rohtak hindi news 27 april 2019
Rohtak Slider

रोहतक सार समाचार : सोमवार, 27 अप्रैल 2019

सैनिक कैंटीन देव कालोनी में बुजुर्ग पूर्व सैनिकों एवं सैनिकों की विधवाओं को करना पड़ रहा है परेशानियों का सामना

OmExpress News / हर्षित सैनी / रोहतक / पूर्व कैप्टन जगवीर मलिक ने बताया कि वे सीएसडी कैंटीन में 27 मई को सुबह कुछ घरेलू सामान लेने गए, लेकिन भारी भीड़ को देखकर वापिस लौट आए। शाम को 3:45 बजे भी कैंटीन पर भारी भीड़ व अफरा-तफरी थी। Rohtak Hindi News

अंदर स्टोर में जाने वाले गेट पर बुजुर्ग विधवाएं एवं बुजुर्ग पूर्व सैनिक की अंदर जाने के लिए काफी धक्का-मुक्की हो रही थी। इस बीच गेट खुला तो महिलाओं की अलग लाइन होने के बाद भी इंट्री गेट पर पुरुष भी भारी संख्या में अंदर घुसने के प्रयास में महिलाओं से धक्का-मुक्की कर रहे थे।
इसी बीच अचानक गेट बंद कर दिया तो एक बुजुर्ग महिला का गेट में हाथ दब गया। हाथ चोटिल होने पर वह चिल्लाई तब गेट खुला।

यह समस्या एन.सी.सी. कैंटीन पूर्व सैनिकों के लिए बंद होने पर पैदा हुई। रोहतक जिले में लगभग 25 हजार पूर्व सैनिक व उनके आश्रित कैंटीन सुविधा के इस कैंटीन पर निर्भर है। जगह कम है, अंदर कम्प्यूटर भी कम हैं। जिसके कारण अंदर भी असुविधा का सामना करना पड़ता है।

वर्ष 2018 में जयपुर कमांड से आए अधिकारियों को भी इस समस्या के बारे में रिपोर्ट की गई थी। वहीं प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री, सेनाध्यक्ष व हरियाणा के मुख्यमंत्री से पत्र व्यवहार किया है लेकिन अभी तक इस पर कोई अमल नहीं हुआ है। फिलहाल लगता भी नहीं कि पूर्व सैनिकों की कोई सुध लेगा।

मुख्यमंत्री के सैन्य सलाह का जनरल के.जे. सिंह को भी लिखित में इस समस्या के विषय में प्वाइंट दिया था। रोहतक में पूर्व सैनिकों के दो कैंटीन का होना आवश्यक है या फिर इस कैंटीन को किसी बहुत बिल्डिंग में अधिक कम्प्यूटरों के साथ रखा जाए।  Rohtak Hindi News

OmExpress's 5th Anniversary

ड्राईग कॉम्पिटिशन, रैली व नुक्कड़ नाटकों से जातिवाद पर किया प्रहार

अनूप कुमार सैनी /  कभी जातीय हिंसा के कारण पूरे देश में चर्चा में रहे राजा रोहताश की नगरी रोहतक की फिजा सोमवार को बदली-बदली नजर आई। सामाजिक संस्था राह ग्रुप फाउंडेशन की ओर से सामाजिक सद्भाव जागरुता अभियान के तहत जिले के विभिन्न क्षेत्रों में स्थित 30 स्कूलों में आयोजित सामाजिक सौहार्द की शपथ के शब्दों से आबोहवा में मिठास घोल दी। इस शपथ ग्रहण व दूसरे कार्यक्रमों में 21600 विद्यार्थियों ने शपथ ली। Rohtak Hindi News

स्कूल वार हुए इन कार्यक्रमों का आगाज केश कलां एवं कौशल विकास बोर्ड के निदेशक नरेश सेलपाड़ गांव घिलौड़ कलां स्थित स्मृति पब्लिक स्कूल व गोकर्ण रोड स्थित एस.डी. हाई स्कूल से अलग=अलग कार्यक्रमों से किया। यह जानकारी देते हुए राह ग्रुप के रोहतक रेंज के तकनीकी सलाहकार प्रवीन कुमार गुप्ता व सुशील गोयल ने बताया कि सामाजिक सौहार्द जागरुकता अभियान के तहत सोमवार को मस्कॅट स्कूल ऑफ एक्सीलेंस करौंथा, मॉडल स्कूल सांपला, एच.डी. पब्लिक स्कूल बहु अकबरपुर, श्याम मॉडल स्कूल इंदिरा कॉलोनी रोहतक, घिलौड़ कलां

स्थित स्मृति पब्लिक स्कूल, गोकर्ण रोड स्थित एस.डी. हाई स्कूल, सर्व विद्या पब्लिक स्कूल जींद रोड़ रोहतक, पठानिया पब्लिक स्कूल गोहाना रोड़ रोहतक, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय पहरावर, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय करौथा, संस्कार भारती पब्लिक स्कूल रोहतक, जागृति हाई स्कूल लक्ष्मणपुरी कॉलोनी रोहतक, महेश भारती सीनियर सकेेंडरी स्कूल कैम्प रोहतक, नवयुग हाई स्कूल नेहरु कॉलोनी रोहतक, एच.डी. पब्लिक स्कूल महम, डीएवी पब्लिक स्कूल कलानौर, नवजोत पब्लिक स्कूल काहनी, आरोही स्कूलों व जवाहर नवोदय विद्यालय में भाईचारे व सामुदायिक सद्भाव की शपथ दिलवाई गई।

प्रत्येक माध्यम से जात-पात पर प्रहार

राह संस्था के सामाजिक जागरुकता अभियान के तहत ड्राईग पेंटिंग कॉम्पिटिशन, भाषण प्रतियोगिता व नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से विद्यार्थियों ने जात-पात पर जमकर प्रहार किया। इस दौरान विद्यार्थियों ने विभिन्न माध्यमों से दर्शाया कि वे किसी भी स्थिति में भाईचारा बिगाडऩे वालों के बहकावे में नहीं आएंगे। ये सभी प्रतियोगिताएं कक्षा छह से दस तक जूनियर वर्ग व 11वीं व 12वीं कक्षाओं को सीनियर वर्ग में आयोजित की गई।

जागरुकता रैली निकाल दिया संदेश

OmExpress News

राह संस्था के इस सामाजिक सद्भावना जागरुकता अभियान के तहत विभिन्न स्कूलों में विद्यार्थियों ने जागरुकता रैली भी निकाली गई। इंसानियत ही धर्म हो मनुष्य का मर्म हो, मिला सको तो दिल मिलाओ जातिवाद को भूल जाओ, हर आदमी की एक ही जाति मानव जाति-मानव जाति, सभी का लहूं का रग एक तो फिर जाति कैसे अलग, मानवता का मर्म हो, मानवता ही धर्म हो आदि स्लोगन हाथ में लिए विद्यार्थियों ने जागरुकता रैली जात-पात से दूर आपस में मिलकर रहने के लिए प्रेरित किया। Rohtak Hindi News