सकते हैं।

पाकिस्तानी नागरिकों द्वारा धरना प्रदर्शन की आशंका – Howdy Modi Houston

इनपुट के मुताबिक कार्यक्रम में काफी संख्या में पाकिस्तानी समर्थकों के पहुंचने की उम्मीद है, जिसके 25 से अधिक ह्यूस्टश शहर पहुंचने के लिए बुक कराई गई हैं। रिपोर्ट की मानें तो पाकिस्तानी समर्थक कार्यक्रम स्थल की तरफ जाने वालों रास्तों और स्टेडियम के बाहर धरना-प्रदर्शन और हंगामा करके दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचने की कोशिश कर सकते हैं। Howdy Modi Houston

इवेंट के आसपास धरना-प्रदर्शन और नारेबाजी के जरिए पाकिस्तानी समर्थकों की कोशिश है कि वो हंगामे की तस्वीरें पाकिस्तान भेजकर पाकिस्तानी मीडिया और पाकिस्तानी आलाकमान की फस्ट्रेन खत्म करना चाहते हैं, क्योंकि इवेंट में प्रधानमंत्री मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की एम मंच पर संभावित जुगलबंदी देख संभव हैं कि पाकिस्तानी एक बार जरूर अवसाद में आ जाएंगे।

synthesis bikaner

अमेरिका में पूर्व पाकिस्तानी राजदूत हुसैन हक्कानी ने भी हाउडी मोदी कार्यक्रम में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के शिरकत को पाकिस्तान के लिए एक झटका करार दिया है। उन्होंने कहा कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिकी राष्ट्रपित ट्रंप के अच्छे दोस्त हैं और जो लोग यह सोच रहे थे कि पाक पीएम इमरान खान का अमेरिका दौरा काफी शानदार था, उनके लिए हाउडी मोदी एक झटका साबित होगा।

दरअसस, अमेरिका और पाकिस्तानी द्वारा आयोजित एक संयुक्त प्रेस कांफ्रेस में राष्ट्रपति ट्रंप ने पाकिस्तान को खुश करने के लिए पहली दफा जम्मू-कश्मीर पर मध्यस्थता करने की पेशकश की थी, लेकिन अब जब ट्रंप प्रधानमंत्री मोदी के साथ ह्यूस्टन में आयोजित इवेंट में शामिल होने जा रहे हैं तो पाकिस्तान को उसकी हैसियत का भी पता चल गया है और रही सही हेकड़ी भी निकल गई है।

चीन ने नहीं की कश्मीर मुद्दे पर कोई बात

बुधवार को ही पाकिस्तान को एक और तगड़ा झटका लगा जब चीनी अफसरों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच होने वाले आगामी अनौपचारिक बैठक में कश्मीर मुद्दे पर चर्चा नहीं करने की बात कही।

चीनी अफसरों ने कश्मीर मुद्दे को मालूम हो कि पाकिस्तान के करीबी चीन ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद मामला संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग में उठाने में पाकिस्तान की मदद की थी, लेकिन किसी और देश द्वारा मामले पर समर्थन नहीं करने से महाशक्ति चीन को अंतर्राष्ट्रीय स्तर बड़ी फजीहत का सामना करना पड़ा था। Howdy Modi Houston

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने बोला हमला

उधर, ह्यूस्टन में आयोजित होने जा रहे Howdy Modi इवेंट पर कांग्रेस ने हमला किया है। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने अमेरिका में प्रस्तावित प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम को दिखावा करार दिया है। उन्होंने कहा कि अगर यह इवेंट बाहर न होकर भारत के किसी गांव में होता तो लोग अपनी समस्याएं प्रधानमंत्री को बता सकते थे। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को सलाह देते हुए कहा कि उन्हें देश के ग्रामीण इलाकों में जाना चाहिए और ऐसे इवेंट का आयोजन वहां करने चाहिए, ताकि लोग अपने दुख और दर्द उनसे साझा कर पाएं।

garden city bikaner

दो देशों के बीच द्विपक्षीय मामला करार देते हुए कि दोनों देशों के आगामी बैठक में दोनों नेताओं के बीच कश्मीर मुद्दे पर कोई चर्चा नहीं होगी।

गौरतलब है ह्यूस्टन शहर अमेरिका के टेक्सास राज्य का सबसे बड़ा शहर है, जो एनर्जी ख़ास कर तेल और गैस कंपनियों का दुनिया का सबसे बड़ा हब माना जाता है। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी भारत में तेल खनन की संभावना को लेकर ह्यूस्टन शहर की बड़ी कंपनियों के साथ बैठक कर सकते हैं। Howdy Modi Houston