Bikaner Rajasthan Slider

अभी आठवां फेरा बाकी है

उत्तर प्रदेश आगरा।(सविता उपाध्याय) सात फेरे, सात वचन की बात सदियों से कही और सुनी जाती रही म पीढ़ी के कुछ लोग शादी में आठवां फेरा भी ले रहे हैं। उत्तर प्रदेश के कई गांव में देखने को मिल रहा है प्राप्त जानकारी के अनुसार अपना नाम ना छापने की सूरत में एक शादी समारोह में गए ,,,,,,,, मुस्कान व अमित की शादी में भी ऐसा ही कुछ देखने को मिला।

जब दोनों ही विवाह के बंधन में बंध रहे थो तो सात फेरों के बाद जब पंडित ने विवाह संपन्न होने के बात कही तो दूल्हा दुल्हन ने कहा विवाह अभी पूरा नहीं हुआ है और आठवां फेरा बाकी है। यह सुन एक बार तो सब चौंक गए। मगर इसके बाद जब दंपत्ती ने आठवां फेरा लेने का कारण बताया तो सब ने राहत की सांस ली। कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए जब आठवां फेरा लिया गया तो सभी ने तालियां बजाई।


ऐसे में यह शादी समाज के लिए भी यादगार और प्रेरणादायी भी बनी। लोगों ने वर-वधू को आशीर्वाद दिया। नवदंपती ने जो पहल की वह इस शादी को अन्य शादियों से अलग करती है। राज व सोनिया दोनों ने शादी में आठ फेरे लेकर भ्रूण हत्या नहीं करने की शपथ ली। नवदंपती मुस्कान व अमित कुमार ने कहा कि आज लोगों को सामाजिक बुराइयों को समाप्त करने के लिए आगे आना होगा। समाज के अंदर इस तरह के विवाह से कन्या भ्रूण हत्या रोकने में जागरूकता आएगी।लोगों ने कहा इससे पहले कुछ सेलेब्रिटी ने आठवां फेरा लिया है मगर अब आम लोग भी इस मुहिम को शुरू कर रहे हैं जो कि अपने आप में सराहनीय काम है।

अभियान को बढ़ाने के लिए संस्था ने छेड़ी मुहिम

बेटियों के प्रति समाज की सोच बदलने के लिए मेरी बेटी मेरा गौरव संस्था ने जो मुहिम छेड़ी है उसका असर होने लगा है। यह संस्था शादी में दूल्हा और दुल्हन को कन्या भ्रूण हत्या रोकने की शपथ लेकर आठवां फेरा लेने के लिए प्रेरित कर रही है। मगर कुछ युवा हैं जिन्हें इसके लिए राजी नहीं करना पड़ता बस एक बार कहना ही पड़ता है। इन्हीं में से एक है मुस्कान और अमित की जोड़ी जिन्होंने मिसाल पेश की है।(PB)