-संतों का हुआ समागम एवं भंडारा महाप्रसादी

बीकानेर। जामसर। बीकानेर से 25 किलोमीटर गंगानगर रोड़ पर स्थित जामसर धोरा धाम पर श्री श्री 1008 बाबागंगाईनाथ समाधी स्थल पर बाबा गंगाईनाथजी की 39वी बरसी श्रद्धा के साथ मनाई गई। गांव जामसर में बाबा गंगाईनाथ जी ने लगभग 40 सालों तक घोर तपस्या की, उसके उपरांत वर्ष 1983 में यहां समाधि ली। इस दिन को पोष कृष्ण पक्ष की एकादशी (सफला एकादशी) के दिन बाबा की पुण्यतिथि के रुप मे प्रति वर्ष मनाया जाता है तथा विशाल भण्डारे महाप्रसादी का आयोजन किया जाता है। जिसमें पुरे देश के विभिन्न राज्यों से दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, पंजाब, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, आदि से हजारों श्रद्धालु यहाँ आकर प्रसाद ग्रहण करते हैं तथा अपनी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं। कुछ भक्त विदेशो से भी आते हैं। इस दिन लगभग सैकडो की संख्या में साधु, संत बाबा के भण्डारे महाप्रसादी में भाग लेने आते हैं, जिनको समिति की तरफ से सम्मान पूर्वक दक्षिणा व वस्त्र दिये जाते हैं। निर्वाण दिवस की पूर्व संध्या पर जागरण का आयोजन किया जाता है। निर्वाण दिवस की पूर्व संध्या पर आयोजित जागरण में समूचा माहौल भजनों और वाणियों से गूंज उठा मरूधरा के गायकों ने लोक संगीत के साथ अपने भजनों और वाणियों की प्रस्तुतिया दी। सोमवार सुबह मंत्रोच्चार के साथ बाबा गंगाईनाथ जी महाराज की समाधी स्थल पर अभिषेक एवं धार्मिक अनुष्ठान कोलायत से दीवालीनाथ कोठारी, गोगामेड़ी से भादरनाथ व खारा से पुष्करनाथ व देश प्रदेश से आये नाथ सम्प्रदाय के साधू संतो एवं भक्तजनों द्वारा सम्पन्न हुआ। इस मौके पर बाबा गंगाईनाथजी का धाम ‘संतमयी’ हो गया। बरसी के मौके पर आयोजित महाप्रसादी भंडारे में साधू संतो के बाद हजारों श्रद्धालुओं ने महाप्रसादी ग्रहण की। बाबा की बरसी के पावन अवसर पर पूर्व संसदीय सचिव विश्वनाथ मेघवाल ने भी बाबा गंगाईनाथजी समाधि स्थल पर धोक लगायी। इस अवसर पर युवाओं की टीम के साथ-साथ सेवा समिति के अध्यक्ष एडवोकेट सुरेन्द्र पाल शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार पन्नालाल नागल, कमलेश शर्मा, राकेश ओझा, रामकुमार सारस्वत, गणेश ओझा, गणेश प्रजापत, रामलाल प्रजापत, रामलाल हलवाई, श्याम बाबू शर्मा, योगेन्द्र शर्मा, कन्हैयालाल पुरोहित, कानाराम कुमावत धोलेरा, रामूराम धोलेरा, जगदीश बिष्ट, उमेश स्वामी, पदमाराम खारा, मोहन मोदी, ईश्वर प्रसाद अग्रवाल, रवि अग्रवाल, श्यामसुंदर शास्त्री, रूपाराम, करणीराम, बदलदेव, सत्यनारायण, कालूसिंह धोलेरा, जितेन्द्र, मनीष, विवेक, गणेश, मनीष, दीपू, दिनेश, महेश स्कूलों से आये स्काउटिंग के बच्चों समेत अनेक सेवादार श्रद्धालूओं की सेवादारी में जुटे रहे। निर्वाण दिवस के अवसर पर हजारों की संख्या में पहुंचे श्रद्धालुओं की भीड़ तथा वाहनों के आगमन को देखते हुए पुलिस थाना जामसर के सीआई इन्द्रकुमार सहित थाना पुलिस के स्टाफ द्वारा प्रतिवर्ष की भांति यातायात व कानून व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित किया गया।