National Slider

माँ स्वर वंदना से तुझे रिझाये…

राजस्थानी कला परिवार ने प्रस्तुत किया गणगौर के गीतों का कार्यक्रम

कोलकाता. राजस्थानी कला परिवार ने रविवार को गणगौर गीतों के ख़ास कार्यक्रम ‘माँ स्वर वंदनाÓ को प्रिटोरिया स्ट्रीट स्थित ज्ञानमंच प्रेक्षागृह में प्रस्तुत किया. विभिन्न गणगौर मंडलियों द्वारा माँ की महिमा गुणगान में रचे और स्वरबद्ध किये गये गीतों को इस कार्यक्रम में समाज के ही कलाकारों ने कर्णप्रिय अंदाज़ में प्रस्तुत किया.

समारोह में सम्मानित अतिथि के रुप में उपस्थित समाजसेवी कमल गांधी, अमित मोदी, श्रीमती पुष्पा मूंधड़ा, विजय गुजरवासिया, गिरिराज किशोर झंवर, रविन्द्र राय व डॉ. रविप्रभा बर्मन ने आयोजन की सराहना करते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रम हमें हमारी संस्कृति और विरासत से जोड़ते है. हमें हमारी गौरवशाली संस्कृति से अवगत होने का एक महत्वपूर्ण अवसर ऐसे आयोजनों के माध्यम से मिलता है. सबसे बड़ी बात यह है कि ऐसे संस्कृति मूलक कार्यक्रमों के आयोजन में समाज के युवा महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है.

कार्यक्रम के अंतर्गत प्रेक्षागृह में लगाई गई एलइडी टीवी पर गणगौर पर्व की विशेषताओं, गीतों के रचनाकारों, गायन मंडलियों की प्रस्तुति के स्वरूप को देख उपस्थित राजस्थानी कला प्रेमी मंत्र मुग्ध हुए बिना नहीं रह सके. सभी ने मुक्त कंठ से आयोजन के साथ आयोजकों के प्रयासों को सराहा.अध्यक्ष दाऊलाल बिन्नानी ने उपस्थित समाज जनों का स्वागत किया. संयोजक चंद्रु दम्मानी , सुधीर हर्ष ने सफल आयोजन के लिये सभी का आभार जताया. संचालन मंत्री विशाल पचीसिया ने किया.