vasundhra-tokyo
International Jaipur Rajasthan Slider

जापानी कंपनियां राजस्थान में करेंगी और अधिक निवेश

 

vasundhra-tokyo
जापानी कंपनियां राजस्थान में करेंगी और अधिक निवेश

टोक्यो। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने  जापान के प्रधानमंत्री श्री शिंजो एबे के साथ टोक्यो में मुलाकात की। श्री एबे ने श्रीमती राजे का स्वागत किया और कहा कि जापान सरकार और यहां के निवेशक राजस्थान में निवेश के माहौल में सुधार देख रहे हैं। निवेश के लिए राजस्थान बेहतर प्रदेश बन रहा है।

 

श्री एबे ने भारत और जापान के बीच संबंधों को मजबूत बनाने की दिषा में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के प्रयासों की भी सराहना की और कहा कि जापानी कंपनियां राजस्थान में और अधिक निवेश करेंगी।

 

मुख्यमंत्री ने श्री एबे को राजस्थान में निवेश के लिए अनुकूल माहौल बनाने के लिए की गई पहल की जानकारी देते हुए उन्हें नीमराना क्षेत्र में हुए विकास से अवगत कराया। नीमराना में देष का पहला विषेष जापानी औद्योगिक क्षेत्र है, जिसमें 200 से अधिक जापानी काम करते हैं। श्रीमती राजे ने जापान के प्रधानमंत्री को भारत और राजस्थान की यात्रा करने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने नवम्बर माह में आयोजित होने वाले रिसर्जेंट राजस्थान पार्टनरशिप समिट के लिए जापान से पार्टनर बनने का अनुरोध भी किया। इस दौरान जापान में भारत की राजदूत श्रीमती दीपा गोपालन वाधवा और राजस्थान के मुख्य सचिव श्री सीएस राजन भी मौजूद थे।

 

मुख्यमंत्री ने जापान के आर्थिक, व्यापार और उद्योग (एमईटीआई) मंत्री श्री योइची मियाजावा से मुलाकात कर जापान और राजस्थान के बीच आर्थिक संबंधों को उच्च स्तर तक ले जाने पर चर्चा की। प्रदेश में निवेष को बढ़ावा देने के लिए एमईटीआई के साथ एक एमओयू पर हस्ताक्षर किये गये।

 

श्रीमती राजे ने जापान बैंक फाॅर इंटरनेषनल कोआॅपरेषन (जेबीआईसी) के प्रमुख श्री हिरोशी वातानाबे से भी मुलाकात की। इस बैठक में जेबीआईसी ने राज्य की जल परियोजनाओं में रुचि दिखाई। श्री वातानाबे ने कहा कि जापानी कंपनियों के बीच किये गये एक अध्ययन में भारत पहली बार इन्वेस्टमेंट डेस्टीनेषन के तौर पर प्रथम स्थान पर रहा है।

 

जापान एक्सटर्नल ट्रेड आॅर्गेनाइजेषन (जेट्रो) के चेयरमेन श्री हिरोयुकी इषिगे के साथ मुलाकात में मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य का जेट्रो के साथ काफी अच्छा अनुभव रहा है। श्री इशिगे ने मुख्यमंत्री को विश्वास दिलाया कि जापानी कॉर्पोरेट्स को राजस्थान में निवेष करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

 

मुख्यमंत्री ने जापान इंटरनेषनल कोआॅपरेषन एजेंसी (जाइका) के प्रेसीडेंट श्री हिदेकी दोमिची से भी मुलाकात की। श्रीमती राजे ने कहा कि वुमन सेनिटेषन, झील पुनर्वास एवं संरक्षण और नहरी क्षेत्रों में जल जमाव के क्षेत्र में जाइका राज्य की मदद कर सकता है। उन्होंने जयपुर मेट्रो के द्वितीय चरण में तथा छोटी व मध्यम स्तर की सिंचाई परियोजनाओं में भागीदारी पर भी चर्चा की।

 

श्रीमती राजे की उपस्थिति में जापान की विभिन्न एजेंसियों के साथ एमओयू पर भी हस्ताक्षर किये गये। ह्यूमन रिसोर्स एंड इंडस्ट्री डवलपमेंट एसोसिएषन के साथ कैपेसिटी बिल्डिंग के क्षेत्र में, हीरोहामा समूह के साथ नीमराणा और अमृता ब्रांडिंग के साथ घिलोठ में प्लग एवं प्ले प्रोजेक्ट स्थापित करने के लिए एमओयू हुए।

 

मुख्यमंत्री ने सोजिट्स काॅरपोरेशन के वरिष्ठ प्रबंधकों और जापान के वाणिज्य और उद्योग चैम्बर, केइडंरेन के वाइस चेयरमैन और हिताची लिमिटेड के सीईओ श्री हिरोआकी नाकानिशी से भी मुलाकात की।

 

रिसर्जेंट राजस्थान पार्टनरषिप समिट:
19-20 नवम्बर, 2015 को जयपुर में होने जा रहे रिसर्जेंट राजस्थान पार्टनरषिप समिट में दुनिया भर के प्रमुख निवेशक, नीति निर्माता, राजनेता, अधिकारी, व्यापार जगत के लीडर्स हिस्सा लेंगे। राज्य में निवेश आकर्षित करने के लिए इस दौरान थिमेटिक सेमिनार, कन्वेंषन, पैनल डिस्कषन, डिस्कषन फोरम, बी2बी व बी2जी मीटिंग्स, एग्जीबिषन पैवेलियन एवं अन्य नेटवर्किंग कार्यक्रम होंगे।