Bikaner Rajasthan Slider

बीकानेर पश्चिम में प्रत्याशियों ने रेलियों में दिखाई ताकत

बीकानेर। विधानसभा चुनाव में प्रचार के आखिरी दिन अधिकांश प्रत्याशियों ने अपने विधानसभा क्षेत्र में रोड़ शो के रूप में रैलियां निकालकर शक्ति प्रदर्शन किया। हार जीत के आंकड़ों के साथ ही सामने आ रहे समीकरण को लेकर चर्चाओं का बाजार भी गर्मा गया है। शाम 5 बजे के बाद भले ही प्रचार का शोर थम गया, लेकिन वार्डों में दागी व बागी की जीतहार के साथ ही राजनीतिक समीकरण बिठाने का दौर शुरू हो गया।

चुनाव प्रचार के अंतिम दिन बुधवार को कांग्रेस प्रत्याशी डॉ बी डी कल्ला व भाजपा प्रत्याशी डॉ गोपाल जोशी ने शहर के मुख्य मार्गों से वाहन रैली निकाली। खास बात यह रही कि दोनों ने एक ही स्थान और करीब एक घंटे के अन्तराल में रवाना हुए। रैली में डॉ बी डी कल्ला ने पैदल चलकर लोगों से समर्थन मांगा। जहां भाजपा की रैली में कार्यकर्ता की संख्या कम नजर आई। वहीं कांग्रेस की रैली में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता शामिल हुए। रैली के दौरान दोनों की प्रत्याशियों ने आने-जाने वाले राहगीरों सहित शहरवासियों से समर्थन मांगा।


कांग्रेस-भाजपा समर्थकों ने की हूटिंग बाहर गुवाड़ में भाजपा की रैली निकल रही थी। सड़क किनारे खड़े कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हूटिंग की। इसे देखकर चंद भाजपा कार्यकर्ता भी हूटिंग करने लगे। दोनों ने एक-दूसरे पर अपनी-अपनी पार्टी के झंडे एक-दूसरे को दिखाए। रैली निकालने के दौरान अनेक जगहों पर वाहनों की कतार लगी। जाम लगने से लोगों को आवाजाही में परेशानी हुई। हालांिक यातायात पुलिस व बाहर से आए जवानों ने यातायात व्यवस्था संभाली। रैली से पहले जैसलमेर स्थित पेट्रोल पंप पर लगी भीड़ चर्चा में रही। पेट्रोल डलवाने के लिए अन्य लोगों को परेशान होना पड़ा। वहीं दोनों ही दलों के कार्यकर्ता बाइक में पेट्रोल डलवाने के लिए जल्दबाजी में नजर आए।

भाजपा में लौटे चौधरी, कहा कांग्रेस में जाना भूल थी

बीकानेर। गत दिनों भाजपा से कांग्रेस में शामिल हुए श्रवण चौधरी ने आज बुधवार को पुन: भाजपा में वापसी कर ली है। चौधरी ने बताया कि बहकावे में कांग्रेस में शामिल हो गया लेकिन नगर विकास न्यास अध्यक्ष महावीर रांका ने समझाइश व सच का साथ देने की बात कही। चौधरी ने कहा कि मैं रांका का आभारी हंू जिन्होंने मुझे भटके हुए का मार्ग प्रशस्त कर मेरी वापसी करवाई है।


गए अकेले, आए फिफ्टी के साथ- भाजपा के आनन्द सोनी ने बताया कि कांग्रेस में केवल तीन दिन की सदस्यता के बाद जब श्रवण चौधरी ने भाजपा में वापसी की तो 50 सदस्यों के साथ आए। उन्होंने कहा कि मेरी गलती का यही खामियाजा होगा कि वापसी अकेले न करुं और इसी जज्बे के साथ चौधरी ने 50 नए सदस्यों को भाजपा में शामिल करवाया है। जिनके मुख्य नाम मोहनलाल सारण, जगराम गोदारा, हनुमान गोदारा, सोहनलाल नाई, श्रीराम पंचारिया, रामचन्द्र सियाग, गोवर्धन पंचारिया, जुगल नाई, रूपाराम बिश्नोई, धर्माराम गोदारा, गजानन्द सारण, हेतराम गोदारा, नत्थूराम नाई, खींव नाई, रामकिसन कड़वासरा, परमेश्वरलाल सोनी, जुगल नाई, जेस सिंह राजपूत, शिवलाल नाई, सहीराम गोदारा, ओमप्रकाश, रेंवतराम भांभू, हनुमान जाट, कमल पंचारिया, कैलाश, श्रवण जाट, गोपाल पंचारिया, मोहन गोदारा, प्रेम, दीपचन्द नाई, रामनिवास बिश्नोई आदि शामिल है।(PB)