पेट्रोलियम मंत्रालय में जासूसी मामले में नया खुलासा
National Slider

पेट्रोलियम मंत्रालय में जासूसी मामले में नया खुलासा

petroleum_ministry_document_leak
पेट्रोलियम मंत्रालय में जासूसी मामले में नया खुलासा

नई दिल्ली। पेट्रोलियम मंत्रालय में जासूसी मामले में एक नया खुलासा और हुआ है। खुलासे के मुताबिक वित्त मंत्री के बजट भाषण से संबंधित दस्तावेज भी लीक किए गए हैं। एक टीवी चैनल ने अपने पास एफआईआर होने का दावा किया है। एफआईआर के मुताबिक जासूसी केवल पेट्रोलियम मंत्रालय में ही नहीं की गई, बल्कि कोयला और ऊर्जा मंत्रालय के दस्तावेज भी लीक हुए हैं।

मासिक गैस रिपोर्ट भी लीक की गई है। केंद्रीय वित्त बजट 28 फरवरी को वित्तमंत्री अरूण जेटली द्वारा संसद में पेश किया जाएगा। दो और गिरफ्तार, चार 23 तक पुलिस हिरासत में इस मामले में शुक्रवार को दो और लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें से चार आरोपियों को 23 फरवरी तक पुलिस और तीन को चौदह दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। सभी आरोपियों को शुक्रवार को पटियाला हाउस अदालत में पेश किया गया।

अदालत ने चार आरोपियों को 23 फरवरी तक के लिए पुलिस हिरासत और तीन को चौदह दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। वेब पोर्टल चलाता है पत्रकार मामले में गिरफ्तार पूर्व पत्रकार शांतनु सैकिया एक वेब पोर्टल चलाता है जबकि एक अन्य आरोपी जैन आॅस्ट्रेलिया के मेलबर्न की कंपनी में बतौर परामर्शदाता के रूप में काम करता हैं। नामी कम्पनियों के 5 अधिकारी गिरफ्तार इस मामले में दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने शुक्रवार को पांच और आरोपियों को गिरफ्तार किया है। ये सभी नामी कंपनियों के बड़े अधिकारी हैं। पकडे गए लोगों में रिलाइंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के मैनेजर (कॉर्पोरेट अफेयर्स) शैलेष सक्सेना, जुबिलंट एनर्जी के वरिष्ठ कार्यकारी अधिकारी सुभाष चंद्रा, अनिल धीरूभाई अंबानी समूह के डीजीएम ऋषि आनंद, एसार के डीजीएम विनय कुमार और केन्स के जीएम केके नायक शामिल हैं। इनकी गिरफ्तारी के साथ ही मामले में अब तक गिरफ्तार आरोपियों की तादाद 12 तक पहुंच गई है।